इंडियन कैंप की दो गलतियां:सीरीज से पहले बिना मास्क पहने यूरो कप देखने गए पंत, टेस्ट के दौरान शास्त्री और कोहली टीम मेंबर्स के साथ बुक लॉन्च में पहुंचे

2 महीने पहले

इंग्लैंड-इंडिया सीरीज में आखिरकार कोरोना की एंट्री क्यों हुई? इसकी वजह हैं दो बड़ी गलतियां। पहली ये कि सीरीज शुरू होने से पहले रिषभ पंत बिना मास्क पहने यूरो कप देखने गए और फिर संक्रमित भी हुए। इसके बाद सीरीज शुरू हुई तो चौथे टेस्ट के बाद कोच रवि शास्त्री बुक लॉन्च इवेंट में गए और वो भी संक्रमित हो गए। इसके बाद इंडियन कैंप में मेंबर्स का संक्रमित होना शुरू हो गया।

पहली गलती: ऋषभ पंत 10 जुलाई से पहले कोरोना पॉजिटिव आए थे। पंत 29 जून को यूरो कप के राउंड ऑफ 16 (इंग्लैंड vs जर्मनी) का मैच देखने पहुंचे थे। पंत के अलावा हनुमा विहारी और जसप्रीत बुमराह भी मैच देखने पहुंचे थे। इसके बाद थ्रो-डाउन एक्सपर्ट दयानंद गरानी की बुधवार को टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। बोर्ड ने तुरंत इन लोगों के संपर्क में आए खिलाड़ियों और स्टाफ को आइसोलेट कर दिया था। हालांकि, पंत को संक्रमण से उबरने के बाद टीम में शामिल कर लिया गया था।

दूसरी गलती: पिछले हफ्ते इंडिया के कोच रवि शास्त्री और कैप्टन विराट कोहली टीम के कुछ साथियों के साथ लंदन में एक भीड़भाड़ वाली इवेंट में शामिल हुए थे। इसके बाद रविवार को शास्त्री कोरोना संक्रमित हो गए। शास्त्री और कोहली स्टेज पर भी गए थे। इस इवेंट में जाने के लिए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड से मंजूरी भी नहीं ली गई थी। जब टीम इस इवेंट में पहुंची तो पूरा कमरा लोगों से भरा था।

BCCI से कहां हुई गलती
भारत की तरह ही इंग्लैंड में भी लॉकडाउन नहीं है। यहां पर भी सभी गतिविधियां जारी हैं। BCCI ने खिलाड़ियों और स्टाफ को चेताया था और सावधानी बरतने की सलाह दी थी, पर पंत और शास्त्री के मामले में BCCI ने सख्ती नहीं दिखाई। टीम मैनेजमेंट ऐसी सख्ती नहीं लागू कर पाया जो खिलाड़ियों और स्टाफ के सुरक्षित रहने के लिए जरूरी थी। खिलाड़ी लगातार घूमते हुए देखे गए। बताया जा रहा है कि बुक लॉन्च इवेंट केस में बोर्ड शास्त्री और कोहली से जवाब मांगेगा, लेकिन अब काफी देर हो गई है। टेस्ट सीरीज जीतने के करीब पहुंच चुकी टीम इंडिया फिलहाल नतीजे से दूर ही रहेगी, क्योंकि पांचवां टेस्ट रद्द कर दिया गया है और इसके होने या न होने को लेकर कोई फैसला नहीं हो पाया है।

खबरें और भी हैं...