पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • India Tour Of Sri Lanka: Arjuna Ranatunga Says Second string India Team Insult For Sri Lanka; Criticize Sri Lankan Cricket Board And BCCI

रणतुंगा का टीम इंडिया पर वार:पूर्व श्रीलंकाई कप्तान ने कहा- भारतीय B टीम को होस्ट करना श्रीलंका का अपमान; 13 जुलाई से शुरू हो रही सीरीज

कोलंबो2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने टीम इंडिया और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) की आलोचना की है। 1996 में श्रीलंका को वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान ने कहा कि भारत की B टीम को श्रीलंका दौरे पर भेजना श्रीलंकन क्रिकेट को अपमानित करने जैसा है। इसके साथ ही उन्होंने श्रीलंकन क्रिकेट बोर्ड के इस टूर के लिए राजी होने के लिए उनकी भी आलोचना की। 13 जुलाई से दोनों देशों के बीच कोलंबो में वनडे और टी-20 सीरीज की शुरुआत होगी।

श्रीलंका दौरे पर टीम इंडिया के 6 प्लेयर डेब्यू करेंगे
विराट कोहली, रोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह और पंत समेत भारत के कई क्रिकेट सुपरस्टार्स इंग्लैंड दौरे पर होने के कारण इस सीरीज में हिस्सा नहीं लेंगे। उनकी जगह शिखर धवन श्रीलंका के खिलाफ लिमिटेड ओवर सीरीज में टीम इंडिया की कप्तानी करेंगे। वहीं, भुवनेश्वर कुमार उनके डिप्टी होंगे। इस टीम में 6 खिलाड़ी डेब्यू करेंगे। इसमें देवदत्त पडिक्कल, कृष्णप्पा गौतम, ऋतुराज गायकवाड़, नीतीश राणा, वरुण चक्रवर्ती और चेतन सकारिया शामिल हैं।

श्रीलंकाई बोर्ड को जिम्मेदार मानते हैं रणतुंगा
रणतुंगा ने कहा- यह सेकेंड स्ट्रिंग टीम इंडिया है। यह हमारे क्रिकेट का अपमान है। मैं मौजूदा श्रीलंकाई बोर्ड को इसके लिए जिम्मेदार मानता हूं। टेलीविजन पर मार्केटिंग और अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए श्रीलंका ने इसे स्वीकार किया है। रणतुंगा ने कहा कि इंडिया ने अपनी बेस्ट टीम इंग्लैंड टूर पर भेज दी और यहां कमजोर टीम भेज रहे हैं। रणतुंगा 2 साल पहले श्रीलंका सरकार में मंत्री रह चुके हैं।

श्रीलंका को इंग्लैंड ने टी-20 सीरीज में क्लीन स्वीप किया
रणतुंगा ने इसके साथ ही श्रीलंकाई टीम के खराब फॉर्म को लेकर भी बात किया। उन्होंने कहा कि टीम घटिया खेल रही है। बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज में हार के बाद अब इंग्लैंड ने उन्हें टी-20 सीरीज में क्लीन स्वीप किया है। इंग्लैंड गए 3 खिलाड़ियों पर बायो-बबल के उल्लंघन का आरोप लगा और उन्होंने वापस भेज दिया गया। जब मैं बोर्ड का हेड था, तब ऐसा नहीं होता था और मैं इन सब मामलों पर सख्त था।

खबरें और भी हैं...