इंडियन क्रिकेटर्स के आर्मी कैप पहनकर खेलने से भड़क गया था पाकिस्तान, दी थी भारत से बदला लेने की धमकी

बीसीसीआई की एक समझदारी ने निकाल दी उसकी हेकड़ी, हाथ मलता रह गया पाकिस्तान

Mar 10, 2019, 04:35 PM IST

स्पोर्ट्स डेस्क. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रांची में 8 मार्च को हुए तीसरे वनडे में टीम इंडिया शहीदों के सम्मान में आर्मी कैप लगाकर खेली थी। भारतीय टीम के ऐसा करने के बाद पाकिस्तान भड़क गया था और उसने इसे खेल भावना के खिलाफ बताते हुए इस बारे में ICC से शिकायत करने की बात कही थी। साथ ही भारत के खिलाफ काली पट्टी बांधकर खेलने की धमकी भी दी थी। हालांकि पाकिस्तान की धमकी की हवा तब निकल गई जब ये बात सामने आई कि बीसीसीआई ने कैप पहनने के लिए पहले ही आईसीसी से परमिशन ले ली थी।

एक दिन पहले ही ले ली थी परमिशन...

- भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रांची में शुक्रवार (8 मार्च) को खेले गए सीरीज के तीसरे वनडे में भारतीय टीम आर्मी कैप लगाकर खेली थी। ऐसा उसने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देने और सैनिकों के सम्मान में किया था।

- अब इस बारे में स्थिति साफ करते हुए ICC ने बताया है कि बीसीसीआई ने पहले ही इस बारे में उससे अनुमति ले ली थी। बीसीसीआई ने आईसीसी के सीईओ डेव रिचर्डसन को गुरुवार 7 मार्च यानी मैच से एक दिन पहले ही इस बारे में बताते हुए आर्मी कैप लगाकर खेलने की परमिशन ले ली थी।
- बोर्ड ने आईसीसी को ये भी बता दिया था कि इस मैच से मिली फीस को प्लेयर्स, शहीदों के परिजनों के लिए दान भी करेंगे। एक इंग्लिश न्यूज वेबसाइट से बातचीत के दौरान आईसीसी के सूत्रों ने इस बारे में बताया।
- टीम इंडिया ने 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में मारे गए 44 जवानों को श्रद्धांजलि और सेना के प्रति अपना सम्मान दिखाने के लिए आर्मी कैप पहनकर वो मैच खेला था। इसके अलावा प्लेयर्स ने उस मैच से मिली फीस को भी शहीदों के परिजनों के लिए दान कर दिया था।

पाकिस्तान ने दी थी शिकायत की धमकी


- भारतीय क्रिकेटर्स और स्टाफ मेंबर्स द्वारा शहीदों को श्रद्धांजलि देने से पाकिस्तान बौखला गया था। वहां के सूचना और प्रसारण मंत्री फवाद चौधरी ने कहा था कि आईसीसी को इस मामले में भारत के खिलाफ कार्रवाई करना चाहिए।
- चौधरी के मुताबिक आर्मी कैप लगाकर खेलते हुए टीम इंडिया ने जेंटलमैन्स गेम (भद्रजनों के खेल) का राजनीतिकरण किया और उसे डिस्टर्ब करने की कोशिश की। जिसे बिल्कुल भी स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए।
- चौधरी ने एक ट्वीट करते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से इस मामले में आधिकारिक रूप से आईसीसी से शिकायत करने की बात कही थी। साथ ही लिखा था, 'ये सिर्फ क्रिकेट नहीं है, मुझे उम्मीद है खेल पर हो रही राजनीति को लेकर ICC कुछ कार्रवाई जरूर करेगा।'
- आगे उन्होंने लिखा, 'अगर भारतीय टीम ने आगे भी ऐसा किया तो पाकिस्तानी टीम को भी काली पट्टी बांधकर खेलते हुए दुनिया को कश्मीर में भारत द्वारा किए जा रहे अत्याचारों के बारे में बताना चाहिए। मैं पीसीबी से अपील करता हूं कि वो इस मामले में आधिकारिक रूप से अपना विरोध दर्ज कराए।'

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना