पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भारत 92 रन पर ऑलआउट, 7 खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाए

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंटरनेशनल डेस्क, हैमिल्टन. न्यूजीलैंड के खिलाफ पांच मैच की सीरीज के चौथे वनडे में भारत 30.5 ओवर में 92 रन पर ऑलआउट हो गई। उसके सात खिलाड़ी दहाई के अंक तक नहीं पहुंच पाए। दो खिलाड़ी शून्य पर आउट हुए। भारत की ओर से सबसे ज्यादा 18 रन युजवेंद्र चहल ने बनाए। इस दौरान एक वक्त तो ऐसा आया कि इंडिया के 35 रन पर ही 6 विकेट गिर गए। न्यूजीलैंड के लिए ट्रेंट बोल्ट ने सबसे ज्यादा 5 विकेट लिए। उन्होंने करियर में पांचवीं बार पांच विकेट लिए हैं। भारत का न्यूजीलैंड के खिलाफ यह दूसरा न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले 10 अगस्त 2010 को दाम्बुला में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम 29.3 ओवर में 88 रन पर ऑलआउट हो गई थी। इस हार के बाद तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि इस मैच से अपनी हकीकत पता चल गई। वहीं, रोहित शर्मा ने हार के लिए बल्लेबाजों का जिम्मेदारी से प्रदर्शन न करने को वजह बताया है।

- पांच वनडे सीरीजी के चौथे मैच में इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा लोएस्ट स्कोर किया। इससे पहले 10 अगस्त 2010 को इंडिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 88 रन बनाए थे। वहीं अक्टूबर 2000 में श्रीलंका के खिलाफ इंडिया ने 54 रन का स्कोर किया था। 1981 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 63 रन का स्कोर किया। 1986 में श्रीलंका के खिलाफ 78 रन बनाए। 1978 में पाकिस्तान के खिलाफ 79 रन का स्कोर किया।


न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला : न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही। उसके दोनों ओपनर्स 23 रन के स्कोर पर पवेलियन लौट गए। इसके बाद अंबाती रायडू और दिनेश कार्तिक भी बिना खाता खोले आउट हो गए। भारत ने 8 विकेट महज 55 रन के स्कोर पर गंवा दिए थे। न्यूजीलैंड के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने 10 में से चार ओवर मेडन फेंके। इसमें उन्होंने 21 रन देकर पांच विकेट लिए।

ऐसे गिरे भारतीय टीम के विकेट

पहला विकेट, (5.5 ओवर) : ट्रेंट बोल्ट की इस इनस्विंगर को शिखर धवन ने समझने में गलती की और गेंद उनके पैड पर जा लगी। अंपायर ने एलबीडब्ल्यू दे दिया। धवन ने एक पल रिव्यू लेने का सोचा, लेकिन फिर अंपायर का फैसला मानकर पवेलियन की ओर चल दिए। इस समय भारत के खाते में 21 रन ही जुड़े थे।
दूसरा विकेट, (7.6 ओवर) : बोल्ट की अंदर आती हुई गेंद को रोहित शर्मा ने खेलना चाहा। हालांकि, गेंद उनकी उम्मीद से ज्यादा स्विंग हो गई और सामने बोल्ट ने कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। इस समय टीम का स्कोर 23 रन था।
तीसरा विकेट, (10.2 ओवर) : कोलिन डी ग्रांडहोम की यह गेंद विकेट से बाहर जा रही थी। अंबाती रायडू ने इसे सीधा खेलना चाहा, लेकिन मार्टिन गुप्टिल ने छलांग लगाते हुए शॉर्ट कवर पर कैच पकड़ लिया और टीम इंडिया 33 रन के स्कोर पर 3 विकेट गंवा चुकी थी।
चौथा विकेट, (10.5 ओवर) : तीन गेंद बाद ही दिनेश कार्तिक भी बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। ग्रांडहोम की यह गेंद बहुत ज्यादा बाहर थी। कार्तिक ने इसे कट करने की कोशिश की, लेकिन विकेट के पीछे टॉम लाथम उनका कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। टीम के खाते में भी कोई रन जुड़ पाया था।

वास्तविकता का पता चल गई- भुवनेश्वर
- भुवनेश्वर कुमार ने इस हार के बाद कहा कि इससे टीम को सीरीज के बाकी बचे मैचों से पहले वास्तविकता का पता चला कि आगे आने वाले मैचों में हम क्या कर सकते हैं और हमें किस तरह के सुधार करने की जरूरत है।
- यही नहीं, भुवनेश्वर ने ये भी कहा की सीरीज जीतने के बाद हम आत्मविश्वास से भरे थे लेकिन चीजें हमारे अनुकूल नहीं रहीं। हालांकि, उन्होंने कहा कि वो न्यूजीलैंड के गेंदबाजों का श्रेय वापस नहीं लेना चाहते हैं क्योंकि उन्होंने असल में अच्छी गेंदबाजी की और हमें कोई मौका नहीं दिया।

रोहित शर्मा ने बताई हार की वजह
- इधर विराट की गैरहाजिरी में टीम की कमान संभाल रहे रोहित शर्मा ने कहा कि हमें ऐसे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी और इस बात का श्रेय न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को मिलना चाहिए।
- रोहित ने कहा कि जब गेंद स्विंग हो रही हो तो बल्लेबाजों को दबाव सहन करना होता है। इस हार के लिए हम खुद ही दोषी हैं। बल्लेबाजों को जिम्मेदारी के साथ प्रदर्शन करना चाहिए था। अगर थोड़ी देर भी क्रीज पर टिकते तो परिस्थितियां आसान हो जातीं।

भारत ने दो बदलाव किए
इस मैच से 19 साल के क्रिकेटर शुभमन गिल ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया। टॉस हारने के बाद रोहित शर्मा ने बताया कि टीम में दो बदलाव किए गए हैं। विराट की जगह शुभमन गिल को शामिल किया गया है। मोहम्मद शमी के फिट नहीं होने के कारण उनकी भरपाई खलील अहमद करेंगे। महेंद्र सिंह धोनी भी अभी फिट नहीं हैं, इसलिए इस वनडे में भी दिनेश कार्तिक बतौर विकेटकीपर खेलेंगे।

दोनों टीमें इस प्रकार हैं
भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, शुभमन गिल, अंबाती रायडू, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल, खलील अहमद।

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), मार्टिन गुप्टिल, रॉस टेलर, टॉम लाथम (विकेटकीपर), हेनरी निकोलस, जेम्स नीशम, मिशेल सैंटनर, टोड एस्टल, कोलिन डी ग्रांडहोम, मैट हेनरी, ट्रेंट बोल्ट।