पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • IND Vs ENG 2nd ODI: Ben Stokes Survives A Close Run out Call On Kuldeep's Throw, Brought Controversy On Umpiring, Virat Kohli Opposes 3rd Umpire's Decision Watch Video

स्टोक्स को रनआउट नहीं देने पर विवाद:कोहली ने अंपायर से बहस की; इंग्लैंड के पूर्व कप्तान वॉन बोले- मैं थर्ड अंपायर होता, तो जरूर आउट देता

पुणे6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीवी रिप्ले में गिल्ली उखड़ने वक्त स्टोक्स का बल्ला ऑन द लाइन था। कन्क्लूसिव नहीं होने के कारण थर्ड अंपायर ने उन्हें नॉटआउट दिया। - Dainik Bhaskar
टीवी रिप्ले में गिल्ली उखड़ने वक्त स्टोक्स का बल्ला ऑन द लाइन था। कन्क्लूसिव नहीं होने के कारण थर्ड अंपायर ने उन्हें नॉटआउट दिया।

भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए दूसरे वनडे में अंपायरिंग पर एक बार फिर सवाल खड़ा हुआ है। इंग्लैंड की पारी के दौरान 26वें ओवर की 5वीं बॉल पर एक विवादास्पद मामला सामने आया। भुवनेश्वर कुमार की बॉल पर हिट करने के बाद बेन स्टोक्स ने 2 रन लिए।

दूसरा रन पूरा करते समय कुलदीप यादव ने मिड विकेट से सीधा स्टंप्स पर थ्रो किया। रिप्ले वीडियो में स्टोक्स के बैट का कोई भी हिस्सा क्रीज के अंदर नहीं दिखा। हालांकि, थर्ड अंपायर ने बेनिफिट ऑफ डाउट स्टोक्स को दिया और वे नॉटआउट रहे। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहा कि अगर मैं थर्ड अंपायर होता, तो जरूर आउट देता।

थर्ड अंपायर ने बेनिफिट ऑफ डाउट दिया
थर्ड अंपायर ने पाया कि स्टोक्स का बैट ऑन द लाइन था। स्टंप्स की गिल्लियां जब उड़ीं और लाइट जली तब बैट का ऊपरी हिस्सा क्रीज के अंदर और जमीन से लगा हुआ बैट का हिस्सा लाइन पर था। फैसले के बाद कोहली पिच पर आए और फील्ड अंपायर नितिन मेनन से बहस करते हुए कहा कि स्टोक्स आउट थे।

कोहली ने फील्ड अंपायर से की बहस
कोहली ने हाथ से क्रीज पर बैट की मूवमेंट को बताया कि बल्ले का ऊपरी हिस्सा क्रीज के अंदर होने से कुछ नहीं होता। बैट का निचला हिस्सा देखना चाहिए। कमेंटेटर्स आकाश चोपड़ा और इरफान पठान ने भी उन्हें आउट बताया। इस दौरान उन्होंने ICC के सॉफ्ट सिग्नल नियम पर भी बहस कराने की बात कही।

कमेंटेटर आकाश ने सॉफ्ट सिग्नल पर उठाए सवाल
आकाश ने कहा कि जब बाकी मामलों पर थर्ड अंपायर ऑन-फील्ड अंपायर से सॉफ्ट सिग्नल के बारे में पूछता है। फिर यहां पर उनसे सॉफ्ट सिग्नल क्यों नहीं लिया गया। इस नियम पर काफी कन्फ्यूजन है। आकाश ने कहा कि यह नियम क्रिकेट में नहीं होना चाहिए।