यादों के पिटारे से:1984 में भारत ने फील्डिंग से जीता था मैच, छह विकेट रनआउट व स्टंपिंग से आए थे

3 महीने पहलेलेखक: दुबई से भास्कर के लिए श्याम भाटिया
  • कॉपी लिंक
श्याम भाटिया - Dainik Bhaskar
श्याम भाटिया

शारजाह में 13 अप्रैल 1984 को एक ऐसा मुकाबला हुआ था, जिसे टीम इंडिया ने फील्डिंग के दम पर जीता था। इसमें भारत ने पाकिस्तान से जीत छीन ली थी। रोंगटे खड़े कर देने वाला यह मुकाबला था रोथमैन कप का। तब भारत नया-नया वर्ल्ड चैंपियन बना था। कपिल उस सीरीज का हिस्सा नहीं थे। तब सुनील गावस्कर कप्तान थे।

भारत ने अपनी पारी शुरू की। 46 ओवर के इस मैच में विकेटकीपर सुरेंदर खन्ना (56) और संदीप पाटिल (43) ने धीमी शुरुआत दी। तब लग रहा था कि टीम 150 के स्कोर तक भी नहीं पहुंचेगी। तभी गावसकर ने कमान संभाली और 36 रन बनाकर भारत को 188 तक पहुंचाया। वह दिन शुक्रवार का दिन था और शुक्रवार को होने वाले मैचों में जुमे की नमाज के कारण ब्रेक टाइम लंबा होता था।

हम भारतीय फैंस हताश थे। जबकि, पाक फैंस ज्यादा ही उत्साहित थे। एक मान्यता थी कि जुमे के दिन पाक ही जीतता है। पाक केे 4 विकेट 100 रन के अंदर गिर चुके थे और अगले 34 रन में पाक ने 6 विकेट भी गंवा दिए। यह अविश्वसनीय था। उस मैच में भारत ने उम्दा फील्डिंग की। उसने 4 रनआउट किए और सुरेंदर ने 2 स्टंपिंग की। हमें 10 में से 6 विकेट फील्डिंग से मिले। मैन ऑफ द मैच भी सुरेंदर को ही चुना गया।

खबरें और भी हैं...