पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • India One Day Team Caption Debate Rohit Sharma, Who Was Captain Chief Selector In ODIs, Supported Kiran More To Have Two Captains, BCCI Can Reduce Virat Kohli's Workload

कप्तानी के लिए रोहित Vs विराट बहस:पूर्व चीफ सिलेक्टर किरण मोरे ने 2 कप्तान होने का समर्थन किया, कहा- एक दिन विराट खुद हिटमैन को कप्तानी सौंपेंगे

मुंबई4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय टीम के पूर्व चीफ सिलेक्टर किरण मोरे का मानना है कि जल्द ही रोहित शर्मा को लिमिटेड ओवर का कप्तान बनाया जा सकता है। विराट कोहली अपना वर्कलोड कम करने के लिए जल्द ही वनडे और टी-20 की कप्तानी रोहित को सौंपने का फैसला कर सकते हैं। किरण मोरे ने यह बात एक TV चैनल को दिए इंटरव्यू में कही।

दरअसल इंटरनेशनल लेवल पर तीनों फॉर्मेट के लगातार हो रहे मैचों की वजह से मोरे समेत कई क्रिकेट एक्सपर्ट टेस्ट और लिमिटेड ओवर में अलग-अलग कप्तान बनाए जाने की वकालत भी कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि एक समय के बाद तीनों फॉर्मेट में कप्तानी संभालना मुश्किल हो जाता है। कोहली पूर्व कप्तान धोनी के साथ खेल चुके हैं और धोनी से सीख लेते हुए अपने ऊपर से बोझ करने का विचार कर सकते हैं। मोरे ने कहा कि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

धोनी पेश कर चुके हैं उदाहरण
धोनी ने अपने ऊपर से दबाव को कम करने के लिए साल 2014 में टेस्ट की कप्तानी छोड़ दी थी और कोहली को सौंपी थी। वे खुद वनडे और टी-20 की कप्तानी कर रहे थे। वहीं साल 2018 में उन्होंने वनडे और टी-20 की कप्तानी भी छोड़ दी थी। उसके बाद 2019 तक उन्होंने बतौर खिलाड़ी देश का प्रतिनिधित्व किया। धोनी ने 2019 वर्ल्डकप में सितंबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ आखिरी मैच खेला था। उन्होंने पिछले साल 15 अगस्त को सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया था।

कोहली टेस्ट में देश के सफलतम कप्तान
कोहली टेस्ट में देश के सबसे सफल कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 60 टेस्ट मैच खेले हैं। इनमें 36 मैच में भारत को जीत मिली, जबकि 14 मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। धोनी की अगुवाई में भारत ने कुल 27 टेस्ट मैचों में जीत दर्ज की। उनके बाद सौरव गांगुली (21 जीत) और मोहम्मद अजहरुद्दीन (14 जीत) का नंबर आता है। वहीं, घरेलू सरजमीं पर भी कोहली सबसे सफल कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने घर में 30 टेस्ट मैच खेले हैं। जिसमें 23 में जीत मिली हैं।

धोनी की अगुवाई में भारत ने घरेलू मैदान पर 30 टेस्ट मैचों में 21 जीत हासिल की थी। अजहरुद्दीन की कप्तानी में 20 टेस्ट में 13 जीत मिली थीं। सौरव गांगुली ने 21 में से 10 टेस्ट घरेलू मैदान पर जीते थे। वहीं, सुनील गावस्कर पांचवें स्थान पर हैं। उन्होंने घरेलू मैदान पर 29 टेस्ट में कप्तानी की थी। उन्हें 7 मैचों में जीत मिली थी।

विदेशी जमीन पर टेस्ट में कोहली की कप्तानी में सबसे ज्यादा मैच जीते
विदेशी जमीन पर सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने के मामले में भी कोहली सभी भारतीय कप्तानों में आगे हैं। उनके नेतृत्व में भारत ने 30 में से 13 टेस्ट विदेश में जीते हैं और 12 मुकाबलों में हार मिली है, जबकि 5 मैच ड्रॉ रहे हैं। इस मामले में सौरव गांगुली दूसरे स्थान पर हैं। गांगुली ने विदेश में 28 मैचों में 11 में जीत हासिल की थी, 10 में हार झेलनी पड़ी थी और 7 ड्रॉ रहे थे। भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का चौथा टेस्ट 4 मार्च से 8 मार्च के बीच खेला जाएगा।

वनडे मैचों में रोहित का जीत प्रतिशत कोहली से ज्यादा
कोहली ने अब तक 95 वनडे मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की है, जिसमें 65 मैचों में जीत मिली है और 27 मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा है। उनकी सफलता का प्रतिशत 70.43 रहा है। वहीं रोहित शर्मा 2017-2019 के बीच 10 वनडे मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी की है, जिसमें आठ मैचों में भारत को जीत मिली है और 2 में हार का सामना करना पड़ा है। उनका जीत का प्रतिशत 80 रहा है।

रोहित IPL के सबसे सफल कप्तान
रोहित IPL के सफल कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने IPL 2020 में दिल्ली कैपिटल्स को हराकर 5वीं बार खिताब जीता था। रोहित के बाद IPL में सबसे सफल कप्तान धोनी रहे हैं, जिनकी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने तीन दफा IPL की ट्रॉफी को अपने नाम किया है।

धोनी की कप्तानी में CSK ने साल 2010 और 2011 में लगातार दो सीजन खिताब पर कब्जा किया था, जबकि साल 2018 में टीम ने टूर्नामेंट में जबरदस्त वापसी करते हुए जीत दर्ज की थी। वहीं विराट कोहली अपनी कप्तानी में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को एक बार भी खिताब नहीं दिला सके हैं।

खबरें और भी हैं...