• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Ravi Shastri, Team India Head Coach BCCI Announcement Today News Updates: Ravi Shastri, Kapil Dev, Robin Singh

बीसीसीआई / रवि शास्त्री लगातार दूसरी बार टीम इंडिया के हेड कोच चुने गए, 2021 तक वे इस पद पर रहेंगे



Ravi Shastri, Team India Head Coach BCCI Announcement Today News Updates: Ravi Shastri, Kapil Dev, Robin Singh
Ravi Shastri, Team India Head Coach BCCI Announcement Today News Updates: Ravi Shastri, Kapil Dev, Robin Singh
X
Ravi Shastri, Team India Head Coach BCCI Announcement Today News Updates: Ravi Shastri, Kapil Dev, Robin Singh
Ravi Shastri, Team India Head Coach BCCI Announcement Today News Updates: Ravi Shastri, Kapil Dev, Robin Singh

  • क्रिकेट सलाहकार समिति की बैठक के बाद कपिल देव ने रवि शास्त्री के नाम की घोषणा की
  • कपिल ने कहा- टीम के मुख्य कोच का चयन करते वक्त कप्तान विराट कोहली की राय नहीं ली गई
  • उन्होंने कहा- कोचिंग स्किल्स, एक्सपीरियंस, नॉलेज और टीम के साथ कम्युनिकेशन जैसे मानकों पर कोच का चयन हुआ
  • न्यूजीलैंड के माइक हेसन दूसरे और ऑस्ट्रेलिया के टॉम मूडी तीसरे दावेदार थे, लेकिन शास्त्री के नाम पर सहमति बनी
  • 57 वर्षीय शास्त्री 2014-2016 में टीम डायरेक्टर रहे, 2017 में हेड कोच बने

Dainik Bhaskar

Aug 16, 2019, 07:14 PM IST

खेल डेस्क. रवि शास्त्री (57) ही 2021 तक टीम इंडिया के मुख्य कोच रहेंगे। कपिल देव की अगुवाई वाली क्रिकेट एडवायजरी काउंसिल ने शुक्रवार शाम इसका ऐलान किया। कपिल देव ने कहा कि हेड कोच का चयन कोचिंग स्किल्स, एक्सपीरियंस, नॉलेज और टीम के साथ कम्युनिकेशन के मानकों को ध्यान में रखते हुए किया गया। 

 

शास्त्री 2014-2016 तक टीम के डायरेक्टर रहे। 2017 में उन्हें टीम का कोच बनाया गया। हालांकि, वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के बाद उनके कोच पद पर बने रहने पर सवाल उठ रहे थे। चयन के पहले ही कहा जा रहा था कि शास्त्री का कार्यकाल आगे बढ़ाया जा सकता है, क्योंकि वे विराट कोहली की भी पसंद हैं। हालांकि, कपिल देव ने स्पष्ट कर दिया कि कोच के चयन के वक्त कोहली की सलाह नहीं मांगी गई।

 

तीनों उम्मीदवारों को मिले अंकों में ज्यादा फर्क नहीं था- कपिल
कपिल देव ने कहा, ‘‘हम तीनों (कपिल देव, अंशुमान गायकवाड़ और महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी) की हेड कोच के उम्मीदवारों को लेकर अपनी-अपनी मार्किंग थी। हम सभी की आम सहमति के मुताबिक मार्किंग ऐसी रही कि ऑस्ट्रेलिया के टॉम मूडी तीसरे, न्यूजीलैंड के माइक हेसन दूसरे और रवि शास्त्री पहले नंबर पर थे। इसी के मुताबिक हमने फैसला किया। हमने कोचिंग स्किल्स, एक्सपीरियंस, नॉलेज और टीम के साथ कम्युनिकेशन जैसे मानकों पर अंक दिए। हालांकि, तीनों उम्मीदवारों को मिले अंकों में ज्यादा फर्क नहीं था। तीनों ने अच्छा प्रेजेंटेशन दिया। 

 

मौजूदा कोच होने की वजह से शास्त्री का पक्ष मजबूत था : गायकवाड़
शास्त्री ही क्यों चुने गए, इस पर अंशुमान गायकवाड़ ने कहा कि मुझे लगता है कि वे मौजूदा कोच हैं, इसलिए उनका पक्ष मजबूत था। वे खिलाड़ियों को जानते हैं, मौजूदा माहौल जानते हैं और क्या दिक्कतें हैं, ये भी उन्हें पता है। बाकी किसी को भी चुनते तो उसे काफी पहले से चीजें शुरू करना पड़तीं। 

 

वेस्टइंडीज दौरे पर गए शास्त्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इंटरव्यू दिया
सीएसी में कपिल देव के अलावा टीम इंडिया के पूर्व ओपनर अंशुमान गायकवाड़ और महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी शामिल हैं। सीएसी ने इंटरव्यू के लिए 6 उम्मीदवारों का नाम शॉर्ट लिस्ट किया था। इनमें शास्त्री के अलावा लाल चंद राजपूत, रॉबिन सिंह, न्यूजीलैंड के पूर्व कोच माइक हेसन और ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर टॉम मूडी शामिल थे। शास्त्री वेस्टइंडीज दौरे पर हैं, उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इंटरव्यू दिया। इसी तरह मूडी ने स्काइप पर इंटरव्यू दिया। लालचंद, रॉबिन और हेसन मुंबई में सीएसी के सामने पहुंचे। पूर्व वेस्टइंडियन ऑलराउंडर फिल सिमंस ने अपना नाम वापस ले लिया था।

 

कपिल ने कहा- कोच के तौर पर हेसन दूसरी और मूडी तीसरी पसंद थे। लेकिन, कमेटी ने शास्त्री का चयन किया।

 

डायरेक्ट के तौर पर शास्त्री (19 मार्च 2014 से 23 जून 2016 तक)

 

फॉर्मेट मैच जीत हार ड्रॉ
टेस्ट 17 6 6 5
वनडे 46 29 15 2
टी-20 30 21 19 0
कुल 93 56 40 7


कोच के तौर पर शास्त्री (1 जुलाई 2017 से अब तक)

 

फॉर्मेट मैच जीत हार ड्रॉ टाई नतीजा नहीं
टेस्ट 21 11 7 3 0 0
वनडे 63 45 15 0 2 1
टी-20 37 25 11 0 0 1
कुल 121 81 33 3 2 1

 

 

कोच और कोचिंग स्टाफ के लिए 2000 लोगों ने आवेदन किए थे
शास्त्री और वर्तमान कोचिंग स्टाफ का कार्यकाल वर्ल्ड कप के बाद समाप्त हो गया था, लेकिन बोर्ड उनका अनुबंध 45 दिन के लिए बढ़ा दिया था। बोर्ड ने 30 जुलाई तक कोच और कोचिंग स्टाफ के लिए आवेदन मंगवाए थे। लगभग 2000 लोगों ने आवेदन दिया था। इनमें से 6 लोगों को शॉर्ट लिस्ट किया गया था।

 

शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया वर्ल्ड कप के फाइनल में नहीं पहुंची थी
57 साल के शास्त्री को बतौर कोच खुद को साबित करने के लिए चार बड़े मौके मिले- दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज और फिर वर्ल्ड कप, लेकिन इन 4 में से 3 मिशन में वे फेल रहे। टीम दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज नहीं जीत सकी। पिछले दिनों खत्म हुए वर्ल्ड कप के फाइनल में भी टीम जगह नहीं बना सकी। उनकी एक बड़ी उपलब्धि ऑस्ट्रेलिया में टीम को पहली बार टेस्ट सीरीज में जीत दिलाना है।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना