नेपाल के रोहित ने सचिन का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा, 16 साल 146 दिन की उम्र में फिफ्टी लगाई

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • रोहित पुरुष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में अर्धशतक लगाने वाले युवा बने
  • सचिन ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक 16 साल 213 दिन की उम्र में लगाया था

दुबई. नेपाल के रोहित पॉडल ने शनिवार को सचिन तेंदुलकर का 30 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। रोहित ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ वनडे में 58 गेंद में 55 रन की पारी खेली। रोहित ने 16 साल 146 दिन की उम्र में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक लगाया। इसके साथ ही उन्होंने पुरुष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। इससे पहले यह रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम था। हालांकि, पुरुष और महिला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के मामले में यह रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीकी महिला टीम की जोहमारी लोगटेनबर्ग के नाम है। जोहमारी 14 साल की उम्र में वनडे में अर्धशतक लगा चुकी हैं। 


सचिन ने नवंबर 1989 में बनाया था रिकॉर्ड
सचिन ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक 23 नवंबर 1989 को फैसलाबाद में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में लगाया था। उस टेस्ट की पहली पारी में सचिन ने 59 रन बनाए थे। तब सचिन की उम्र 16 साल 213 दिन थी। रोहित की इस उपलब्धि पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी है। 


रोहित वनडे में डेब्यू करने वाले चौथे सबसे युवा
रोहित ने अगस्त 2018 में 15 साल 335 दिन की उम्र में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। वे वनडे में डेब्यू करने वाले चौथे और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले सातवें युवा पुरुष क्रिकेटर हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में डेब्यू करने का रिकॉर्ड कुवैत के मीत भवसार के नाम है। भवसार ने इस साल 20 जनवरी को 14 साल 211 दिन की उम्र में मालदीव के खिलाफ टी-20 मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया। 

 

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले रोहित से कम उम्र के 6 खिलाड़ी
भवसार के बाद पाकिस्तान के हसन रजा का नंबर आता है। हसन ने 30 अक्टूबर 1996 को 14 साल 233 दिन की उम्र में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। तीसरे नंबर पर पाकिस्तान के मुश्ताक मोहम्मद हैं। उन्होंने 15 साल 124 दिन की उम्र में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था। केन्या के गुरदीप सिंह चौथे नंबर पर हैं। उन्होंने 15 साल 258 दिन की उम्र में अफगानिस्तान के खिलाफ वनडे खेलकर अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की थी। हॉन्गकॉन्ग के वकास खान पांचवें नंबर पर हैं। वकास ने 15 साल 259 दिन की उम्र में नेपाल के खिलाफ टी-20 से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। छठा नंबर कनाडा के नितीश कुमार का है। उन्होंने 15 साल 273 दिन की उम्र में अफगानिस्तान के खिलाफ वनडे से अपना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर शुरू किया था। 

 

नेपाल ने यूएई को दिया था 243 रन का लक्ष्य
इस मैच में नेपाल ने टॉस जीता और बल्लेबाजी का फैसला किया। उसने 50 ओवर में नौ विकेट पर 242 रन बनाए। उसे इस स्कोर तक पहुंचाने में रोहित के अलावा ज्ञानेंद्र मल्ला (44) और आरिफ शेख (29) ने भी अहम भूमिका निभाई। यूएई के लिए आमिर हयात ने 41 और इमरान हैदर ने 54 रन देकर 3-3 विकेट लिए। 

 

नेपाल के सोमपाल कामी ने 5 और संदीप लमिछने ने 4 विकेट झटके

लक्ष्य का पीछा करने उतरी यूएई की टीम 19.3 ओवर में 97 रन पर ऑलआउट हो गई। नेपाल के लिए सोमपाल कामी ने 39 गेंद में 33 रन देकर पांच विकेट झटके। वहीं, संदीप लमिछने ने 4 ओवर में 24 रन देकर 4 खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखाई। इस तरह नेपाल ने 145 रन से मैच अपने नाम कर लिया।

खबरें और भी हैं...