टीम इंडिया की पॉसिबल प्लेइंग-XI:नई ओपनिंग जोड़ी के साथ उतर सकता है भारत, नंबर-4 पर अय्यर या सूर्या में से किसी एक को मिलेगा मौका

कानपुर10 दिन पहले

भारत और न्यूजीलैंड के बीच गुरुवार, 25 नवंबर से दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला खेला जाएगा। ये मैच कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में होगा। टी-20 सीरीज में मिली शानदार जीत के बाद अब टीम इंडिया सफेद जर्सी में भी दमदार खेल दिखाने के लिए बेताब रहेगी। हालांकि, कई स्टार खिलाड़ियों को मिले आराम के बाद कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे और हेच कोच राहुल द्रविड़ के लिए पहले टेस्ट के लिए प्लेइंग-XI का चयन आसान नहीं रहेगा।

चलिए जानने की कोशिश करते हैं कि कानपुर में भारतीय टीम किन XI खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतर सकती है।

ओपनिंग जोड़ी
इस मैच में बतौर ओपनर शुभमर गिल और मयंक अग्रवाल को देखा जा सकता है। केएल राहुल और रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में गिल-मयंक की जोड़ी को पारी का आगाज कर सकते है। राहुल चोटिल होने के चलते सीरीज से बाहर हो गए हैं, जबकि हिटमैन को आराम दिया गया है। ऐसे में मयंक और गिल के कंधों पर टीम को बढ़िया शुरुआत देने का जिम्मा रहेगा। दोनों खिलाड़ियों ने हाल फिलहाल के समय में अपने प्रदर्शन से सभी को खासा प्रभावित किया है और कानपुर में भी इस नई जोड़ी से टीम इंडिया को ऐसे ही प्रदर्शन की आस रहेगी।

नंबर-3 पर ओपनर्स के बाद चेतेश्वर पुजारा नजर आ सकते हैं। पुजारा टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक हैं और पहले मैच में उनके ऊपर रोहित और विराट कोहली की गौरमौजूदगी के चलते अच्छे प्रदर्शन का दबाव भी रहेगा।

मिडिल ऑर्डर की लड़ाई
कानपुर में विराट कोहली की जगह नंबर-4 पर कौन खेलेगा, इस पर सस्पेंस बना हुआ है। टीम में नंबर-4 के लिए श्रेयस अय्यर और सूर्यकुमार यादव के विकल्प मौजूद है। दोनों खिलाड़ियों ने लिमिटेड ओवर क्रिकेट में भारतीय टीम के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है। अय्यर और सूर्या को अभी तक टेस्ट डेब्यू का मौका नहीं मिला है, लेकिन फर्स्ट क्लास क्रिकेट में दोनों ने काफी रन बनाए हैं। अब कानपुर में कप्तान अजिंक्य रहाणे और हेच कोच राहुल द्रविड़ किसे मौका देंगे। इस पर से पर्दा टॉस के बाद ही हटेगा।

कप्तान और विकेटकीपर
नंबर-5 पर कोहली की गैरमौजूदगी में कप्तानी का कार्यभार संभालने वाले अनुभवी खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे नजर आएंगे। रहाणे ने अभी तक भारत के लिए 5 टेस्ट मैचों में कप्तानी की है और 4 मुकाबले जीते हैं। इंग्लैंड दौरे पर रहाणे फॉर्म से जूझते हुए नजर आए थे, लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ उनके पास अपनी लय वापस हासिल करने का बढ़िया मौका रहेगा। वहीं, ऋषभ पंत को मिले आराम के बाद बतौर विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा नजर आ सकते हैं। साहा के पास 38 टेस्ट मैचों का अनुभव है और भारतीय सरजमीं पर जहां गेंद नीची रहती है, वहां उनसे बढ़िया कीपर और कोई नहीं हो सकता।

ऑलराउंडर और स्पिनर्स
कानपुर में कप्तान रहाणे तीन स्पिनर्स रवींद्र जडेजा, अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन के साथ मैदान पर उतर सकते हैं। ये तीनों खिलाड़ी न सिर्फ स्पिनर्स बल्कि टीम में ऑलराउंडर की भूमिका भी निभाते हैं। पिछले कुछ समय में जडेजा टेस्ट में लगातार बेस्ट बनकर सामने आए हैं। गेंद और बल्ले दोनों से वह अहम भूमिका निभा रहे हैं। निचले क्रम पर इस फॉर्मेट में उनकी बैटिंग देखते ही बनती है। अब तक खेले 56 टेस्ट मैचों में उन्होंने 2145 रन बनाने के साथ 227 विकेट चटकाए हैं।

आर अश्विन की बात करें, तो नीली जर्सी में दमदार वापसी के बाद अब वो लाल गेंद से फिर से जलवा बिखरते नजर आएंगे। भारत में अश्विन का सामना करना दुनिया की किसी भी टीम के लिए आसान काम नहीं है। भारत में खेले 87 टेस्ट मैचों में उन्होंने 286 विकेट हासिल किए हैं और बल्ले से भी 3 शतक लगाए हैं। तीसरे स्पिनर के रूप में अक्षर पटेल नजर आ सकते हैं। इस साल इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में टेस्ट डेब्यू करते हुए 3 मैचों में 27 विकेट हासिल किए थे।

पेस अटैक
कानपुर में इशांत शर्मा और उमेश यादव को प्लेइंग-XI का टिकट मिल सकता है। जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की गैरमौजूदगी में पेस अटैक का कमान इशांत शर्मा के कंधों पर रहेगी। 100 से ज्यादा टेस्ट मैच खेलने वाले इशांत का अनुभव भारतीय टीम के बहुत काम आ सकता है। साथ ही उनके जोड़ीदार के रूप में उमेश की जगह लगभग पक्की नजर आती है। उमेश के पास भी 49 टेस्ट का अनुभव है और वह लंबे समय से टीम के साथ जुड़े हुए हैं। ENG के खिलाफ खेले अपने आखिरी मैच में भी उन्होंने बढ़िया प्रदर्शन करते हुए 6 विकेट चटकाए थे।

खबरें और भी हैं...