बुमराह-शमी का ग्रैंड वेलकम:अंतिम दिन लंच तक 77 रनों की पार्टनरशिप के बाद ऐसे हुआ था लॉर्ड्स के पवेलियन में दोनों खिलाड़ियों का स्वागत, VIDEO

एक वर्ष पहले

भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया लॉर्ड्स टेस्ट टीम इंडिया के नाम रहा। अंतिम दिन के खेल में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह ने अपनी बल्लेबाजी से सभी का दिल जीत लिया। दोनों ने 9वें विकेट के लिए रिकॉर्ड नाबाद 89 रनों की साझेदारी निभाई। शमी ने 70 गेंदों पर नाबाद 54 और बुमराह ने 64 गेंदों पर नाबाद 34 रनों की नायाब पारियां खेली।

शास्त्री से कोहली तक सभी ने शमी-बुमराह को दी शाबाशी
89 रनों की यादगार साझेदारी निभाने वाले शमी और बुमराह का ड्रेसिंग रूम में जोरदार स्वागत देखने को मिला। पांचवे दिन जब दोनों खिलाड़ी पहला सत्र खत्म होने के बाद ड्रेसिंग रूम पहुंचे तो टीम के साथी खिलाड़ियों ने स्टैंडिंग ओवेशन देकर उनका भव्य स्वागत किया। मुख्य कोच रवि शास्त्री से लेकर कप्तान विराट कोहली तक सभी शमी-बुमराह को शाबाशी देते नजर आए। अंतिम दिन के पहले सत्र तक दोनों खिलाड़ियों के बीच 77 रनों की साझेदारी हो चुकी थी।

टीम को संकट से निकाला
भारत ने अपना आठवां विकेट 209 रनों के स्कोर पर गंवा दिया था और हार टीम के सर पर मंडरा रही थी, लेकिन तभी शमी और बुमराह ने मोर्चा संभाला और सभी को हैरानी में डाल दिया। दोनों खिलाड़ियों ने मैदान के हर एक कोने में दिलकश शॉट्स लगाए और नाबाद 89 रनों की साझेदारी निभा टीम को संकट से निकालने का काम किया।

रिकॉर्ड तोड़ साझेदारी
शमी और बुमराह के बीच हुई 89 रनों की नाबाद साझेदारी 9वें विकेट के लिए लॉर्ड्स के मैदान पर भारत की सबसे बड़ी साझेदारी रही। इस जोड़ी से पहले 1982 में कपिल देव और मदन लाल ने 9वें विकेट के लिए 66 रन जोड़े थे। साथ ही यह इंग्लैंड की जमीन पर 9वें विकेट के लिए भारत की सबसे बड़ी पार्टनरशिप भी रही।

151 रनों से जीता भारत
इस पार्टनरशिप के दम पर टीम इंडिया ने इंग्लैंड के सामने 272 रनों का लक्ष्य रखा और मेजबान टीम 51.5 ओवर के खेल में सिर्फ 120 रनों के स्कोर पर सिमट गई और भारतीय टीम ने ये मुकाबला 151 रनों के बड़े अंतर से जीतकर अपने नाम किया।

खबरें और भी हैं...