फाइनल / कुंबले की अध्यक्षता में बाउंड्री नियम की समीक्षा होगी, न्यूजीलैंड की रग्बी टीम ने आईसीसी पर तंज कसा



न्यूजीलैंड की रग्बी टीम। न्यूजीलैंड की रग्बी टीम।
इंग्लैंड इस बार वर्ल्ड कप विजेता बना। इंग्लैंड इस बार वर्ल्ड कप विजेता बना।
X
न्यूजीलैंड की रग्बी टीम।न्यूजीलैंड की रग्बी टीम।
इंग्लैंड इस बार वर्ल्ड कप विजेता बना।इंग्लैंड इस बार वर्ल्ड कप विजेता बना।

  • न्यूजीलैंड-द.अफ्रीका के बीच शनिवार को हुए रग्बी फ्रीडम कप का फाइनल ड्रॉ रहा
  • रग्बी टीम ने कहा- वेलिंगटन में बाउंड्री नहीं गिनी गई, दोनों देशों ने खिताब साझा किया
  • 14 जुलाई को वर्ल्ड कप के फाइनल में बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया था

Dainik Bhaskar

Jul 29, 2019, 01:07 PM IST

वेलिंगटन. न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच शनिवार को रग्बी फ्रीडम कप का फाइनल मैच 16-16 से ड्रॉ रहा। दोनों देशों ने खिताब को साझा किया। इसके बाद द ब्लैक रग्बी टीम ने इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) के नियम पर तंज कसा, जिसके तहत इंग्लैंड को वर्ल्ड कप फाइनल में ज्यादा बाउंड्री लगाने पर विजेता घोषित किया गया था। इंग्लैंड-न्यूजीलैंड के बीच मैच और सुपरओवर टाई रहा था। 

 

क्रिकेट के इतिहास में यह पहली बार हुआ जब ज्यादा बाउंड्री लगाने के आधार पर किसी टीम को विजेता घोषित किया गया। बाउंड्री नियम को लेकर आईसीसी की जमकर आलोचना हुई। रविवार को आईसीसी के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्यौफ अलार्डिस ने बताया कि अगली बैठक में पूर्व भारतीय गेंदबाज अनिल कुंबले की अध्यक्षता में विवादास्पद बाउंड्री नियम की समीक्षा की जाएगी।

 

न्यूजीलैंड की रग्बी टीम ‘द ब्लैक’ ने ट्वीट किया, ‘‘वेलिंगटन में बाउंड्री नहीं गिनी गई। मैच ड्रॉ रहा। इस यादगार मैच के लिए धन्यवाद।’’

 

 

क्रिकेट वर्ल्ड कप के फाइनल में दोनों टीमों ने बराबर रन बनाए थे

वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेला गया था। इस रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 241 रन बनाए थे। इसके जवाब में इंग्लैंड ने भी 241 रन बनाए। इसके बाद मैच सुपरओवर तक गया। वहां भी दोनों टीमों ने 15-15 रन बनाए और मैच टाई रहा। लेकिन, आईसीसी के नियमों के कारण इंग्लैंड को पहली बार विजेता घोषित कर दिया गया। हालांकि, दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों, क्रिकेटरों ने आईसीसी के नियम की आलोचना की थी।

 

सचिन तेंदुलकर ने सुपर ओवर में मैच टाई होने के बाद विजेता का फैसला करने के लिए वैकल्पिक नियम का सुझाव दिया था। उन्होंने कहा था, ‘‘मुझे लगता है कि दोनों टीमों द्वारा मारे गए बाउंड्री की संख्या पर विचार करने के बजाय, विजेता का फैसला करने के लिए एक और सुपर ओवर होना चाहिए। सिर्फ विश्व कप के फाइनल की बात नहीं है। हर खेल महत्वपूर्ण है। जैसे की फुटबॉल में टीमों को अतिरिक्त समय दिया जाता है।’’

 

वहीं, भारतीय क्रिकेटर रोहित शर्मा ने कहा कि क्रिकेट के कुछ नियमों पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है।

 

 

युवराज सिंह ने कहा, ‘‘मैं भी इस नियम से सहमत नहीं हूं। लेकिन, नियम तो नियम है। इंग्लैंड टीम को धन्यवाद। मैं न्यूजीलैंड के साथ था, उन्होंने अंत तक अच्छा खेल दिखाया।’’

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना