पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यंग टैलेंट की हौसला अफजाई:पंड्या ने मैन ऑफ द सीरीज की ट्रॉफी नटराजन को सौंपी, कहा- आपने मुश्किल हालात में जीत दिलाई

सिडनी10 महीने पहले
हार्दिक पंड्या ने सोशल मीडिया पर टी नटराजन के साथ ट्रॉफी सौंपते हुए फोटो भी शेयर की। - Dainik Bhaskar
हार्दिक पंड्या ने सोशल मीडिया पर टी नटराजन के साथ ट्रॉफी सौंपते हुए फोटो भी शेयर की।

ऑस्ट्रेलिया ने टी-20 सीरीज के तीसरे और आखिरी मैच में टीम इंडिया को 12 रन से हरा दिया। हालांकि, भारतीय टीम सीरीज 2-1 से जीत चुकी है। इसी के साथ हार्दिक पंड्या को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया। लेकिन उन्होंने अपनी यह ट्रॉफी अपने करियर की पहली टी-20 सीरीज खेल रहे तेज गेंदबाज टी नटराजन को सौंप दी।

पंड्या ने सोशल मीडिया पर नटराजन के साथ ट्रॉफी सौंपते हुए एक फोटो भी शेयर की। उन्होंने लिखा, ‘‘नटराजन, इस सीरीज में आपका प्रदर्शन शानदार रहा। आपने टीम को मुश्किल हालात में जीत दिलाई। डेब्यू सीरीज में आपने कड़ी मेहनत की और अपना टैलेंट दिखाया। मेरी ओर से आप ही इस मैन ऑफ द सीरीज के असली हकदार हो भाई।’’

नटराजन ने टीम इंडिया को मैच जिताया
दूसरा टी-20 जिताने के बाद पंड्या को मैन ऑफ द मैच दिया गया था। तब पंड्या ने कहा था कि भारत ने ये मैच नटराजन की वजह से जीता है और उन्हें ही ट्रॉफी मिलनी चाहिए। पंड्या ने कहा, ‘‘नटराजन ने मैच में शानदार बॉलिंग की। उनकी बॉलिंग की वजह से ऑस्ट्रेलिया ने 10 से 15 रन कम बनाए और हमें 10 से कम रन रेट का टारगेट मिला। जिसे हमने आसानी से चेज कर लिया। टारगेट चेज करना बेहद आसान है। मैं स्कोरकार्ड देखकर खेलना पसंद करता हूं। इससे आपको पता चलता है कि आपको किस तरह के शॉट्स खेलने हैं।’’

नटराजन ने सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लिए
तेज गेंदबाज टी नटराजन ने सीरीज में 3 मैच खेले, जिसमें उन्होंने सबसे ज्यादा 6 विकेट लिए। उन्होंने सीरीज के पहले और अपने डेब्यू टी-20 मैच में 3 विकेट लेकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। वहीं, ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने सीरीज के 3 मैच में 78 रन बनाए। उन्होंने दूसरे टी-20 में 42 रन की नाबाद पारी खेलते हुए टीम को जीत दिलाई थी। हालांकि कमर की चोट के कारण वे सीरीज में बॉलिंग नहीं कर सके।

टीम इंडिया ने 2-1 सीरीज जीती
तीन टी-20 की सीरीज में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहले मैच में 11 रन और दूसरे टी-20 में 6 विकेट से हराया था। टीम ने तभी सीरीज पर 2-0 से कब्जा जमा लिया था। हालांकि, आखिरी मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के 187 रन के टारगेट के जवाब में भारतीय टीम 174 रन ही बना सकी और मैच गंवा दिया।

खबरें और भी हैं...