धोनी और गंभीर के बीच फिर कोल्ड वॉर:माही ने जिसको दिया वर्ल्ड कप जीत का क्रेडिट, उस बिस्किट और गौतम के कुत्ते का नाम एक

स्पोर्ट्स डेस्क2 महीने पहले

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 25 सितंबर यानी रविवार को एक बिस्किट प्रोडक्ट को भारत में लॉन्च किया। धोनी ने प्रमोशन वीडियो में इस बिस्किट का वर्ल्ड कप से भी कनेक्शन ढूंढ निकाला। उन्होंने फेसबुक लाइव में कहा, 'ये प्रोडक्ट इस बार हमें टी-20 वर्ल्ड कप जिता सकता है। साल 2011 में इंडिया ने वर्ल्ड कप जीता था, उससे पहले भी यह बिस्किट भारत में लॉन्च हुआ था। अब कनेक्शन क्लियर हो गया है। मैं 2011 को फिर से वापस लेकर आ रहा हूं। हिस्ट्री बनाने और इसे फिर से दोहराने के लिए आप भी आगे आएं।'

धोनी के इस बयान पर खूब बवाल हुआ। लोग उन्हें ट्रोल करने लगे। यूजर्स का कहना है कि पैसे के लिए माही ओरियो बिस्किट को टीम इंडिया के वर्ल्ड कप जीतने का क्रेडिट दे रहे हैं। क्या टीम मैनेजमेंट और खिलाड़ियों ने कुछ नहीं किया था।

धोनी ने इसी बिस्किट को लॉन्च किया था।
धोनी ने इसी बिस्किट को लॉन्च किया था।

खैर, टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर जो वर्ल्ड कप 2011 की टीम का हिस्सा थे, उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर किया है। वीडियो में वो अपनी बच्चियों और कुत्तों के साथ खेलते नजर आ रहे हैं। गौर करने वाली बात ये है कि उनकी बेटी अपने एक कुत्ते को ओरियो के नाम से पुकार रही है। अब लोग गंभीर के इस वीडियो को धोनी को जवाब बता रहे हैं।

खबर में आगे बढ़ने से पहले इस मामले पर अपनी राय दें...

धोनी-विराट की पूजा बंद होनी चाहिए
कुछ दिन पहले गौतम गंभीर ने इंडियन क्रिकेटर्स को स्टार बनाने के कल्चर पर भी सवाल खड़े किए थे। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में कहा था, '1983 के वर्ल्ड कप से ये होता आया है। केवल कपिल देव ने आपको वर्ल्ड कप नहीं दिलाया था, लेकिन आपने उन्हें स्टार बना दिया और उनकी पूजा करने लगे। धोनी और विराट के साथ भी यही हुआ। केवल ये दोनों भारत को मैच में जीत नहीं दिलाते थे।'

धोनी के छक्के ने नहीं दिलाया था वर्ल्ड कप
2011 का वर्ल्ड कप फाइनल भारतीय टीम ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जीता था। इस मैच में गौतम गंभीर ने 122 गेंद खेलकर 97 रन बनाए थे। उनके बल्ले से 9 चौके निकले थे। वहीं, महेंद्र सिंह धोनी ने 79 गेंद पर 8 चौके और 3 छक्के की मदद से 91 रन बना दिए थे।

इस मैच में धोनी की खूब प्रशंसा हुई थी। इसको लेकर गंभीर कई बार सवाल उठा चुके हैं। 2020 में ईएसपीएन क्रिकइंफो के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया था, जिसमें लिखा था, 'आज के दिन 2011 में, वो शॉट जिसने करोड़ों इंडियन फैन्स को जश्न में डुबो दिया था।'

इस ट्वीट का जवाब देते हुए गंभीर ने लिखा था, 'क्रिकइंफो आपको याद दिलाना चाहूंगा कि विश्व कप जीतने में पूरे भारत, टीम इंडिया और सपोर्ट स्टाफ का हाथ था। बहुत हुआ एक छक्के के लिए ही आपका इतना प्यार।' युवराज सिंह प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे थे।