विजयरथ पर सवार टीम इंडिया:रोहित की कप्तानी में लगातार 14वीं जीत, फुल टाइम कैप्टन बनने के बाद 5वीं क्लीन स्वीप

बेंगलुरु9 महीने पहले

भारत ने श्रीलंका के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज को 2-0 से जीत लिया है। इसके साथ ही रोहित की कप्तानी में भारत की यह लगातार 14वीं जीत है। टी-20 और वनडे के बाद रोहित की कप्तानी में टेस्ट सीरीज में भी भारत ने जीत के साथ आगाज किया है। रोहित के तीनों फॉर्मेट में फूल टाइम कप्तान बनने के बाद 9 टी-20, 3 वनडे और 2 टेस्ट मैच खेले हैं। भारत को सभी मैचों में जीत मिली है।

विराट कोहली ने अक्टूबर में टी-20 की कप्तानी छोड़ी थी, उसके बाद रोहित को टी-20 की कप्तानी सौंपी गई थी। भारतीय टीम ने पिछले साल नवंबर में 3 टी-20 मैचों की सीरीज में न्यूजीलैंड को 3-0 से मात दी। उसके बाद उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने फरवरी में भारतीय दौरे पर आई वेस्टइंडीज टीम को पहले 3 वनडे और उसके बाद 3 टी-20 मैचों की सीरीज में क्लीन स्वीप किया।

वेस्टइंडीज के बाद भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ 3 टी-20 और उसके बाद 2 टेस्ट मैचों की सीरीज में भी बिना कोई मैच हारे अपना कब्जा जमाने में सफल रही।

लगातार 15वीं सीरीज जीता भारत
रोहित की कप्तानी में पहली टेस्ट सीरीज जीतने के साथ ही भारतीय टीम ने घरेलू मैदानों लगातार 15वीं टेस्ट सीरीज जीती। भारत ने पिछली घरेलू टेस्ट सीरीज नवंबर 2012 में इंग्लैंड के खिलाफ हारी थी। उस समय महेंद्र सिंह धोनी टीम के कैप्टन थे। उसके बाद से अब तक भारतीय टीम कोई घरेलू टेस्ट सीरीज नहीं गंवाई है। आज तक किसी भी टीम ने अपने घरेलू मैदानों पर इतनी सीरीज नहीं जीती हैं।

वहीं, श्रीलंका के खिलाफ भारत ने तीसरी बार टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप किया है। इससे पहले 1993/94 और 2017 में भारत ने श्रीलंका को 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-0 से धूल चटाई थी।

लगातार टी-20 मैच जीतने की वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की
रोहित की कप्तानी में भारतीय टीम ने श्रीलंका को टेस्ट सीरीज से पहले खेले गए टी-20 मैचों की सीरीज में हराकर लगातार 12 टी-20 मैच जीतने के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी की। टी-20 क्रिकेट में लगातार सबसे ज्यादा 12 जीत का रिकॉर्ड अफगानिस्तान टीम के नाम था।