भारत-न्यूजीलैंड के बीच मैच थोड़ी देर में, स्कोरकार्ड के लिए क्लिक करें

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भारत ने न्यूजीलैंड में अब तक दो टी-20 खेले, एक भी नहीं जीत पाया
  • आईसीसी रैंकिंग में भारत पहले जबकि न्यूजीलैंड छठे नंबर की टीम

FULL SCORECARD पर क्लिक करें।

 

  • न्यूजीलैंड ने 20 ओवर में 6 विकेट पर 219 रन बनाए, टिम सिफर्ट ने 43 गेंद में 84 रन की पारी खेली
  • लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 19.2 ओवर में 139 रन पर ऑलआउट हो गई
  • भारत ने न्यूजीलैंड में अब तक तीन टी-20 खेले, एक भी जीत हासिल नहीं कर पाया
  • इस जीत के बाद मेजबान टीम तीन टी-20 की सीरीज में 1-0 से आगे


वेलिंगटन. न्यूजीलैंड ने तीन मैच की सीरीज के पहले टी-20 में बुधवार को भारतीय टीम को 80 रन से हरा दिया। भारत ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। हालांकि, कप्तान रोहित शर्मा का यह फैसला सही नहीं साबित हुआ। न्यूजीलैंड ने ओपनर कॉलिन मुनरो और टिम सिफर्ट की तेज पारियों के दम पर 20 ओवर में 6 विकेट पर 219 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 19.2 ओवर में 139 रन पर ऑलआउट हो गई। टी-20 में रन के लिहाज से भारत की यह सबसे बड़ी हार है। भारत का न्यूजीलैंड में मेजबान टीम के खिलाफ यह तीसरा टी-20 मुकाबला था। टीम इंडिया एक में भी जीत नहीं पाई है।

 

सिफर्ट ने 84 में से 64 रन बाउंड्री से बनाए

न्यूजीलैंड की ओर से सिफर्ट ने सबसे ज्यादा 84 रन बनाए। उन्होंने 43 गेंद की अपनी पारी में सात चौके और छह छक्के लगाए। वे मैन ऑफ द मैच चुने गए। उनके अलावा मुनरो ने 20 गेंद में 34 रन, कप्तान केन विलियम्सन ने 22 गेंद में 34 रन, रॉस टेलर ने 14 गेंद में 23 रन और स्कॉट कुगेलजिन ने 7 गेंद में 20 रन की पारी खेली। भारत की ओर से हार्दिक पंड्या ने 51 रन देकर 2 विकेट लिए। वहीं, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, क्रुणाल पंड्या और युजवेंद्र चहल के खाते में एक-एक विकेट आए।

 

भारतीय टीम की खराब शुरुआत

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत की शुरुआत खराब रही। कप्तान रोहित शर्मा पारी की 14वीं गेंद पर ही पवेलियन लौट गए। वे पांच गेंद खेलकर सिर्फ एक रन ही बना पाए। 77 रन तक उसके छह खिलाड़ी पवेलियन लौट चुके थे। महेंद्र सिंह धोनी 39 रन बनाकर भारत के टॉप स्कोरर रहे। उनके अलावा शिखर धवन ने 29, विजय शंकर ने 27 और क्रुणाल पंड्या ने 20 रन की पारी खेली। इन चारों के अलावा भारत को कोई भी बल्लेबाज दहाई के अंक तक नहीं पहुंच पाया। रोहित, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल और खलील अहमद एक-एक रन ही बना पाए। न्यूजीलैंड की ओर से टिम साउदी ने सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए। उनके अलावा लॉकी फर्ग्युसन, मिशेल सैंटनर और ईश सोढ़ी ने 2-2 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा। डेरिल मिशेल को एक विकेट मिला।

 

ऐसे गिरे भारतीय टीम के विकेट

  • पहला विकेट (2.2 ओवर) : टिम साउदी की शॉर्ट गेंद को रोहित शर्मा ने पुल करने की कोशिश की। हालांकि, गेंद उनके बैट के बीच में नहीं आ पाई और लॉकी फर्ग्युसन ने डीप स्क्वायर लेग से आगे की ओर दौड़ते हुए उनका कैच पकड़ लिया। इस समय भारतीय टीम का स्कोर 18 रन ही था।
  • दूसरा विकेट (5.3 ओवर) : शिखर धवन ने एक गेंद पहले ही चौका जड़ा था, लेकिन लॉकी फर्ग्युसन की यह गेंद यॉर्कर थी। धवन ने बैट और पैड की मदद से इसे खेलने की कोशिश की। हालांकि 151 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाली फर्ग्युसन की यह गेंद उनका स्टम्प ले उड़ी।

Dhawan goes for 29 after looking ominous. Ferguson in the action again with a top yorker that hit Dhawan\'s pads and then the stumps. India 51/2 in the 6th. LIVE scoring | https://t.co/Dbnn1dR7t6 #NZvIND 📷= @PhotosportNZ pic.twitter.com/9TDcGfmHDg

— BLACKCAPS (@BLACKCAPS) February 6, 2019
  • तीसरा विकेट (8.2 ओवर) : मिशेल सैंटनर को ऋषभ पंत का विकेट लेने में किसी की मदद नहीं लेनी पड़ी। उनकी यह गेंद यॉर्कर थी। ऋषभ ने अपना बल्ला अड़ाने की कोशिश की, लेकिन गेंद स्टम्प में जा लगी। ऋषभ चार रन ही बना पाए। इस समय टीम का स्कोर 64 रन ही था।
  • चौथा विकेट (8.4 ओवर) : विजय शंकर ने सैंटनर की इस गेंद को उनके सिर के ऊपर से खेलने की कोशिश की। हालांकि, गेंद उनके बल्ले के बीचोंबीच नहीं आई और लॉंग-ऑफ पर खड़े कोलिन डी ग्रैंडहोम ने आसान कैच लपक लिया। टीम के खाते में सिर्फ एक रन ही और जुड़ पाए थे।
  • पांचवां विकेट (10.2 ओवर) : ईश सोढ़ी का यह पहला ओवर था। दिनेश कार्तिक ने स्लॉग स्वीप कर गेंद को बाउंड्री के पार भेजने की कोशिश की। हालांकि, वे गेंद उनके बल्ले का ऊपरी किनारे पर लगी और मिडविकेट पर खड़े टिम साउदी ने थोड़ी मशक्कत के बाद उनका कैच पकड़ लिया। भारत की आधी टीम 72 रन पर पवेलियन लौट चुकी थी।
  • छठा विकेट (10.6 ओवर) : सोढ़ी के ओवर की आखिरी गेंद फुललेंथ और बाहर की ओर जा रही थी। हार्दिक पंड्या ने इसे डीप एक्सट्रा कवर की ओर खेलने की कोशिश की, लेकिन असफल रहे। डेरिल मिशेल ने बाउंड्री लाइन पर आसानी से उनका कैच पकड़ लिया। पंड्या चार रन ही बना पाए। हार्दिक के आउट होने के समय भारत का स्कोर 77 रन था।
  • सातवां विकेट (16.6 ओवर) : टिम साउदी ने अपने तीसरे ओवर की आखिरी गेंद फुल-टॉस फेंकी। क्रुणाल ने इसे पुल करने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके बल्ले का अंदरुनी किनारे से छूती हुई विकेट के पीछे गई। विकेटकीपर टिम सिफर्ट ने अपने बाईं ओर दौड़ते हुए शानदार कैच पकड़ लिया। क्रुणाल ने महेंद्र सिंह धोनी के साथ मिलकर इस विकेट के लिए 52 रन जोड़े।
  • आठवां विकेट (17.5 ओवर) : लॉकी फर्ग्युसन की इस गेंद पर भुवनेश्वर ने ड्राइव करने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके बल्ले का निचला किनारा छूते हुई विकेटकीपर टिम सिफर्ट के दाहिने ओर उछली। सिफर्ट ने भी छलांग लगाते हुए कैच पकड़ लिया। इस टीम का स्कोर 132 रन था।
  • नौवां विकेट (18.6 ओवर) :  टिम साउदी की यह गेंद थोड़ी शॉर्ट थी और मिडिल स्टम्प की ओर आ रही थी। महेंद्र सिंह धोनी ने इसे पुल करने की कोशिश की। गेंद उनके बल्ले से लगती हुई डीप स्क्वायर लेग में खड़े फर्ग्युसन के हाथों में पहुंच गई। टीम के खाते में चार रन ही और जुड़ पाए थे।
  • दसवां विकेट (19.2 ओवर) :  डेरिल मिशेल की यह गेंद फुल टॉस थी। युजवेंद्र चहल ने लॉंग-ऑन की ओर स्लॉग करने की कोशिश की, लेकिन वे चूक गए और गेंद उनका विकेट ले उड़ी। इसके साथ ही भारतीय टीम 80 रन से मैच हार गई।

 

ऐसे गिरे न्यूजीलैंड के विकेट

  • पहला विकेट, (8.2 ओवर) : कॉलिन मुनरो ने क्रुणाल पंड्या की इस गेंद को ऑफ स्टम्प के ऊपर से खेला। हालांकि, गेंद उनके अनुमान से ज्यादा स्विंग हुई और लॉंग-ऑन पर विजय शंकर ने उनका कैच पकड़ने में कोई गलती नहीं की। मुनरो के आउट होने के समय न्यूजीलैंड का स्कोर 86 रन था।
  • दूसरा विकेट (12.4 ओवर) : खालिद खलील अहमद की यह गेंद यॉर्कर थी। टिम सिफर्ट इसे खेलने से चूक गए और गेंद उनका विकेट ले उड़ी। उन्होंने 43 गेंद पर 84 रन बनाए। इस समय न्यूजीलैंड का स्कोर 134 रन था।
  • तीसरा विकेट (14.6 ओवर) : हार्दिक पंड्या की बाहर जाती फुल लेंथ गेंद को डेरिल मिशेल ने बाउंड्री पार भेजने की कोशिश की। गेंद बाउंड्री के पार ही गिरती लेकिन लॉंग-ऑन पर दिनेश कार्तिक ने न सिर्फ उनके खाते में छह रन जुड़ने से रोके, बल्कि शानदार कैच पकड़कर उन्हें पवेलियन का रास्ता भी दिखा दिया। न्यूजीलैंड के खाते में इस समय तक 164 रन जुड़ चुके थे।
  • चौथा विकेट (15.1 ओवर) : युजवेंद्र चहल की यह गेंद गुगली थी। केन विलियम्सन ने इस सीधे फ्लिक करने की कोशिश की। गेंद उनके बल्ले पर पूरी तरह से नहीं आई और डीप मिडविकेट पर हार्दिक पंड्या ने उनका कैच पकड़ लिया। टीम का स्कोर अभी 164 रन ही था।
  • पांचवां विकेट (17.5 ओवर) :  हार्दिक पंड्या की यह फुल-टॉस गेंद थी। कमर से नीचे इस गेंद पर कोलिन डी ग्रैंडहोम ने छक्का लगाने की कोशिश की। हालांकि, डीप स्क्वायर लेग पर सबस्टीट्यूट फील्डर मोहम्मद सिराज ने शानदार कैच पकड़ लिया। न्यूजीलैंड के खाते में 189 रन जुड़ चुके थे।

  • छठा विकेट (18.1 ओवर) : भुवनेश्वर कुमार की बाहर जाती इस गेंद को रॉस टेलर ने उठाकर खेला। गेंद उनके बल्ले का ऊपरी किनारा लेते हुए शॉर्ट फाइन लेग पर खड़े खलील अहमद के हाथों में पहुंच गई। इस समय टीम का स्कोर 191 रन था।

 

हार्दिक-क्रुणाल की जोड़ी वनडे में एक साथ खेलने वाली भारतीय भाइयों की तीसरी जोड़ी
मैच में हार्दिक पंड्या और उनके भाई क्रुणाल पंड्या दोनों खेल रहे हैं। वनडे में भारतीय भाइयों की यह तीसरी जोड़ी है जो एक ही मैच में भारत का प्रतिनिधित्व कर रही है। इससे पहले मोहिंदर अमरनाथ और सुरिंदर अमरनाथ और इरफान पठान और यूसुफ पठान भी वनडे में एक साथ मैदान पर उतर चुके हैं। मोहिंदर और सुरिंदर ने तीन वनडे एक साथ खेले हैं। इरफान और यूसुफ आठ वनडे और इतने ही टी-20 में एक साथ भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। हार्दिक और क्रुणाल टी-20 में एक साथ भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं।

 

डेरिल मिशेल का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू

न्यूजीलैंड के डेरिल मिशेल ने इस टी-20 से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया। वहीं, भारत ने तीन ऑलराउंडर विजय शंकर, हार्दिक पंड्या और क्रुणाल पंड्या के साथ उतरने का फैसला किया। 15 सदस्यीय भारतीय टीम के तीनों विकेटकीपर बल्लेबाज अंतिम-11 में शामिल हैं। कुलदीप यादव और केदार जाधव आखिरी एकादश में जगह बनाने में नाकाम रहे।

 

दोनों टीमें इस प्रकार हैं :
भारत :
रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, ऋषभ पंत, विजय शंकर, दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल, खलील अहमद।
न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), कॉलिन मुनरो, टिप सिफर्ट (विकेटकीपर), डेरिल मिशेल, रॉस टेलर, कोलिन डी ग्रांडहोम, मिशेल सैंटनर, स्कॉट कुगेलजिन, टिम साउदी, ईश सोढ़ी, लॉकी फर्ग्युसन।