• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Hardik Pandya Doing Rehab In Mumbai To Improve Fitness, Will Not Play In Vijay Hazare Trophy

हार्दिक पंड्या फिर कर सकेंगे बॉलिंग?:फिटनेस सुधारने के लिए मुंबई में कर रहे हैं रिहैब, विजय हजारे ट्रॉफी में नहीं खेलेंगे

मुंबई6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
2019 में सर्जरी कराने के बाद से हार्दिक पंड्या गेंदबाजी फिटनेस हासिल नहीं कर पाए हैं। - Dainik Bhaskar
2019 में सर्जरी कराने के बाद से हार्दिक पंड्या गेंदबाजी फिटनेस हासिल नहीं कर पाए हैं।

टी-20 वर्ल्ड कप के बाद भारतीय टीम से ड्रॉप कर दिए गए ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या एक बार फिर करियर को ट्रैक पर लौटाने की कोशिश में जुट गए हैं। पंड्या ने बुधवार (8 दिसंबर) से शुरू हो रहे डोमेस्टिक वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी में न खेलने का फैसला किया है। वे अब मुंबई में रिहैबिलिटेशन प्रोग्राम में हिस्सा ले रहे हैं।

बड़ौदा क्रिकेट संघ के ई-मेल से हुआ खुलासा
दरअसर, बड़ौदा क्रिकेट संघ (BCA) ने हार्दिक पंड्या को ई-मेल भेज कर पूछा था कि क्या वे विजय हजारे ट्रॉफी के लिए उपलब्ध हैं। उन्होने एक लाइन का जवाब भेजा है, जिसमें कहा गया है कि वे रिहैब प्रोग्राम कर रहे हैं।

सर्जरी के बाद से हार्दिक की पीठ में दिक्कत
हार्दिक पंड्या 2019 से ही पीठ की चोट से परेशान हैं। 2019 में उन्होंने सर्जरी भी कराई। लेकिन, तब से वे गेंदबाजी फिटनेस पूरी तरह हासिल नहीं कर पाए हैं। माना जा रहा है कि वे रिहैब प्रोग्राम में पीठ को मजबूत करने में जुटे हैं। हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या ने बड़ौदा का कैंप जॉइन कर लिया है। बड़ौदा क्रिकेट संघ ने साफ कर दिया था कि टीम में वही खिलाड़ी शामिल हो सकता है जो कैंप में मौजूद रहेगा। हार्दिक की तरह क्रुणाल पंड्या भी टीम से बाहर चल रहे हैं।

हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या विजय हजारे ट्रॉफी में बड़ौदा की ओर से खेलेंगे।
हार्दिक के भाई क्रुणाल पंड्या विजय हजारे ट्रॉफी में बड़ौदा की ओर से खेलेंगे।

बिना डोमेस्टिक क्रिकेट खेले वापसी मुमकिन नहीं
हार्दिक को टीम इंडिया में वापसी करने के लिए देर-सवेर डोमेस्टिक क्रिकेट खेलनी ही होगी। BCCI ने टीम से बाहर चल रहे सभी खिलाड़ियों को निर्देश दिया है कि वे विजय हजारे ट्रॉफी और रणजी ट्रॉफी जैसे घरेलू टूर्नामेंट में खेल कर अपनी फॉर्म और फिटनेस हासिल करें।

रिहैब के बाद NCA भी जाना होगा
हार्दिक पंड्या को मुंबई में रिहैब प्रोग्राम पूरा करने के बाद फिटनेस टेस्ट के लिए नेशनल क्रिकेट एकेडमी (NCA) भी जाना पड़ेगा। पहले क्रिकेटरों को NCA से सीधा फिटनेस सर्टिफिकेट मिल जाता था। लेकिन, जब राहुल द्रविड़ यहां के प्रमुख बने तो उन्होंने नियमों में बदलाव कर दिया। अब सर्टिफिकेट से पहले खिलाड़ियों को NCA कोच के सामने फिटनेस टेस्ट देना होता है।