वर्ल्ड कप से पहले पाकिस्तान के ओपनर फेल:इंग्लैंड ने 7 टी-20 इंटरनेशनल की सीरीज 4-3 से अपने नाम की

लाहौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वर्ल्ड कप में इंग्लैंड का पहला मुकाबला 22 अक्टूबर को अफगानिस्तान से होगा। अगले ही दिन पाकिस्तान अपने ओपनिंग मैच में भारत का सामना करेगा। - Dainik Bhaskar
वर्ल्ड कप में इंग्लैंड का पहला मुकाबला 22 अक्टूबर को अफगानिस्तान से होगा। अगले ही दिन पाकिस्तान अपने ओपनिंग मैच में भारत का सामना करेगा।

13 दिन बाद ऑस्ट्रेलिया में टी-20 वर्ल्ड कप शुरू होने जा रहा है। लिमिटेड ओवर क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट से पहले वनडे के वर्ल्ड चैंपियन इंग्लैंड ने अपने इरादे जाहिर कर दिए हैं। उधऱ्, पाकिस्तान की कमजोरी भी उजागर हो गई है।

अंग्रेजों ने पाकिस्तान को उसी के घर में 7 मैचों की रोमांचक सीरीज में 4-3 से हराया है। सीरीज में पाकिस्तान की बैटिंग में खामी नजर आई है। रविवार रात इंग्लैंड ने सीरीज के आखिरी और निर्णायक मुकाबले में मेजबान टीम को 67 रनों के बड़े अंतर से हराया। इस जीत में इंग्लैंड की तैयारियों की झलक दिखी। उसके गेंदबाजों और बल्लेबाजों ने दमदार प्रदर्शन किया। दूसरी ओर, ओपनर्स के फेल होने पर पाकिस्तान के अन्य बल्लेबाज बेबस नजर आए।

मैच दर मैच बढ़ा रोमांच...

67 रन की बड़ी जीत से दौरे का अंत

इंग्लैंड ने बड़ी जीत से दौरे का अंत किया। उसने ​​​लाहौर में पहले तो 209/3 का स्कोर खड़ा किया। उसके बाद पाकिस्तानी बल्लेबाजों को तय ओवर में 142/8 पर चलता कर दिया। इस जीत में डेविड मलान ने अहम योगदान दिया। उन्होंने 47 गेंदों पर 78 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। हैरी ब्रुक ने नाबाद 46 रन बनाए। मलान मैन ऑफ द मैच रहे, जबकि ब्रुक प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे। उन्होंने 238 रन स्कोर किए।

इंग्लैंड के छह बल्लेबाजों ने फिफ्टी जमाई, पाक के तीन
सीरीज में पाकिस्तानी ओपनर्स कमाल प्रदर्शन कर रहे थे। कप्तान बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान ने मिलकर 601 रन बनाए हैं। इनमें एक शतक और 5 अर्धशतक शामिल हैं। इन दोनों के अलावा टीम का कोई बल्लेबाज टॉप-5 में नहीं है। रिजवान टॉप स्कोरर हैं और कप्तान बाबर उनसे महज 30 रनों से पीछे हैं।

ऐसे में पूरी टीम बाबर-रिजवान पर निर्भर हो गई है। आखिरी मुकाबले में जब बाबर और रिजवान जल्दी आउट हो गए तो टीम 200+ का बड़ा स्कोर चेज नहीं कर सकी। हालांकि, शान मसूद (56) ने अर्धशतक जमाया, जबकि खुर्शीद शाह ने 27 रन का योगदान दिया, लेकिन, बाकी के बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर पाए और टीम 150 का आंकड़ा भी नहीं छू सकी।

गौर करने वाली बात यह है कि 7 मैचों की सीरीज में इंग्लैंड 6 बल्लेबाजों ने अर्धशतक जमाए हैं। जबकि पाकिस्तान के 3 बल्लेबाज ही ऐसा कर सके हैं। सीरीज में कुल 14 अर्धशतक आए हैं। इसमें 7 इंग्लैंड और 7 पाकिस्तान की ओर से आए।

टॉप-3 विकेट टेकर अंग्रेज रहे
टॉप-3 विकेट टेकर गेंदबाज अंग्रेज रहे, जबकि स्कोरर में ब्रुक का नाम आया। करेन-विली ने एक समान 7-7 और मार्क वुड ने 6 विकेट लिए हैं। आखिरी मुकाबले में पाकिस्तान की ओर से मोहम्मद हसनैन ही विकेट ले सके। शेष किसी गेंदबाज को विकेट नहीं मिले।