शास्त्री ने खोले वर्ल्ड कप में मिली हार के राज:बोले- पंड्या की कमी खली, मैं टॉप-6 में ऐसा खिलाड़ी चाहता था जो बॉलिंग कर सके

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

टीम इंडिया के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने हार्दिक पंड्या को लेकर बड़ा बयान दिया है। वे टीम इंडिया के दो वर्ल्ड कप और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में मिली हार के पीछे के कारणों पर चर्चा कर रहे थे।

60 साल के शास्त्री ने सोमवार को एक फैंटेसी ऐप से चर्चा करते हुए कहा कि मैं हमेंशा से टॉप-6 में एक ऐसा खिलाड़ी चाहता था, जो बॉलिंग कर सके। लेकिन, हार्दिक की इंजुरी के कारण मैं परेशानियों में पड़ गया।

उनकी चोट का हर्जाना हमें दो वर्ल्ड कप की हार के साथ गंवाना पड़ा, क्योंकि तब मेरे पास टॉप-6 में ऐसा कोई नहीं था जो बॉलिंग कर सके। मैंने सिलेक्टर्स से भी कहा था कि ऐसा कोई देखो। लेकिन, तब कोई नहीं था।

बता दें कि शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में दो सीरीज जीती थीं। इतना ही नहीं, टेस्ट में नंबर-1 रैंकिंग भी हासिल की थी। हालांकि, वे टीम इंडिया को वर्ल्ड कप जिताने में फेल रहे थे। उन्होंने पहली वर्ल्ड टेस्ट चैंपियन टीम के कोच होने का गौरव भी गंवाया था।

पंड्या ने चोट से वापसी कर गुजरात को चैंपियन बनाया
इंजरी से उबरने के बाद हार्दिक ने IPL के पिछले सीजन में जोरदार वापसी की थी। वे गुजरात टाइटंस के कप्तान बनाए गए। पंड्या ने पहले ही सीजन में गुजरात टाइटंस को चैंपियन बना दिया।

2018 के एशिया कप में चोटिल हुए थे पंड्या
हार्दिक पंड्या को 2018 के एशिया कप के दौरान बैक इंजुरी हो गई थी। उसके बाद वे लगातार तीन साल तक बैक इंजुरी से परेशान रहे। इतना ही नहीं, पंड्या ने खुद की रिकवरी के लिए 2021 के टी-20 वर्ल्ड कप की चयन प्रक्रिया में खुद को अनुपलब्ध कर लिया था।

हार्दिक को बैक इंजुरी हो गई थी।
हार्दिक को बैक इंजुरी हो गई थी।