• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Indian Captian Virat Kohli Praise T Natrajan Shardul Thakur Bowling Also Thanks Hardik Pandya Ravindra Jadeja Partnership

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत की पहली जीत:कोहली बोले- बॉलिंग फ्रेंडली पिच से आत्मविश्वास मिला, पंड्या-जडेजा की पार्टनरशिप भी अहम रही

कैनबराएक वर्ष पहले
मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि यह संतोषजनक बात है कि हमारी पारी के पहले हाफ में और आस्ट्रेलियाई पारी के दूसरे हाफ में हम दबाव में थे, लेकिन हमने दोनों बार वापसी की। - Dainik Bhaskar
मैच के बाद विराट कोहली ने कहा कि यह संतोषजनक बात है कि हमारी पारी के पहले हाफ में और आस्ट्रेलियाई पारी के दूसरे हाफ में हम दबाव में थे, लेकिन हमने दोनों बार वापसी की।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया की पहली जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि गेंदबाजों की मददगार पिच से आत्मविश्वास मिला। आज हमनें पावरप्ले से लेकर डेथ ओवर तक ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर दबाव बनाए रखा।

उन्होंने हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा की पार्टनरशिप के बारे में कहा कि यह हमारे लिए काफी अहम थी। इसकी वजह से ही हम अपने बॉलर्स को डिफेंड करने लायक स्कोर दे पाए।

शुरुआती दो वनडे फ्लैट पिचों पर हुए
शुरुआती दो वनडे सिडनी क्रिकेट ग्राउंड की फ्लैट पिच पर खेले गए थे, जिसमें आस्ट्रेलिया ने दोनों मैचों में पहले बल्लेबाजी करते हुए 350 से ज्यादा का स्कोर खड़ा किया था। तीसरा मैच मनुका ओवल मैदान की पिच पर खेला गया, जहां आस्ट्रेलिया 303 रनों का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई और 13 रनों से मैच हार गई।

हमनें शानदार वापसी की : कोहली
मैच के बाद कोहली ने कहा कि यह संतोषजनक बात है कि हमारी पारी के पहले हाफ में और आस्ट्रेलियाई पारी के दूसरे हाफ में हम दबाव में थे, लेकिन हमने दोनों बार वापसी की। मुझे लगता है कि पिच गेंदबाजों की मदद करने के लिहाज से काफी बेहतर थी और इससे हमें आत्मविश्वास मिला। हम इस वजह से ऑस्ट्रेलिया को दबाव में ला पाए।

कोहली फिर बड़े स्कोर से चूके
उन्होंने कहा कि 13-14 साल इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने के बाद मैंने यह जाना है कि आपको उस तरह की वापसी करनी आनी चाहिए जो हमने की। कोहली ने इस मैच में 63 रनों की पारी खेली, लेकिन उनके आउट होने के बाद भारत लड़खड़ाती दिख रही थी। हार्दिक पांड्या ने नाबाद 92 और रवींद्र जडेजा ने नाबाद 66 रनों की पारी खेली और 150 रनों की साझेदारी कर टीम को 302 के स्कोर तक पहुंचाया।

कोहली ने कहा कि मैं थोड़ा और खेलना चाहता था, लेकिन दुर्भाग्यवश आउट हो गया था। हार्दिक और जडेजा की अच्छी साझेदारी हुई। इसी की टीम को जरूरत थी। हम दिल से खेले और यही ऑस्ट्रेलिया में करना चाहिए।