बाहर बैठे लोग क्या कहते हैं यह सोचने लगा तो घर पर ही बैठा रहूंगा, गंभीर के बयान पर विराट

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • केकेआर के पूर्व कप्तान गंभीर ने आरसीबी कप्तान की नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाए थे
  • विराट ने कहा- मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देता हूं, बाकी किसी की परवाह नहीं करता

चेन्नई. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में विराट कोहली की नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाने वाले गौतम गंभीर को भारतीय कप्तान ने जवाब दिया है। विराट का कहना है कि यदि वे यह सोचते कि बाहर बैठे लोग क्या कह रहे हैं तो आज घर पर बैठे होते। गंभीर ने हाल ही में कहा था कि विराट पिछले 8 साल से रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) को आईपीएल का खिताब नहीं दिला पाए हैं। इसके बावजूद वे कप्तान बने हुए हैं, भाग्यशाली हैं।

 

गंभीर की अगुआई में कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) दो बार आईपीएल की चैम्पियन रही है।

 

मैं भी आईपीएल जीतना चाहता हूं : विराट

गंभीर के बयान पर विराट ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर का नाम लिए बिना कहा, ‘निश्चित तौर पर, आप आईपीएल जीतना चाहते हैं। मैं वही कर रहा हूं, जैसी मुझसे उम्मीद की जाती है। मैं इसकी परवाह नहीं करता कि मेरे आईपीएल जीतने या नहीं जीतने पर मेरी आलोचना होगी। आप किसी भी तरह की सीमाएं नहीं बनाते। मैं कोशिश करता हूं कि अपना सर्वश्रेष्ठ दूं। मैं सभी संभावित खिताब जीतना चाहता हूं, लेकिन कभी कभार ऐसा नहीं होता।’

 

दबाव में गलत फैसले लेने के कारण चैम्पियन नहीं बन पाए

मैदान और उसके बाहर जुझारू रवैया रखने वाले विराट ने कहा, ‘हमें इसे लेकर व्यावहारिक तौर पर विचार करना चाहिए कि हम क्यों नहीं जीत पाए। ऐसा दबाव भरे हालत में खराब फैसले करने से हुआ। अगर मैं बाहर बैठे लोगों की तरह सोचने लगूंगा तो मैं पांच मैच भी नहीं खेल पाऊंगा। मैं घर पर ही बैठा रहूंगा।’

 

धोनी की कोहली से तुलना नहीं की जा सकती : गंभीर

गंभीर के मुताबिक, ‘कोहली और महेंद्र सिंह धोनी को एक तराजू में नहीं तौला जा सकता, क्योंकि भारत के मौजूदा कप्तान ने अपने पूर्ववर्ती के मुकाबले एक बार भी आईपीएल नहीं जीता है।’ धोनी चेन्नई सुपरकिंग्स को तीन बार चैम्पियन बना चुके हैं। गंभीर ने कोहली की उप कप्तान रोहित शर्मा से भी तुलना की थी। रोहित की अगुआई वाली मुंबई इंडियंस भी 3 बार आईपीएल चैम्पियन रह चुकी है।
 

खबरें और भी हैं...