• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • IPL Retention 2022; Umran Malik Father Abdul Rashid Happy After His Son Retained By SunRisers Hyderabad

उमरान का सपना हुआ पूरा:बोले- IPL में मौका देने वाली टीम से ही आगे खेलना चाहता था, अब रिटेन किए जाने से सपना पूरा हुआ

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सनराइजर्स हैदराबाद के लिए रिटेन किए गए उमरान मलिक का कहना है कि IPLमें मौका देने वाली टीम से ही वह आगे भी खेलना चाहते थे। ऐसे में हैदराबाद के लिए रिटेन किए जाने से वह बेहद खुश हैं। उमरान जम्मू के रहने वाले हैं। IPL14वें सीजन के दूसरे चरण में उन्हें SRH ने ही टीम में शामिल किया था और मौका दिया था। वे टीम के साथ बतौर नेट बॉलर जुड़े हुए थे।

उमरान IPL के 14वें सीजन के दूसरे चरण में सीजन की सबसे तेज गेंद फेंक कर चर्चा में आए थे। वे इन दिनों भारतीय ए टीम के साथ साउथ अफ्रीका दौरे पर हैं। उनके पिता अब्दुल राशिद मलिक ने दैनिक भास्कर को बताया कि SRH के लिए रिटेन जाने के बाद उमरान से गुरुवार को ही उनकी फोन पर बात हो पाई थी, क्योंकि वह साउथ अफ्रीका में मैच में बिजी हैं।

उमरान सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से रिटेन किए जाने खुश हैं। उमरान ने उनसे कहा कि जिस टीम ने उन्हें IPLजैसे बड़े स्टेज पर मौका दिया, उस टीम के साथ ही वह आगे भी खेलना चाहते थे। ऐसे में वह चाहते थे कि ऑक्शन में हैदराबाद ही उन्हें खरीदे। हैदराबाद से रिटेन किया जाना उनके करियर के लिए अच्छा है। वह जम्मू के अब्दुल समद के भी हैदराबाद से रिटेन किए जाने पर खुश हैं। उमरान ने कहा कि समद के साथ खेलने से उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। दोनों साथ ही जम्मू में एक साथ ट्रेनिंग करते हैं। ऐसे में हम दोनों के बीच काफी अच्छी ट्यूनिंग है।

उमरान को मिलेंगे 4 करोड़
उमरान उन खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्हें रिटेन होने से काफी ज्यादा फायदा पहुंचा है। उमरान को इससे पहले 10 लाख रुपए मिलते थे। अब रिटेन किए जाने के बाद उन्हें 4 करोड़ रुपए मिलेंगे, क्योंकि IPL की रिटेन पॉलिसी के तहत रिटेन खिलाड़ी को कम से कम 4 करोड़ मिलेंगे और उमरान को 4 करोड़ में ही रिटेन किया गया है, जो 39 गुना ज्यादा है।

उमरान सहित तीन खिलाड़ियों को हैदराबाद ने किया है रिटेन
सनराइजर्स हैदराबाद ने उमरान और अब्दुल समद सहित एक विदेशी खिलाड़ी केन विलियम्सन को रिटेन किया है। अब्दुल समद और उमरान को 4 करोड़ जबकि विलियम्सन को 14 करोड़ मिलेंगे।

उमरान के पिता की फ्रूट शॉप है
उमरान के पिता की जम्मू के शहीदी चौक पर फल और सब्जी की दुकान है। इस दुकान को उनके पिता और चाचा जी संभालते हैं।

बचपन में कही बात को पूरा कर रहे हैं उमरान
अब्दुल राशिद कहते हैं कि उमरान जब छोटे थे, तभी से गलियों में अन्य बच्चों के साथ क्रिकेट खेलते थे। मैं जब भी उसे कुछ कहता, तो वह सिर्फ यही कहते थे कि पापा मैं क्रिकेट में आपका नाम रोशन करूंगा। मैं देश के लिए खेलूंगा। आज मेरे बेटे ने सचमुच मेरा नाम रोशन कर दिया है। आज उसके बारे में हर कोई जानना चाहता है।

खबरें और भी हैं...