क्रिकेट / धोनी के बारे में व्यावहारिक फैसला लेने की जरूरत, युवा खिलाड़ी अपनी बारी का इंतजार कर रहे : गंभीर



धोनी और गंभीर (फाइल)। धोनी और गंभीर (फाइल)।
X
धोनी और गंभीर (फाइल)।धोनी और गंभीर (फाइल)।

  • पूर्व भारतीय ओपनर गंभीर ने कहा- भावनाओं को दूर रखने का समय आ गया है
  • जब धोनी कप्तान थे तब उन्होंने भी भविष्य को लेकर योजनाएं बनाई थीं : गंभीर

Dainik Bhaskar

Jul 19, 2019, 01:37 PM IST

खेल डेस्क. वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का चयन 20 जुलाई को होगा। सीमित ओवरों की टीम महेंद्र सिंह धोनी को चुने जाने पर संशय बरकरार है। पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने उनके चयन को लेकर कहा कि धोनी के बारे में व्यावहारिक फैसला लेने की जरूरत है। गंभीर ने कहा, ‘अब उनकी जगह युवाओं को मौका दिया जाना चाहिए। भावनाओं को दूर रखने का समय आ गया है।’ धोनी ने इस वर्ल्ड कप में 273 रन बनाए, लेकिन उनका स्ट्राइक रेट 90 से भी कम रहा। इसके बाद कई क्रिकेटर्स ने उन्हें संन्यास लेने की सलाह दी है।

धोनी ने कहा था कि सचिन-सहवाग एक साथ नहीं खेल सकते : गंभीर

  1. धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले लिया था। ऑस्ट्रेलिया के दिसंबर 2014 में उन्होंने आखिरी टेस्ट खेला था। धोनी ने इस वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ 50 रन बनाए थे, लेकिन टीम जीत हासिल करने में नाकाम रही थी। भारत लगातार दूसरे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में हार गया।

  2. गंभीर ने न्यूज चैनल टीवी9 भारतवर्ष से बात करते हुए कहा, ‘अब जरूरी है कि भविष्य पर ध्यान दिया जाए। जब धोनी कप्तान थे तब उन्होंने भी भविष्य को लेकर योजनाएं बनाईं थीं। मुझे याद है कि धोनी ने ऑस्ट्रेलिया में सीबी सीरीज के दौरान कहा था कि सचिन और सहवाग एक साथ टीम में नहीं खेल सकते।’

  3. पूर्व भारतीय ओपनर ने कहा, ‘उन्होंने वर्ल्ड कप के लिए युवा खिलाड़ियों की इच्छा जाहिर की थी। अब समय आ गया है कि भावनात्मक होने की जगह व्यावहारिक निर्णय लिया जाए। यह समय युवाओं को तैयार करने का है। ऋषभ पंत, संजू सैमसन, ईशान किशन या किसी और विकेटकीपर को भी मौका दिया जाना चाहिए।’

  4. गंभीर का मानना है कि युवाओं को ज्यादा समय दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘इनको कम से कम एक से डेढ साल का वक्त दिया जाना चाहिए। अगर ये अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं तो फिर किसी और को आजमाना चाहिए। इससे हमें यह पता चल जाएगा कि अगले विश्व कप के लिए हमारा विकेटकीपर कौन होगा।’

  5. धोनी बेस्ट कप्तान, लेकिन सफलता का सारा श्रेय उन्हें देना सही नहीं : गंभीर

    गंभीर ने धोनी को बेहतरीन कप्तानों में से एक माना, लेकिन उन्होंने कहा कि टीम इंडिया की सफलता के लिए सारा श्रेय उन्हें देना सही नहीं होगा। गंभीर ने कहा, ‘अगर आप आंकड़ों को देखेंगे तो धोनी बेस्ट कप्तान हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि दूसरे कप्तानों ने खराब प्रदर्शन किया। सौरव गांगुली ने बेहतरीन कप्तानी की थी। उनके नेतृत्व में हमने विदेशों में मैच जीते। कोहली की कप्तानी में हमने दक्षिण अफ्रीका में वनडे और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीते।’

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना