क्या टीम इंडिया को खतरे में डालेंगे गांगुली:ओमिक्रॉन के बावजूद साउथ अफ्रीका दौरा जारी रखना चाहता है BCCI, अध्यक्ष बोले- अभी काफी वक्त बाकी

मुंबई2 महीने पहले

न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज समाप्त होने के ठीक बाद भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका के दौरे पर जाना है। वहां टीम को तीनों फॉर्मेट में मेजबान साउथ अफ्रीका के साथ सीरीज खेलनी है। हालांकि पिछले कुछ दिनों से साउथ अफ्रीका में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के कारण संक्रमण के नए मामलों में तेजी आई है।

इस कारण ICC ने बराबर में मौजूद दूसरे देश जिंबाब्वे में चल रहे महिला वर्ल्ड कप क्वालिफायर को बीच में ही रद्द कर दिया। उधर, साउथ अफ्रीका में ही खेल रही नीदरलैंड्स की क्रिकेट टीम ने भी अपनी लिमिटेड ओवर सीरीज को बीच में ही छोड़कर घर वापस लौटने का फैसला किया। इसके बावजूद खबर आ रही है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) इसी महीने होने वाले दौरे पर टीम को भेजना चाहता है। BCCI ने फिलहाल साउथ अफ्रीका में ही खेल रही इंडिया-ए की टीम को भी वापस नहीं बुलाया है। भारत-ए और साउथ अफ्रीका-ए के बीच दो अनऑफिशियल टेस्ट मैचों की सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला जा रहा है।

गांगुली बोले- सरकार की बात मानेंगे, लेकिन अभी दौरा जारी है
BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा कि अगर सरकार की ओर से दौरे को लेकर कोई दिशा-निर्देश आता है तो उसका पालन करेंगे। हालांकि अभी तक जो स्थिति है, उसके हिसाब से भारतीय टीम के कार्यक्रम में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

साउथ अफ्रीका दौरे पर मुंबई टेस्ट के बाद करेंगे विचार
गांगुली ने कहा कि दौरे को लेकर आखिरी फैसला करने से पहले अभी हमारे पास काफी समय है। भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 दिसंबर से मुंबई में सीरीज का दूसरा और आखिरी टेस्ट मैच खेलना है। साउथ अफ्रीका के साथ पहला टेस्ट मैच 17 दिसंबर से होना है यानी हमारे पास अभी इस बारे में विचार करने के लिए काफी समय है।

कुछ अनहोनी नहीं हुई तो दौरा जारी रहना तय
न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच 7 दिसंबर को समाप्त होना है। इसके एक-दो दिन बाद भारतीय टीम को चार्टर्ड प्लेन से जोहानिसबर्ग के लिए रवाना होना है। BCCI के सूत्रों के मुताबिक, इससे पहले कोई अनहोनी नहीं होती है तो भारतीय टीम का साउथ अफ्रीका जाना लगभग तय है। दौरा तभी रद्द या स्थगित होगा, जब सरकार BCCI को वहां टीम भेजने से साफ-साफ मना कर देती है।

खबरें और भी हैं...