दिनेश कार्तिक का खुलासा:होटल रूम से बाहर नहीं निकले खिलाड़ी, मैच होगा या नहीं इस उलझन में 2.30 बजे तक जागते रहे

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने खुलासा किया है कि बैकअप फिजियो योगेश परमार के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद भारतीय खिलाड़ियों को घबराहट हो रही थी जिसके कारण उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें और अंतिम टेस्ट के लिए मैदान पर उतरने में चिंता जाहिर की थी।

भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैच की सीरीज का आखिरी टेस्ट कोरोना के चलते रद्द कर दिया गया है। मैच रद्द किए जाने के बाद BCCI ने कहा- दोनों बोर्ड भारत-इंग्लैंड के बीच रद्द कर दिए गए पांचवें टेस्ट मैच को फिर से आयोजित करने की दिशा में काम करेंगे, खिलाड़ियों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं।

मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से पहले भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था।
मैनचेस्टर टेस्ट के रद्द होने से पहले भारत सीरीज में 2-1 से आगे चल रहा था।

कार्तिक की हुई खिलाड़ियों से बात
टेस्ट सीरीज के दौरान कमेंटेटर की भूमिका निभाने वाले दिनेश कार्तिक ने स्काई स्पोर्ट्स से बातचीत के दौरान कहा- मैंने टीम इंडिया के कई खिलाड़ियों से बात की। चौथे टेस्ट के बाद ज्यादातर खिलाड़ी थके हुए हैं। सीरीज के चारों मैच रोमांचक रहे हैं और टीम इंडिया के पास सिर्फ एक फिजियो ही रह गया था। उस फिजियो ने सभी खिलाड़ियों के साथ बहुत काम किया और अब वो भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं। यही सबसे बड़ी दिक्कत है।

उन्होंने आगे कहा- अगर यह कोई और होता, आपको लॉजिस्टिक्स मदद की जरूरत होती तो कर देता। यह सब इतना डरावना नहीं होता, लेकिन जब फिजियो ही इसकी चपेट में आ गया तो मुझे लगता है कि उन्हें थोड़ी घबराहट होने लगी।

2:30 बजे तक जगे रहे भारतीय खिलाड़ी
कार्तिक से जब ये सवाल किया गया कि क्या इस टेस्ट को एक या दो दिन आगे टाल देना चाहिए था, तो उस पर उन्होंने कहा- ऐसा कैसे हो सकता है। टीम के ज्यादातर खिलाड़ी आज रात 2.30 बजे तक जगे रहे। वे असमंजस में थे। उन्हें पता नहीं था कि मैच होगा या नहीं। ऐसे में आज से मैच के शुरू होने का सवाल ही नहीं था।

कार्तिक ने कहा- मान लीजिए अगर ये मैच होता और 3 दिन बाद किसी खिलाड़ी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आती फिर क्या होता। उसके बाद तो टीम के अन्य खिलाड़ी भी संक्रमित होते। जिसके बाद उन्हें 10 दिन आइसोलेशन में रहना पड़ता। फिर IPL का क्या होता। ऐसा नहीं है कि वे आज निगेटिव पाए गए हैं तो 2 दिन बाद भी निगेटिव पाए जाएंगे।

रूम से बाहर तक नहीं निकले खिलाड़ी
दिनेश कार्तिक ने आगे कहा- योगेश परमार की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव सामने आने के बाद टीम का कोई भी खिलाड़ी होटल के कमरे से बाहर नहीं निकला। सभी को रूम में रहने को कहा गया था।

शास्त्री समेत 5 को हुआ कोरोना
बता दें कि, हेड कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण, फील्डिंग कोच आर श्रीधर और फिजियो नितिन पटेल चौथे टेस्ट के दौरान ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। ओवल टेस्ट के दौरान शास्त्री ने टीम होटल में बुक लॉन्च करने के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद इस बीमारी के लक्षण महसूस किए। इस कार्यक्रम में बाहर के मेहमानों को भी आने की इजाजत मिली हुई थी। इस दौरान कोचिंग स्टाफ के सभी मेंबर शास्त्री के करीबी संपर्क में थे।

इन सभी के कोरोना संक्रमित होने के बाद पांचवें टेस्ट से ठीक पहले बैकअप फिजियो योगेश परमार की कोविड-19 पॉजिटिव होने की खबर ने सभी को हैरानी में डाल दिया।

खबरें और भी हैं...