• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Englands Mark Wood bowled the fastest ball of the ICC Cricket World Cup 2019 againest New Zealand in the final.

वर्ल्ड कप / मार्क वुड, आर्चर और स्टार्क ने फेंकीं 48 मैचों में सबसे तेज गेंद; टॉप 5 में भारत से कोई नहीं

फाइनल में मार्क वुड ने न्यूजीलैंड के ओपनर हेनरी निकोल्स को 154 किलोमीटर प्रति घंटे (95.7 मील प्रति घंटे) की रफ्तार वाली गेंद की। फाइनल में मार्क वुड ने न्यूजीलैंड के ओपनर हेनरी निकोल्स को 154 किलोमीटर प्रति घंटे (95.7 मील प्रति घंटे) की रफ्तार वाली गेंद की।
X
फाइनल में मार्क वुड ने न्यूजीलैंड के ओपनर हेनरी निकोल्स को 154 किलोमीटर प्रति घंटे (95.7 मील प्रति घंटे) की रफ्तार वाली गेंद की।फाइनल में मार्क वुड ने न्यूजीलैंड के ओपनर हेनरी निकोल्स को 154 किलोमीटर प्रति घंटे (95.7 मील प्रति घंटे) की रफ्तार वाली गेंद की।

  • विश्व कप क्रिकेट 2019 की सबसे तेज गेंद मेजबान इंग्लैंड की तरफ से ही की गई
  • वर्ल्ड कप में रफ्तार के 5 सौदागरों में टीम इंडिया से किसी गेंदबाज का नाम नहीं

Jul 15, 2019, 12:44 PM IST

खेल डेस्क. विश्व कप क्रिकेट 2019 की ट्रॉफी पर इंग्लैंड का कब्जा हो चुका है। वर्ल्ड कप खत्म होने के बाद कई दिलचस्प आंकड़े सामने आ रहे हैं। इस विश्व कप में तेज गेंदबाजों का बोलबाला रहा। 90 फीसदी टीमों के पास बेहतरीन तेज गेंदबाज थे। अगर सिर्फ रफ्तार की बात करें तो इस विश्व कप में तीन गेंदबाजों ने एक ही रफ्तार से सबसे तेज गेंदें फेंकी। फाइनल में मार्क वुड ने न्यूजीलैंड के ओपनर हेनरी निकोल्स को 154 किलोमीटर प्रति घंटे (95.7 मील प्रति घंटे) की रफ्तार वाली गेंद की। हेनरी ने इस गेंद को ऑनसाइड में खेलने की कोशिश की थी लेकिन शायद ये रफ्तार का ही जादू था कि गेंद उनके बल्ले से लगने के बजाए पहले थाई पैड्स और बाद में पेट पर लगी। इस विश्व कप में जो सबसे तेज पांच गेंद की गईं, उनका कोई भी गेंदबाज भारतीय नहीं था। 


वुड और आर्चर 
टूर्नामेंट शुरू होने के पहले ही दो बेहद तेज रफ्तार वाले गेंदबाजों की चर्चा हो रही थी। ये थे इंग्लैंड के मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर। वेस्ट इंडीज में जन्म लेने लेकिन इंग्लैंड की तरफ से खेलने वाले आर्चर को ब्रिटिश मीडिया ने वर्ल्ड कप शुरू होने के पहले ही नया स्टार बता दिया था। आर्चर के एक्शन से ऐसा नहीं लगता कि उनके पास इतनी तेज रफ्तार होगी। लेकिन, टप्पा खाने के बाद उनकी गेंद बेहद तेज रफ्तार से आती है। मार्क वुड और आर्चर दोनों ने ही 154 किलोमीटर प्रति घंटे (95.7 मील प्रति घंटे) की रफ्तार से गेंद फेंकी। वुड की तो औसत गति ही 90.7 मील प्रति घंटा रही। 

 

मिशेल स्टार्क
ऑस्ट्रेलिया के मिशेल स्टार्क ने विश्व कप को प्राथमिकता देते हुए इस बार आईपीएल में खेलने से इनकार कर दिया था। स्टार्क बेहतरीन फॉर्म में थे और अगर इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल को छोड़ दिया जाए तो उनकी रफ्तार का जादू सिर चढ़कर बोला। मार्क वुड और जोफ्रा आर्चर के साथ ही स्टार्क ने भी 154 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली गेंदें कीं। उन्होंने सबसे ज्यादा विकेट भी लिए। 

 

लॉकी फर्ग्युसन
न्यूजीलैंड के इस तेज गेंदबाज की भी काफी चर्चा रही। उन्होंने इसे साबित भी किया। फर्ग्युसन ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 152 किलोमीटर की रफ्तार से गेंदबाजी की थी। 

 

शेनन ग्रेबियल
वेस्ट इंडीज के इस तेज गेंदबाज ने भी अपनी रफ्तार से बल्लेबाजों को खासा परेशान किया। शेनन ने भारत और पाकिस्तान के खिलाफ मैचों में 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से कई गेंदें कीं थीं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना