संकट में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर टिम पेन का करियर:सेक्सटिंग कांड के चलते छोड़ी थी कप्तानी, अब स्टेट टीम से भी हुए बाहर

12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान टिम पेन का क्रिकेट करियर खत्म होता नजर आ रहा है। 37 साल के टिम पेन को उनकी स्टेट टीम तस्मानिया ने अपने कॉन्ट्रैक्टेड प्लेयर्स की लिस्ट से बाहर कर दिया है। ऑस्ट्रेलिया का ये विकेटकीपर-बल्लेबाज फिलहाल मेंटल-हेल्थ ब्रेक पर नेशनल टीम से बाहर चल रहा है। पिछले साल अपनी टीम की रिसेप्शनिस्ट से सेक्सटिंग और अश्लील बातचीत का मामला उजागर होने के बाद टिम पेन ने ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी छोड़ दी थी। टिम पेन के बाद तेज गेंदबाज पैट कमिंस को टीम की कमान सौंपी गई थी।

क्रिकेट तस्मानिया ने मंगलवार को जारी अपने बयान में कहा- टिम पेन अभी नेशनल टीम की ओर से मेंटल हेल्थ ब्रेक पर हैं। इस ब्रेक की वजह से उन्हें स्टेट टीम का कॉन्ट्रैक्ट भी नहीं दिया गया है।

खत्म हो सकता है टिम पेन का करियर, रिसेप्शनिस्ट को न्यूड फोटो भेजकर पिछले साल विवादों में आए थे

एक्स्पर्ट्स की राय में 37 साल के टिम पेन अपने करियर के आखिरी दौर में पहुंच चुके हैं और स्टेट टीम से बाहर किया जाना उनके क्रिकेट करियर के खत्म होने की शुरुआत हो सकती है। पिछले साल टिम पेन पर क्रिकेट तस्मानिया की रिसेप्शनिस्ट रिनी फर्ग्युसन ने 2017 में अश्लील मैसेज और तस्वीर भेजने के आरोप लगाए थे। हालांकि, टिम पेन के अनुसार इसमें दोनों की पूरी सहमति थी।

रिनी फर्ग्युसन ने टिम पेन पर 2017 में अश्लील मैसेज और तस्वीर भेजने के आरोप लगाए थे, जिसके सामने आने के बाद टिम को कप्तानी छोड़नी पड़ी।
रिनी फर्ग्युसन ने टिम पेन पर 2017 में अश्लील मैसेज और तस्वीर भेजने के आरोप लगाए थे, जिसके सामने आने के बाद टिम को कप्तानी छोड़नी पड़ी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 2018 में ही क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने टिम और रिनी के बीच मामले की इंटरनल जांच कर पेन को क्लीनचिट दे दी थी। पर पिछले साल एशेज सीरीज से ठीक पहले नवंबर में रिसेप्शनिस्ट ने क्रिकेट तस्मानिया पर यौन शोषण का केस कर दिया, जिसके बाद घटना पब्लिक हुई और पेन को नेशनल टीम की कप्तानी छोड़नी पड़ी। इसके बाद एशेज सीरीज से ठीक पहले पैट कमिंस को टीम का कप्तान बना दिया गया। हालांकि, रिनी के आरोपों के बाद क्रिकेट तस्मानिया ने भी रिनी के खिलाफ नौकरी के दौरान चोरी करने का जवाबी केस फाइल किया था।

पेन की कप्तानी में इंग्लैंड में 18 साल बाद ऑस्ट्रेलिया एशेज रिटेन करने में कामयाब रहा था

टिम पेन को ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी स्टीव स्मिथ से मिली। स्मिथ को साउथ अफ्रीका में बॉल की छेड़छाड़ से जुड़े सैंडपेपर गेट के बाद कप्तानी से बैन कर दिया गया था। टिम पेन की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया की टीम 2001 के बाद पहली बार इंग्लैंड में जाकर एशेज रिटेन करने में कामयाब रही। इसके बाद पेन की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में क्लीन स्वीप भी किया। टिम पेन की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने 23 टेस्ट मैच खेले जिसमें उसे 11 में जीत और 8 मुकाबलों में हार मिली। चार मैच ड्रॉ रहे।

टिम पेन के कप्तान रहते भारत ने ऑस्ट्रेलिया के दो दौरे किये और दोनों में भारत ने सीरीज जीती। इस दौरान ऋषभ पंत और टिम पेन के बीच स्लेजिंग भी काफी चर्चा में रही।