धोनी का रिकॉर्ड तोड़ पंत ने रचा इतिहास:24 साल की उम्र और 27 टेस्ट में पकड़े 100 कैच, माही को लग गए थे 40 मैच

जोहान्सबर्ग6 महीने पहले

साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भले ही ऋषभ पंत का बल्ला नहीं चल रहा हो, लेकिन विकेट के पीछे यह खिलाड़ी कमाल कर रहा है। अभी कुछ दिन पहले पंत भारत के लिए बतौर कीपर सबसे तेज 100 शिकार करने वाले खिलाड़ी बने थे। अब दिल्ली के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने एक और खास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।

जोहान्सबर्ग टेस्ट के दूसरे दिन ने पंत ने अफ्रीकी पारी का आखिरी कैच लपकते ही अपने टेस्ट करियर में भी 100 कैच पूरे कर लिए हैं। विकेट के पीछे ये कमाल करने वाले वे सिर्फ चौथे भारतीय विकेटकीपर हैं। इस लिस्ट में पंत से पहले महेंद्र सिंह धोनी, सैयद किरमानी और किरन मोरे ही शामिल थे।

कैच लपकने में धोनी को पीछे छोड़ा
100 कैच लेने में ऋषभ पंत ने सिर्फ 27 मैच लिए हैं। यह एक भारतीय रिकॉर्ड है। महेंद्र सिंह धोनी को पीछे ने 100 कैच लपकने में 40 टेस्ट लगा दिए थे। धोनी ने अपने टेस्ट करियर में सर्वाधिक 256 कैच लपके हैं। वहीं पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी के नाम 160 कैच हैं। किरन मोरे ने टेस्ट क्रिकेट में 110 कैच अपने नाम किए हैं। पंत ने अपने 27वें टेस्ट मैच में कैचों का शतक लगाया है। वर्ल्ड क्रिकेट की बात करें तो टेस्ट में 100 कैच लेने वाले पंत 42वें विकेटकीपर हैं।

सबसे तेज 100 शिकार करने वाले भारतीय विकेटकीपर
भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए पहले टेस्ट में ऋषभ पंत भारत के लिए सबसे तेज 100 शिकार करने वाले विकेटकीपर बने थे। पंत ने ये उपलब्धि अपने 26वें टेस्ट में हासिल की थी। उनसे पहले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 36 टेस्ट मैचों में 100 शिकार किए थे। पंत ने ये रिकॉर्ड सिर्फ 24 साल की उम्र में बनाया था।

धोनी के बाद तीसरे पायदान पर ऋद्धिमान साहा हैं। उन्होंने ये कारनामा 37 टेस्ट में किया था। वहीं, चौथे स्थान पर किरन मोरे हैं। उन्होंने 39 टेस्ट में इस उपलब्धि को हासिल किया था। पांचवें स्थान पर नयन मोंगिया और और छठे स्थान पर सैयद किरमानी हैं। मोंगिया ने 100 शिकार के लिए 41 टेस्ट लिए। वहीं, किरमानी ने ये कमाल 42 टेस्ट में किया।