IPL में बगावत के सुर:DC और KKR ने कहा- मेगा ऑक्शन का ड्रामा बंद हो, लंबे समय तक टीम बरकरार रहना जरूरी

मुंबई2 महीने पहले

इंडियन प्रीमियर लीग 2022 के लिए मेगा ऑक्शन होने जा रहा है। लेकिन इससे पहले टीम एडमिनिस्ट्रेशंस की तरफ से IPL की मौजूदा व्यवस्था के खिलाफ बगावत के सुर सुनाई देने लगे हैं। टीमों ने रिटेन खिलाड़ियों की लिस्ट सौंप दी है, पर उनका मानना है कि अब खिलाड़ियों का मेगा ऑक्शन नहीं होना चाहिए। अब इसे खत्म करने पर विचार करने का समय आ गया है। कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के मुख्य अधिकारी वेंकी मैसूर और दिल्ली कैपिटल्स के पार्थ जिंदल का मानना है कि IPL की बड़ी नीलामी अब उतनी उपयोगी नहीं रही।

अब नीलामी की जरूरत नहीं
दोनों अधिकारियों ने कहा कि अब बड़ी नीलामी की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि बड़ी नीलामी सभी के लिए एक समान नहीं रही। मैसूर ने क्रिकेट की वेबसाइट ईएसपीएन से बातचीत में कहा, लीग के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ आ रहा है, जहां आपको यह सवाल करना होगा कि क्या एक बड़ी नीलामी की जरूरत है। आने वाले नए खिलाड़ियों के लिए ड्राफ्ट तय किए जा सकते है या फिर आपसी सहमति से उन्हें ले सकते हैं। खिलाड़ियों को लोन पर लिया जा सकता है और हमें लंबे समय के लिए टीम बनाने की अनुमति दे सकते हैं।

मैसूर ने कहा कि IPL टीमों के पास अपनी-अपनी एकेडमी है और अपनी स्काउटिंग प्रणाली है, जो युवा और अनकैप्ड प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़ती है और उन्हें भविष्य के लिए तैयार करती है। ये सब करने के बाद खिलाड़ियों को नीलामी में भेजने के बजाय उनको रिटेन कराकर फ्रेंचाइजियों को निवेश का लाभ दिया जा सकता है। एक समय था, जब बड़ी नीलामी सभी टीमों को एक समान स्तर पर लाने का काम करती थी। हालांकि तब भी हमें ऐसा लगता था कि अगर आप टीमों को कुछ खिलाड़ियों को वापस चुनने का अधिकार दे रहे हैं तो वह रिटेंशन द्वारा नहीं बल्कि राइट-टू-मैच (आरटीएम) कार्ड के जरिए होना चाहिए।

श्रेयस अय्यर और शिखर धवन को इस बार दिल्ली कैपिटल्स रिटेन नहीं कर सका है।
श्रेयस अय्यर और शिखर धवन को इस बार दिल्ली कैपिटल्स रिटेन नहीं कर सका है।

तीन साल बाद खिलाड़ियों को खो देना सही नहीं
वहीं, जिंदल ने IPL की ऑफिशियल ब्रॉडकास्टर मीडिया कंपनी से खिलाड़ियों के रिटेन पर चर्चा करते हुए कहा, श्रेयस अय्यर, शिखर धवन, कगिसो रबाडा, अश्विन को खोना दिल तोड़ने वाला था। IPL की रिटेन पॉलिसी इस तरह है कि हम इन खिलाड़ियों को रिटेन नहीं कर सके। मुझे लगता है कि आगे बढ़ते हुए IPL को इस पर गौर करने की जरूरत है, क्योंकि यह उचित नहीं है कि आप एक टीम बनाएं, आप युवाओं को मौका दें, आप उन्हें अपने सेट-अप के माध्यम से तैयार करें। उन्हें अवसर मिलते हैं, वे आपकी फ्रेंचाइज़ी के लिए खेलते हैं, फिर वे जाकर काउंटी या अपने-अपने देशों के लिए खेलते हैं और फिर तीन साल बाद आप उन्हें खो देते हैं।

चार टीमों ने चार-चार खिलाड़ियों को किया रिटेन
दिल्ली कैपिटल्स, कोलकाता नाइटराइडर्स, चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस ने चार-चार खिलाड़ियों को रिटेन किया है, जबकि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद और राजस्थान रॉयल्स ने तीन-तीन खिलाड़ियों को रिटेन किया है। वहीं पंजाब किंग्स ने 2 खिलाड़ियों को रिटेन किया है।

खबरें और भी हैं...