पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भारतीय फिरकी में फंसे ऑस्ट्रेलियाई:मुश्किल में टीम को संभालते दिखे अश्विन-जडेजा, मौजूदा टीम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टॉप विकेट टेकर भी

सिडनी6 महीने पहले

कोरोना और कई तरह के विवादों के बीच भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज जारी है। फिलहाल, यह 4 मैच की सीरीज 1-1 की बराबरी पर है। तीसरा मुकाबला 7 जनवरी को सिडनी और आखिरी मैच 15 को ब्रिस्बेन में खेला जाएगा। पिछला टेस्ट 8 विकेट से जीतने वाली टीम इंडिया के लिए लगातार मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं।

पहले चोटिल ईशांत शर्मा दौरे पर नहीं आए। इसके बाद मोहम्मद शमी और उमेश यादव चोटिल होकर सीरीज से बाहर हो गए। ऐसे में गेंदबाजी का पूरा दारोमदार सीनियर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा के साथ पेसर जसप्रीत बुमराह के कंधों पर आ गया है। हालांकि, अश्विन और जडेजा के रिकॉर्ड्स और सीरीज के पिछले दो मैच में प्रदर्शन को देखें तो उन्होंने टीम को बहुत अच्छे से संभाला है।

अश्विन और जडेजा पर दारोमदार
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यदि ओवरऑल विकेट टेकर भारतीय गेंदबाजों को देखें, तो उसमें मौजूदा टीम से अश्विन और जडेजा ही टॉप पर काबिज हैं। टॉप-10 लिस्ट में भी मौजूदा टीम से यह दो ही गेंदबाज हैं। हालांकि, तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा 25 टेस्ट में 59 विकेट के साथ 7वें नंबर पर काबिज हैं, लेकिन वे दौरे के लिए टीम में शामिल नहीं हैं।

डे-नाइट टेस्ट में पहली बार भारतीय स्पिनर ने विकेट लिए
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज का पहला टेस्ट डे-नाइट खेला गया था। यह भारत का विदेश में पहला और ओवरऑल दूसरा पिंक बॉल टेस्ट था। इसमें पहली बार किसी भारतीय स्पिनर ने विकेट लिए थे। इस एडिलेड टेस्ट में अश्विन ने पहली पारी में 4 और दूसरी पारी में एक विकेट लिया था। हालांकि, भारतीय टीम यह टेस्ट 8 विकेट से हार गई थी। जडेजा को इस मैच में मौका नहीं मिला था।

अश्विन ने स्मिथ को फंसाया
सीरीज की 4 पारियों में अश्विन ने दिग्गज स्टीव स्मिथ को 2 बार जाल में फंसाया। अश्विन ने ही स्मिथ को बॉक्सिंग-डे टेस्ट में पहली बार शून्य पर आउट किया। यह मैच का टर्निंग पॉइंट भी रहा। यहीं से भारत ने ऑस्ट्रेलिया पर शिकंजा कसा और उसके खिलाफ लगातार दूसरा बॉक्सिंग-डे टेस्ट भी जीता। अश्विन की फिरकी का जाल ही है कि सीमित ओवरों की सीरीज में फॉर्म में दिख रहे स्मिथ 2 टेस्ट की 4 पारियों में सिर्फ 10 रन ही बना सके।

पहले टेस्ट में शर्मसार भारतीय टीम को जडेजा ने संभाला
भारतीय टीम पहले टेस्ट की दूसरी पारी में टेस्ट इतिहास के अपने सबसे छोटा 36 रन के स्कोर पर सिमट गई थी। शमी भी चोटिल होकर सीरीज से बाहर हो गए थे। इसके बाद दूसरे टेस्ट की पहली पारी में उमेश यादव भी चोटिल होकर सीरीज से बाहर हो गए। ऐसे में दूसरे टेस्ट में जडेजा को मौका मिला और उन्होंने टीम को संभालते हुए शानदार जीत भी दिलाई।

जडेजा ने दूसरे टेस्ट में फिफ्टी लगाई और 3 विकेट भी झटके

इस ऑलराउंडर ने 3 अहम विकेट लिए। साथ ही 159 बॉल पर 57 रन की शानदार पारी भी खेली। जडेजा ने कप्तान अजिंक्य रहाणे के साथ पहली पारी में छठवें विकेट के लिए 121 रन की बड़ी और निर्णायक साझेदारी भी की। इस मैच में अश्विन ने भी 5 ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा था। दोनों ने शमी और उमेश की गैरमौजूदगी में टीम को शानदार तरीके से संभाला और ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर्स को फिरकी में उलझाए रखा।

सीरीज के टॉप-5 विकेट टेकर में अश्विन अकेले स्पिनर
मौजूदा बॉर्डर गावस्कर सीरीज के शुरुआती 2 मैच में ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस और अश्विन ने बराबर 10-10 विकेट लिए हैं। टॉप-5 विकेट टेकर्स में अश्विन अकेले स्पिनर हैं। भारतीयों में पेसर बुमराह 8 विकेट के साथ चौथे नंबर पर हैं। वहीं, जडेजा ने एक ही मैच खेला और 3 विकेट झटके हैं।

खबरें और भी हैं...