• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • IPL 2020 Sourav Ganguly| Indian premier league cancellation on cards after three week lockdown and Olympic postponement

कोरोना का असर / लॉकडाउन और ओलिंपिक टलने के बाद आईपीएल भी रद्द हो सकता, गांगुली बोले- 10 दिन में कुछ नहीं बदला

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (दाएं) और सचिव जय शाह। (फाइल) बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (दाएं) और सचिव जय शाह। (फाइल)
X
बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (दाएं) और सचिव जय शाह। (फाइल)बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (दाएं) और सचिव जय शाह। (फाइल)

  • बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- हम वहीं खड़े हैं, जहां हम इसे टालने का फैसला करते वक्त थे
  • बीसीसीआई ने कोविड-19 और वीजा प्रतिबंधों के कारण 15 अप्रैल तक आईपीएल टाल दिया था

दैनिक भास्कर

Mar 25, 2020, 12:30 AM IST

खेल डेस्क. कोरोनावायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश में 21 दिन की लॉकडाउन के ऐलान के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई पर आईपीएल को रद्द करने का दबाव बढ़ गया है। बीसीसीआई ने इस महीने की शुरुआत में ही लीग को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया था, तब बोर्ड ने कहा था कि हालात सुधरते ही टूर्नामेंट को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा। हालांकि, देश में तेजी से कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्या बढ़ने लगी। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, देश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 536 हो गई है, वहीं मरने वालों का आंकड़ा भी 10 हो गया। 

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने न्यूज एजेंसी से कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए उनके पास इस मामले पर फिलहाल कुछ कहने के लिए नहीं है। गांगुली ने कहा- हम उसी जगह खड़े हैं, जहां हम इसे टालने का फैसला करते वक्त थे। पिछले 10 दिनों में कुछ भी नहीं बदला है। ऐसे में मेरे पास इसका कोई जवाब नहीं है। वहीं, पंजाब फ्रेंचाइजी के को-ऑनर नेस वाडिया तो लीग को रद्द करने के पक्ष में हैं। उन्होंने कहा कि बड़े टूर्नामेंट के आयोजक के तौर पर हमें बड़ी जिम्मेदारी के साथ काम करने की जरूरत है। 

बोर्ड ने फ्रेंचाइजियों के साथ होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग टाली
उन्होंने सवाल उठाया कि अगर मई तक हालात सुधर भी जाते हैं और मुझे ऐसा होने की उम्मीद भी है, तो भी हमारे पास कितना वक्त रहेगा। क्या उस सूरत में विदेशी खिलाड़ियों को देश में आने की अनुमति मिलेगी।? इससे पहले, मंगलवार को बीसीसीआई ने फ्रेंचाइजियों के साथ होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग टाल दी थी। इसके बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि  बीसीसीआई को अब भी स्थिति में सुधार की संभावना दिख रही, इसलिए वह कोई ठोस फैसला नहीं ले पा रही है। हालांकि, ओलिंपिक 1 साल टलने के बाद अब उसके पास भी ज्यादा विकल्प नहीं बचे हैं। 

'ओलिंपिक से छोटा टूर्नामेंट है आईपीएल'
इस मामले से जुडे बीसीसीआई पदाधिकारी ने एजेंसी से कहा- अगर ओलंपिक को 1 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है, तो आईपीएल उस लिहाज से बहुत छोटा टूर्नामेंट है। हमें यह भी सोचना चाहिए, जब सरकार देश में 21 दिन का लॉकडाउन कर रही है तो क्या विदेशी खिलाड़ियों को वीजा मिल जाएगा। ऐसे में लॉकडाउन हटने के बाद भी हालात टूर्नामेंट कराने लायक शायद ही हों। ऐसे में लीग को रद्द नहीं करना समझ से परे होगा।  

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना