पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Kohli's Less Than 1000 Runs In Tests In The Three Years Before The WTC Final; Haven't Scored Centuries In International Cricket Since November 2019

कोहली की बल्लेबाजी भारत के लिए चिंता:WTC फाइनल से पहले कोहली टेस्ट में तीन साल में1000 से भी कम रन बनाए; 39 इंटरनेशनल मैच से नहीं लगाए हैं शतक

मुंबईएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
2019 से 2021 के बीच इन तीन सालों में कोहली ने14 टेस्ट मैचों में 1000 से भी कम रन बनाए हैं। - Dainik Bhaskar
2019 से 2021 के बीच इन तीन सालों में कोहली ने14 टेस्ट मैचों में 1000 से भी कम रन बनाए हैं।

टीम इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच आज दोपहर 3 बजे से ICC वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेला जाएगा। फाइनल से पहले टीम इंडिया की चिंता कप्तान विराट कोहली का फॉर्म है। कोहली का पिछले तीन साल के टेस्ट औसत को देखा जाए, तो पता चलेगा कि वह अपने फॉर्म से जूझ रहे हैं। 2019 से 2021 के बीच इन तीन सालों में कोहली ने 14 टेस्ट मैचों में 1000 से भी कम रन बनाए हैं। उन्होंने इन तीन सालो में केवल 900 रन ही बनाए हैं। हालांकि 2019 में 68 की औसत से 612 रन बनाए। लेकिन 2020 में उनके औसत में 28.66 प्रतिशत की गिरावट आई और 116 रन ही बना सके। जबकि 2021 में 19.33 की औसत से 172 रन ही बनाए।

कोहली 2014 और 2018 में कर चुके हैं इंग्लैंड का दौरा
कोहली साउथैम्पटन में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने तीसरे इंग्लैंड दौरे की शुरुआत करेंगे। इससे पहले कोहली 2014 और 2018 में इंग्लैंड का दौरा किया था। 2014 में कोहली का इंग्लैंड दौरे पर कुछ खास प्रदर्शन नहीं रहा। वे 10 पारियों में केवल 134 रन ही बना सके। हालंकि 2018 में उनका प्रदर्शन काफी बेहतर रहा। उनका बल्ले से काफी रन निकले। उन्होंने इस दौरे पर पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 593 रन बनाए।

WTC फाइनल का मौसम अपडेट:साउथैम्पटन में रुक-रुक कर हो रही है बारिश; धुल सकता है पहले दिन का खेल

https://www.bhaskar.com/sports/cricket/news/rain-to-play-spoil-sport-in-india-vs-new-zealand-icc-world-test-championship-final-thundershowers-in-southampton-128608888.html

2016 से 2018 में बीच कोहली का फॉर्म बेहतर
2016 से 2018 के बीच कोहली का प्रफॉरमेंस काफी बेहतर रहा। इस दौरान उन्होंने टेस्ट खेलने वाले लगभग सभी टीमों के खिलाफ शतक ठोके। उन्होंने तीन सालों में 25 टेस्ट मैचों में 3596 रन बनाए। 2016 में 75.33, 2017 में 75.64 और 2018 में 55.08 औसत रहा।

कोहली बतौर कप्तान रिकी पोंटिंग के शतक लगाने का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में कोहली के पास बतौर कप्तान पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग के रिकॉर्ड तोड़ने का मौका है। कोहली 41 शतक लगाकर पोंटिंग के बराबर हैं। कोहली ने 200 मैचों में कप्तानी की है और 62.33 की औसत से 12243 रन बनाए हैं। जबकि पोंटिंग ने 45.54 की औसत 15,440 रन बनाए हैं।
कोहली ने अपना पिछला शतक नवंबर 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट में लगाया था। तब भारतीय कप्तान ने 136 रन की पारी खेली थी। उसके बाद से शतक नहीं लगा पाए हैं।

टीम इंडिया को गांगुली का सुझाव:WTC फाइनल से पहले BCCI अध्यक्ष बोले- टॉस जीतने के बाद विराट की टीम पहले बल्लेबाजी करे; गिल और रोहित टीम को दें अच्छी शुरुआत

https://www.bhaskar.com/sports/cricket/news/india-new-zealand-wtc-final-test-virat-kohli-team-batting-first-after-winning-the-toss-sourav-ganguly-128609948.html

39 इंटरनेशनल मैचों से विराट नहीं लगाए हैं शतक
वे न्यूजीलैंड के खिलाफ दो, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक और इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट मैच खेल चुके हैं, लेकिन उनके बल्ले से शतक नहीं निकला है। अगर ओवर ऑल रिकॉर्ड की बात करें तो इस दौरान उन्होंने 17 टी20, 15 वनडे और 7 टेस्ट खेले हैं। यानी 39 इंटरनेशनल मैच हो चुके हैं और विराट के बल्ले से एक भी शतक नहीं आया है।पिछले शतक के बाद से विराट 1,659 रन बना चुके हैं। व