मध्यप्रदेश 35 रन पर ऑलआउट, आंध्र ने बिना कोई रन दिए आखिरी 7 विकेट लिए

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मध्यप्रदेश का रणजी ट्रॉफी में यह सबसे कम स्कोर
  • आंध्र ने 23 गेंद में बिना कोई रन दिए मध्यप्रदेश के आखिरी 6 विकेट लिए

इंदौर. रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप बी में आंध्र प्रदेश के खिलाफ मध्यप्रदेश की दूसरी पारी महज 35 रन पर ऑलआउट हो गई। आंध्र ने 23 गेंद में बिना कोई रन दिए मध्यप्रदेश के आखिरी 6 विकेट लिए और यह मुकाबला 307 रन से जीत लिया। मध्यप्रदेश के गौरव यादव चोट के कारण बल्लेबाजी करने नहीं उतरे। आंध्र की ओर से केवी शशिकांत ने 18 रन देकर 6 विकेट लिए।

1) मध्यप्रदेश ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी

होल्कर स्टेडियम में खेले गए रणजी मुकाबले में मध्यप्रदेश ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया था। आंध्र प्रदेश अपनी पहली पारी में 132 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। इसके बाद मध्यप्रदेश पहली पारी में कोई खास प्रदर्शन नहीं कर सकी और 91 रन पर ढेर हो गई।

दूसरी पारी में 41 रन की लीड लेकर बल्लेबाजी के लिए उतरी आंध्र की टीम ने 301 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया। आंध्र की ओर से करण शिंदे ने 103 रन की नाबाद शतकीय पारी खेली। मैच जीतने के लिए मध्यप्रदेश के सामने 342 रन का टारगेट था।

मध्यप्रदेश ने दूसरी पारी में महज 19 रन पर अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। ओपनर अजय रोहेरा (6), रजत पाटीदार (0) और कप्तान नमन ओझा (1) पवेलियन लौट चुके थे। इसके बाद जब टीम का स्कोर 35 रन था, उस समय एक-एककर आर्यमान बिरला, शुभमन शर्मा, वेंकटेश अय्यर, कुमार कार्तिकेय, ईश्वर पांडे और यश दुबे आउट हो गए। टीम की ओर से यश ने 16 और आर्यमन ने 12 रन बनाए। मध्यप्रदेश के 7 खिलाड़ी खाता भी नहीं खोल सके।

मध्यप्रदेश का रणजी ट्रॉफी में यह अब तक का सबसे कम स्कोर है। इससे पहले 2013-14 में बड़ौदा के खिलाफ 60 रन पर आउट हुई थी मध्यप्रदेश की टीम। यह मैच बड़ौदा में ही खेला गया था।

1-6 (अजय रोहेरा, 3.3 ov), 2-15 (रजत पाटीदार, 6.3 ov), 3-19 (नमन ओझा, 8.3 ov), 4-35 (आर्यमान बिरला, 13.1 ov), 5-35 (शुभमन शर्मा, 13.5 ov), 6-35 (वेंकटेश अय्यर, 15.2 ov), 7-35 (कुमार कार्तिकेय, 15.3 ov), 8-35 (ईश्वर पांडे, 15.5 ov), 9-35 (यश दुबे, 16.5 ov)