किंग्स इलेवन पंजाब-एमपीसीए के बीच विवाद सुलझा, इंदौर में मैच कराने पर सहमति

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • किंग्स इलेवन पंजाब और एमपीसीए दोनों के बीच मैच पास को लेकर हुआ था विवाद
  • किंग्स फ्रेंचाइजी के सीईओ ने कहा कि उन्हें वापस इंदौर आने में कोई एतराज नहीं है

इंदौर. मैच पास विवाद को पीछे छोड़ते हुए अब किंग्स इलेवन पंजाब और एमपीसीए दोनों ही होलकर स्टेडियम इंदौर में एक बार फिर आईपीएल कराने के लिए तैयार हो गए हैं। किंग्स फ्रेंचाइजी के सीईओ सतीश मेनन ने भास्कर से चर्चा में कहा कि उन्हें वापस इंदौर आने में कोई एतराज नहीं है और हमारी हां है, पहले और अब के समय में बदलाव आ गया है, लेकिन इस बार इंदौर आने का फैसला फ्रेंचाइजी की जगह बीसीसीआई द्वारा तय होना है।

1) बीसीसीआई लेगा अंतिम फैसला

एमपीसीए के सचिव मिलिंद कनमड़ीकर ने भी भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को मैच कराने को लेकर ईमेल कर दिया है। कनमड़ीकर ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि हमारी तैयारी पूरी है, इसकी सूचना हमने बोर्ड को दे दी है, ताकि बोर्ड यहां मैच खेलने की इच्छुक फ्रेंचाइजी से बात कर अंतिम फैसला कर सके।

इस अप्रैल-मई माह में लोकसभा चुनाव होना है और संभवत: छह-सात मार्च को चुनाव आयोग चुनाव तारीखों का ऐलाना कर देगा। इसी आधार पर बीसीसीआई मैच के शहर तय करेगा।

मई 2018 में इंदौर में हुए आईपीएल मैचों को लेकर फ्रेंचाईजी और नौकशाही में विवाद हो गया था। इसके बाद इंदौर से अंतिम मैच खेलकर जाते समय फ्रेंचाइजी ने इंदौर के अनुभव को काफी कड़वा बताया था। सूत्रों के अनुसार फ्रेंचाइजी और बीसीसीआई की इवेंट कंपनी ने भी भी अपनी रिपोर्ट में इंदौर में मैच अनुभव में निगेटिव फीडबैक दिया था।