• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • IPL 2020 | IPL 2020 Starts On March 29 At The Wankhede Stadium In Mumbai Final Will Play On May 24 IPL 2020 Schedule

फाइनल 24 मई को; एक दिन में केवल एक मैच; इस सीजन में 6 दिन ज्यादा चलेगा टूर्नामेंट

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
आईपीएल का पिछला सीजन 51 दिन तक चला था। (फाइल) - Dainik Bhaskar
आईपीएल का पिछला सीजन 51 दिन तक चला था। (फाइल)
  • आईपीएल के 13वें सीजन की शुरुआत 29 मार्च को, 57 दिन चलेगा टूर्नामेंट
  • आईपीएल का पहला मुकाबला मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगा

खेल डेस्क. आईपीएल के 13वें सीजन का फाइनल इस साल 24 मई को खेला जाएगा। टूर्नामेंट की शुरुआत 29 मार्च को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगी। सूत्रों के मुताबिक टूर्नामेंट 57 दिन तक चलेगा। इस सीजन में एक दिन में केवल एक मैच होगा और शाम साढ़े सात बजे शुरू होगा। 


न्यूज एजेंसी को सूत्र ने बताया, अभी आईपीएल का पूरा शेड्यूल तैयार नहीं है। लेकिन यह तय है कि टूर्नामेंट का फाइनल 24 मई को होगा और इसकी शुरुआत 29 मार्च को मुंबई में होगी। इसका मतलब आयोजन समिति को 45 दिन से ज्यादा का वक्त मिलेगा। 2019 में टूर्नामेंट 51 दिन चला था। ऐसे में एक दिन में एक मैच करवाने में किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। 

ब्रॉडकास्टर जल्दी मैच शुरू करने के पक्ष में 
सूत्र ने न्यूज एजेंसी को बताया कि आईपीएल का प्रसारणकर्ता जल्दी मैच शुरू करना चाहता है। यह सिर्फ ब्रॉडकास्टर की बात नहीं है, बल्कि यह मसला पिछले सीजन में देर रात खत्म हुए मैचों से भी जुड़ा है। उन्होंने कहा, देखिए, टीआरपी का सवाल जरूर है। लेकिन आप सिर्फ उसे ही मत देखिए। पिछले साल मैच कितनी देर से खत्म हुए थे। ऐसे में स्टेडियम पहुंचे दर्शकों को घर पहुंचने में काफी परेशानी हुई थी। इस बारे में काफी बात की गई और यह लगभग तय है कि इस सीजन में मैच रात साढ़े सात बजे शुरू होंगे।

फ्रेंचाइजी का मानना- ऑफिस के बाद 7:30 बजे स्टेडियम पहुंचना मुश्किल
फ्रेंचाइजी का मानना है कि ऑफिस से छूटने के बाद शाम साढ़े सात बजे दर्शकों का स्टेडियम पहुंचना नामुमकिन होगा। इसके पीछे उनका तर्क है कि अगर आप मेट्र्रो सिटी में हैं तो वहां के ट्रैफिक के बारे में कुछ नहीं कह सकते। खासतौर पर दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु जैसे महानगरों में जहां आईपीएल के मैच होने हैं, क्या वाकई यह संभव है कि यहां लोग 6 बजे ऑफिस से निकल जाएं और फिर परिवार के साथ तय वक्त पर स्टेडियम पहुंच जाएं?। ऐसे में मैच के वक्त में बदलाव से पहले इस विषय को भी ध्यान में रखना होगा।  

दोपहर में दर्शक जुटाना मुश्किल 
वहीं, एक दिन में दो मुकाबलों के मामले में भी फ्रेंचाइजी का कहना है, ब्रॉडकास्टर्स दोपहर 4 बजे मैच नहीं चाहते।कमाई के लिहाज से यह फ्रेंचाइजी और टीमों के लिए भी ठीक नहीं है, क्योंकि दोपहर के वक्त दर्शकों को स्टेडियम तक लाना आसान नहीं होगा।