--Advertisement--

एडिलेड टेस्ट / पुजारा का 16वां शतक, पहले दिन टीम के आधे रन खुद बनाए; भारत का स्कोर 250/9



India vs Australia 1st Test Day 1 Score 250/9, Pujara Hit 16th Hundred
विराट कोहली का विकेट लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स। विराट कोहली का विकेट लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स।
अजिंक्य रहाणे का विकेट लेने पर जोश हेजलवुड को बधाई देते ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स। अजिंक्य रहाणे का विकेट लेने पर जोश हेजलवुड को बधाई देते ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स।
साथी क्रिकेटर्स के साथ मुरली विजय को आउट करने का जश्न मनाते मिशेल स्टॉर्क। साथी क्रिकेटर्स के साथ मुरली विजय को आउट करने का जश्न मनाते मिशेल स्टॉर्क।
X
India vs Australia 1st Test Day 1 Score 250/9, Pujara Hit 16th Hundred
विराट कोहली का विकेट लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स।विराट कोहली का विकेट लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स।
अजिंक्य रहाणे का विकेट लेने पर जोश हेजलवुड को बधाई देते ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स।अजिंक्य रहाणे का विकेट लेने पर जोश हेजलवुड को बधाई देते ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स।
साथी क्रिकेटर्स के साथ मुरली विजय को आउट करने का जश्न मनाते मिशेल स्टॉर्क।साथी क्रिकेटर्स के साथ मुरली विजय को आउट करने का जश्न मनाते मिशेल स्टॉर्क।

  • भारत के शुरुआती 6 विकेट 127 रन पर गिर गए थे, राहुल-कोहली दहाई के अंक तक नहीं पहुंच पाए
  • ऑस्ट्रेलिया की ओर से मिशेल स्टॉर्क, जोश हेजलवुड, पैट कमिंस और नॉथन लियान ने दो-दो विकेट लिए
  • पुजारा के टेस्ट में 5000 रन पूरे, अश्विन के साथ 62 और शमी के साथ 40 रन की साझेदारी की

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 05:23 AM IST

एडिलेड. चेतेश्वर पुजारा की शतकीय पारी की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैच की सीरीज के पहले टेस्ट के पहले दिन 87.5 ओवर में नौ विकेट पर 250 रन बनाए। पुजारा ने सात चौके और दो छक्के की मदद से 246 गेंदों में 123 रन बनाए। वे दिन की आखिरी गेंद पर रन आउट हुए। पुजारा ने टेस्ट में अपने 5000 रन भी पूरे किए। वे 16 या उससे ज्यादा टेस्ट शतक लगाने वाले 10वें भारतीय हैं। वे टेस्ट में 5000 रन बनाने वाले 12वें भारतीय बने। उन्होंने अपने 65वें टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल की।

 

 

पुजारा ने छक्का मारकर पूरे किए 5000 टेस्ट रन

चेतेश्वर पुजारा ने छक्का मारकर अपने 5000 टेस्ट रन पूरे किए। उनसे पहले सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़, सुनील गावस्कर, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग, सौरव गांगुली, दिलीप वेंगसरकर, विराट कोहली, मोहम्मद अजहरुद्दीन, गुंडप्पा विश्वनाथ, कपिल देव 5000 से ज्यादा टेस्ट रन बना चुके हैं। उन्होंने अपना 16वां टेस्ट शतक भी लगाया। उनसे पहले नौ भारतीय 16 या उससे ज्यादा टेस्ट शतक लगा चुके हैं। सचिन तेंडुलकर ने 51, राहुल द्रविड़ ने 36, सुनील गावस्कर ने 34, विराट कोहली ने 24, वीरेंद्र सहवाग ने 23, मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 22, दिलीप वेंगसरकर और वीवीएस लक्ष्मण ने 17-17 और सौरव गांगुली ने 16 टेस्ट शतक लगाए हैं।

 

पुजारा ने भारतीय पारी को भी संभाला
पुजारा ने इस मैच में भारतीय पारी को भी संभाला। पुजारा जब बल्लेबाजी के लिए आए थे, तब भारत ने केवल मैच की नौ गेंदें खेली थीं और स्कोर तीन रन ही था। वे नौवें विकेट के रूप में जब आउट हुए, तब तक टीम इंडिया का स्कोर 250 रन हो चुका था। उन्होंने 231 गेंद में छह चौके और एक छक्के की मदद से अपना शतक पूरा किया। पुजारा ने टीम के आठ बल्लेबाजों के साथ साझेदारियां कीं। उन्होंने रविचंद्रन अश्विन के साथ 7वें विकेट के लिए 62 रन की एकमात्र अर्धशतकीय साझेदारी की। 

 

टीम इंडिया की खराब शुरुआत

 

  • भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीता और बल्लेबाजी चुनी। हालांकि, उनका यह फैसला गलत साबित हुआ। चायकाल तक उसकी आधी से ज्यादा टीम पवेलियन लौट चुकी थी।
  • पहला विकेट : टीम का स्कोर जब तीन रन था, तब लोकेश राहुल दो रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए। उनका विकेट जोश हेजलवुड ने लिया।
  • दूसरा विकेट : टीम के खाते में अभी 12 रन ही और जुड़े थे कि दूसरे ओपनर मुरली विजय ने भी पवेलियन की राह पकड़ी। उन्हें मिशेल स्टॉर्क ने अपना शिकार बनाया। 11 रन के निजी स्कोर पर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने उन्हें विकेट के पीछे लपका।
  • तीसरा विकेट : विजय के आउट होने पर कोहली ने क्रीज संभाली। हालांकि, वे ज्यादा देर टिक नहीं पाए। 16 गेंदें खेलने के बाद वे पैट कमिंस की गेंद पर गली में उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच आउट हुए। इस समय टीम के खाते में महज 19 रन जुड़े थे। 
  • चौथा विकेट : कोहली के बाद अंजिक्य रहाणे ने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर 22 रन जोड़े। हालांकि, रहाणे जब 13 रन पर थे, तभी एक गलत शॉट खेलने के चक्कर में वे दूसरी स्लिप में लपके गए। हेजलवुड की गेंद पर पीटर हैंड्सकॉम्ब ने उनका कैच लिया।
  • पांचवां विकेट : चार विकेट गिरने के बाद रोहित शर्मा क्रीज पर आए। 11 महीने बाद टेस्ट खेल रहे रोहित ने पुजारा के साथ मिलकर 45 रन जोड़े। इसमें 37 रन उनके थे। उन्होंने दो चौके और तीन छक्के लगाए। जब लगा कि वे टीम का स्कोर 100 के पार करा देंगे तभी छक्का मारने के चक्कर में नॉथन लियान की गेंद पर बाउंड्री के पहले मार्क्स हैरिस ने उनका आसान कैच पकड़ लिया।
  • छठा विकेट : आधी टीम के पवेलियन लौटने के बाद ऋषभ पंत और पुजारा पर भारी जिम्मेदारी थी। हालांकि, ऋषभ अपनी जिम्मेदारी अच्छे से निभाने में नाकाम रहे। 38 गेंद में 25 रन बनाकर खेल रहे ऋषभ को लियान ने विकेट के पीछे पेन के हाथों कैच आउट कराया। उस समय टीम का स्कोर कुल 127 रन था।
  • सातवां विकेट : एक समय लग रहा था कि टीम इंडिया 150 रन भी नहीं बना पाएगी, लेकिन पुजारा और रविचंद्रन अश्विन ने सातवें विकेट के लिए 62 रन की साझेदारी की। अश्विन जब 25 रन पर थे, तभी कमिंस ने उन्हें हैंड्सकॉम्ब के हाथों कैच करा दिया। 
  • आठवां विकेट : अश्विन की जगह इशांत ने ली। हालांकि, वे ज्यादा देर तक मैदान में टिक नहीं पाए। उन्हें चार के निजी स्कोर पर मिशेल स्टॉर्क ने बोल्ड कर दिया। हालांकि, तब तक भारत का स्कोर 200 के पार हो चुका था।
  • नौवां विकेट : दसवें नंबर पर मोहम्मद शमी बल्लेबाजी करने आए। उन्होंने पुजारा के साथ 40 रन जोड़े। पुजारा 123 रन बनाकर खेल रहे थे, तभी पहले दिन के 88वें ओवर की 5वीं गेंद पर रन लेने के चक्कर में वे रन आउट हो गए। इसके साथ ही अंपायर्स ने दिन का खेल खत्म होने का ऐलान कर दिया।

उस्मान ख्वाजा ने लपका विराट कोहली का कैच
भारतीय कप्तान विराट कोहली महज तीन रन बनाकर आउट हो गए। पैट कमिंस की गेंद पर उन्हें गली में उस्मान ख्वाजा ने लपका। विराट ने जब 10वें ओवर की तीसरी गेंद को कट किया तो एक क्षण लगा बॉल बाउंड्री पार कर जाएगी, लेकिन ख्वाजा ने बाईं ओर छलांग लगाते हुए शानदार कैच लपक लिया।

 

 

द्रविड़ को पीछे छोड़ने से चूके विराट
कोहली इस मैच में राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ने से चूक गए। उन्होंने एडिलेड में अब तक 397 रन बनाए हैं। वे इस मैदान पर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों में दूसरे नंबर पर हैं। पहले पर राहुल द्रविड़ हैं। उन्होंने यहां चार टेस्ट में एक शतक की मदद 401 रन बनाए हैं। विराट यदि इस मैच में आठ रन बना ले लेते तो वे द्रविड़ को पीछे छोड़ देते। हालांकि, अभी उन्हें दूसरी पारी में बल्लेबाजी करना बाकी है। एडिलेड में सबसे ज्यादा औसत से रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज विजय हजारे हैं। उन्होंने यहां एक टेस्ट खेला, जिसमें 130.50 के औसत से 261 रन बनाए हैं।

 

ऑस्ट्रेलिया में 1000 रन से पांच रन दूर विराट
विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में 1000 पूरे करने से पांच रन दूर हैं। भारतीय बल्लेबाजों में अब तक राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और सचिन तेंडुलकर ही ऑस्ट्रेलिया में एक हजार या उससे ज्यादा रन बना पाए हैं। इस सूची में सचिन 1809 रनों के साथ सबसे आगे हैं। लक्ष्मण के नाम 1236 रन और द्रविड़ के नाम 1143 रन हैं।  विराट के ऑस्ट्रेलिया में आठ टेस्ट में 995 रन हैं।

 

लोकेश राहुल का खराब प्रदर्शन जारी
जोश हेजलवुड की गेंद पर लोकेश राहुल तीसरी स्लिप में एरोन फिंच को अपना कैच थमा बैठे। उन्होंने आठ गेंदें खेलकर दो रन बनाए। वे पिछली तीन टेस्ट में एक बार भी 35 से ज्यादा का स्कोर नहीं कर पाए हैं। उन्होंने पिछले दो टेस्ट में कुल 37 रन बनाए थे।

 

हनुमा विहारी आखिरी-11 से बाहर
विराट कोहली ने टॉस जीतने के बाद बताया, ‘हनुमा विहारी अच्छे बल्लेबाज हैं, लेकिन उन्हें बाहर बैठना पडे़गा। रोहित शर्मा आखिरी एकादश का हिस्सा रहेंगे।’वहीं ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने कहा कि उनकी टीम तीन तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतरेगी।

 

स्कोर बोर्ड : भारत (पहली पारी)

बल्लेबाज रन गेंद 4s 6s
लोकेश राहुल कै. एरोन फिंच बो. हेजलवुड 02 08 0 0
मुरली विजय कै. टिम पेन बो. मिशेल स्टॉर्क 11 22 1 0
चेतेश्वर पुजारा रन आउट (पैट कमिंस) 123 246 7 2
विराट कोहली कै. उस्मान ख्वाजा बो. कमिंस 03 16 0 0
अजिंक्य रहाणे कै. पीटर हैंड्सकॉम्ब बो. हेजलवुड 13 31 0 1
रोहित शर्मा कै. मार्क्स हैरिस बो. नॉथन लियान 37 61 2 3
ऋषभ पंत कै. टिम पेन बो. नॉथन लियान 25 38 2 1
रविचंद्रन अश्विन कै. हैंड्सकॉम्ब बो. कमिंस 25 76 1 0

इशांत शर्मा बो. मिशेल स्टॉर्क

04 20 1 0
मोहम्मद शमी नॉटआउट 06 09 1 0

एक्स्ट्रा : 1, कुल स्कोर : 250/9 ((87.5 ओवर)

विकेट पतन : 1-3, 2-15, 3-19, 4-41, 5-86, 6-127, 7-189, 8-210, 9-250

गेंदबाजी : मिशेल स्टॉर्क 19-4-63-2, जोश हेजलवुड 19.5-3-52-2, पैट कमिंस 19-3-49-2, नॉथन लियान 28-2-83-2, ट्रैविस हेड 2-1-2-0

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..