गांगुली ने कोहली को नोटिस भेजने का खंडन किया:बोले-विराट को नोटिस भेजने का कोई प्लान नहीं था; दो दिन पहले रिपोर्ट में किया गया था दावा

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय क्रिकेट कंट्र्रोल बोर्ड (BCCI) अध्यक्ष सौरव गांगुली ने खंडन किया है कि विराट कोहली को कारण बताओ नोटिस भेजने का कोई इरादा था। दरअसल दो दिन पहले कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया था कि विराट कोहली साउथ अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पहले किए प्रेस कॉन्फ्रेंस में कप्तानी को लेकर जो बातें कही थी, उसे लेकर सौरव गांगुली उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजना चाहते थे, क्योंकि विराट का बयान BCCI अध्यक्ष के विपरीत था, जिस पर काफी हंगामा हुआ था।

विराट ने टी-20 वर्ल्ड कप से पहले कप्तानी छोड़ने की थी घोषणा
विराट कोहली ने टी-20 वर्ल्ड कप से पहले यह घोषणा की थी कि वह टी-20 वर्ल्डकप के बाद कप्तानी छोड़ देंगे। बाद में विराट को वनडे टीम की कप्तानी से भी हटा दिया गया और रोहित शर्मा को टी-20 और वनडे की कप्तानी की जिम्मेदारी सौंप दी गई थी। गांगुली ने रोहित शर्मा को वनडे की कप्तानी सौंपने पर कहा था कि विराट को टी-20 की कप्तानी छोड़ने से मना किया गया था। टी-20 और वनडे के अलग-अलग कप्तान नियुक्त करना सही नहीं है। इसलिए रोहित शर्मा को ही दोनों जिम्मेदारी दी गई है।

विराट वनडे और टेस्ट की कप्तानी जारी रखना चाहते थे
वहीं विराट ने टी-20 की कप्तानी छोड़ने के साथ ही इच्छा जाहिर की थी कि वह वनडे और टेस्ट की कप्तानी को जारी रखना चाहते हैं।

विराट ने क्या कहा था प्रेस कांफ्रेंस में
विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका दौरे से पहले प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि, 'मुझे टी-20 की कप्तानी छोड़ने के लिए किसी ने मना नहीं किया था। चयनकर्ता और बाकी लोगों ने तो फैसले का स्वागत भी किया था। वहीं वनडे की कप्तानी से हटाने से कुछ घंटे पहले ही सिलेक्टर्स ने उन्हें जानकारी दी थी।'

टेस्ट की कप्तानी छोड़ चुके हैं विराट
कोहली ने साउथ अफ्रीका से 3 टेस्ट मैचों की सीरीज को 2-1 से गंवाने के बाद टेस्ट टीम की भी कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर चुके हैं। हालांकि, अभी टेस्ट टीम की कप्तानी सौंपे जाने को लेकर कोई फैसला BCCI ने नहीं किया है। यह कयास लगाए जा रहे हैं कि रोहित शर्मा को ही जिसकी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।

खबरें और भी हैं...