• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Misbah ul Haq Applies for Pakistan Cricket Team Head Coach, Demands Rs 40 Lakh Salary Per Month Pakistan Cricket News

क्रिकेट / मिस्बाह ने पाकिस्तान का हेड बनने के लिए मांगा 40 लाख रुपए प्रति माह वेतन; दोहरे दबाव में पीसीबी

मिस्बाह उल हक ने हेड कोच बनने के लिए दो शर्तें रखी हैं। (फाइल) मिस्बाह उल हक ने हेड कोच बनने के लिए दो शर्तें रखी हैं। (फाइल)
X
मिस्बाह उल हक ने हेड कोच बनने के लिए दो शर्तें रखी हैं। (फाइल)मिस्बाह उल हक ने हेड कोच बनने के लिए दो शर्तें रखी हैं। (फाइल)

  • मिकी ऑर्थर को हटाए जाने के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड अब तक हेड कोच नहीं खोज पाया 
  • मिस्बाह चाहते हैं कि उन्हें ऑर्थर से ज्यादा तनख्वाह मिले, एक अन्य शर्त भी रखी

दैनिक भास्कर

Aug 28, 2019, 03:21 PM IST

खेल डेस्क. पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक को पाकिस्तान की राष्ट्रीय टीम का हेड कोच बनाए जाने का मसला फिर फंस गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मिस्बाह ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सामने दो शर्तें रखी हैं। पहली- उन्हें मिकी ऑर्थर से ज्यादा वेतन दिया जाए। दूसरी- पाकिस्तान के अलावा पीएसएल टीम की कोचिंग की भी लिखित मंजूरी मिले। पीसीबी दोनों मामलों में फंस गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मिस्बाह हर महीने करीब 40 लाख रुपए तनख्वाह मांग रहे हैं। खस्ताहाल बोर्ड के लिए हर माह इतनी मोटी रकम देना मुश्किल काम है। 

 

गले की फांस बने मिस्बाह
अव्वल तो मिस्बाह पाकिस्तान का हेड कोच बनना नहीं चाहते थे। इसकी वजह ये थी कि रमीज राजा समेत कई क्रिकेटर उनका विरोध कर रहे थे। इसके बावजूद बोर्ड के आग्रह पर उन्होंने इस पद के लिए आवेदन कर दिया। अब वेतन और हितों के टकराव पर बोर्ड उन्हें मनाने में नाकाम साबित हो रहा है। ‘द ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पूर्व कोच मिकी ऑर्थर की सैलरी 20 हजार अमेरिकी डॉलर प्रति माह थी। पाकिस्तानी मुद्रा में यह करीब 32 लाख रुपए होती है। मिस्बाह चाहते हैं कि उन्हें ऑर्थर से ज्यादा वेतन मिले। 

 

नियम तोड़ने का दबाव
वेतन के अलावा एक और दिक्कत पीसीबी के सामने है। दरअसल, मिस्बाह चाहते हैं कि हेड कोच रहते हुए उन्हें पाकिस्तान सुपर लीग में हबीब बैंक लिमिटेड का कोच बना रहने दिया जाए। इसकी वजह भी पैसा है जो उन्हें हबीब बैंक देता है। पीसीबी के नियमों के मुताबिक, राष्ट्रीय टीम का कोच किसी अन्य टीम को प्रशिक्षण नहीं दे सकता। मिस्बाह के अलावा ऑस्ट्रेलिया के डीन जोन्स भी हेड कोच की रेस में हैं। वकार यूनिस ने बॉलिंग कोच के लिए आवेदन दिया है। वैसे, एक सच्चाई यह भी है कि पाकिस्तान की वर्तमान टीम के ही कई खिलाड़ी मिस्बाह को कोच बनाए जाने के पक्षधर नहीं हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना