कोरोना का असर / आईपीएल होना मुश्किल, विदेशी खिलाड़ियों को वीजा मिलने की तारीख भी बढ़ सकती है

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- हम वहीं पर खड़े हैं। कुछ हालात नहीं बदले। -फाइल फोटो बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- हम वहीं पर खड़े हैं। कुछ हालात नहीं बदले। -फाइल फोटो
X
बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- हम वहीं पर खड़े हैं। कुछ हालात नहीं बदले। -फाइल फोटोबीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- हम वहीं पर खड़े हैं। कुछ हालात नहीं बदले। -फाइल फोटो

  • बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा- पिछले 10 दिन में कुछ नहीं बदला, हम उसी स्थान पर खड़े हैं
  • आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप और टेस्ट चैम्पियनशिप को लेकर कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक करेगा

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 07:44 AM IST

खेल डेस्क. आईपीएल-13 का होना मुश्किल है। 14 अप्रैल तक लॉकडाउन के कारण पूरी तरह बंदी है। 15 अप्रैल तक विदेशी खिलाड़ियों का वीसा कैंसिल है, इसमें और बढ़ोतरी होगी। ऐसे में लीग को रद्द किया जा सकता है। बीसीसीआई ने इस महीने की शुरुआत में आईपीएल को कोरोनावायरस के कारण 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया था। लेकिन स्थिति और गंभीर हो गई है। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने मंगलवार को कहा, ‘मैं अभी आयोजन पर कुछ नहीं कह सकता। हम उसी स्थान पर हैं, जहां हम इसे स्थगित करने वाला फैसला लेते समय थे। पिछले 10 दिनों में कुछ भी नहीं बदला है।’ किंग्स इलेवन पंजाब के सह-मालिक नेस वाडिया ने कहा, ‘बीसीसीआई को आईपीएल को स्थगित करने पर सोचना चाहिए। मई तक स्थिति में अगर सुधार होता है तो भी हमारे पास कितना समय रहेगा। क्या तब विदेशी खिलाड़ियों को देश में प्रवेश करने की अनुमति होगी।’

इससे पहले मंगलवार को बीसीसीआई ने अधिकारियों और टीम मालिकों के साथ बैठक को स्थगित कर दिया था। बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा, ‘अगर ओलिंपिक को एक साल के लिए स्थगित किया जा सकता है, तो उस लिहाज से तो आईपीएल बहुत छोटा टूर्नामेंट है। इसे भी स्थगित या कैंसल किया जा सकता है। हमें इस बात को भी सोचना चाहिए कि अभी सरकार विदेशी वीसा की अनुमति देने के बारे में भी विचार नहीं कर रही।’ बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘21 दिन के लॉकडाउन के बाद यह लगभग असंभव सा होगा की चीजें सामान्य हों। लॉकडाउन हट गया तो भी बहुत सारे प्रतिबंध जारी रहेंगे। ऐसे में लीग को रद्द करना ही सही फैसला होगा।’

आईसीसी की बैठक कल
आईसीसी सदस्य देशों से शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस से बातचीत करेगा। इसमें कोरोनावायरस के कारण बनी स्थिति पर चर्चा होगी। टी20 वर्ल्डकप ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर में खेला जाना है, जबकि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के तहत द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज होनी है। अगर अगले दो महीने तक कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन बना रहता है तो फिर कार्यक्रम में बदलाव किया जा सकता है। आईसीसी बोर्ड के एक सदस्य ने हालांकि कहा कि कॉन्फ्रेंस के दौरान कोई फैसला नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘यह बैठक इस समय आकस्मिक योजनाओं पर अपडेट को लेकर है। अगर स्थिति मुश्किल होती है तो प्लान बी और प्लान सी तैयार रहना चाहिए।’

एक टेस्ट सीरीज रद्द हो चुकी है: टेस्ट चैंपियनशिप के तहत खेली जा रही एक सीरीज कोरोनावायरस के कारण स्थगित हो चुकी है। पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच 5 अप्रैल से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का दूसरा मैच पोस्टपोन किया जा चुका है। 19 मार्च से श्रीलंका और इंग्लैंड के बीच दो मैचों की सीरीज रद्द हो चुकी है। अगली सीरीज 4 जून से इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच होनी है। इंग्लैंड में होने वाली यह सीरीज भी रद्द हो सकती है।

बीसीसीआई को 4 हजार करोड़ रुपए का नुकसान
लीग के रद्द होने से बीसीसीआई को लगभग 4 हजार करोड़ का नुकसान होगा। 3300 करोड़ रुपए तो सिर्फ ब्रॉडकास्टिंग राइट्स से मिलते। वहीं, आईपीएल फ्रेंचाइजी को 100-100 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना