--Advertisement--

एनालिसिस / रोहित का घरेलू मैदानों पर टेस्ट में 85+ का औसत, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में 30 से कम



rohit sharma 85+ average in test in india but in australia below 30 runs
रोहित के नाम टी-2 क्रिकेट में चार शतक। रोहित के नाम टी-2 क्रिकेट में चार शतक।
रोहित टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने। रोहित टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने।
रोहित ने दूसरे टी-20 में 61 गेंद पर 111 रन की पारी खेली। रोहित ने दूसरे टी-20 में 61 गेंद पर 111 रन की पारी खेली।
X
rohit sharma 85+ average in test in india but in australia below 30 runs
रोहित के नाम टी-2 क्रिकेट में चार शतक।रोहित के नाम टी-2 क्रिकेट में चार शतक।
रोहित टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने।रोहित टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज बने।
रोहित ने दूसरे टी-20 में 61 गेंद पर 111 रन की पारी खेली।रोहित ने दूसरे टी-20 में 61 गेंद पर 111 रन की पारी खेली।
  • रोहित शर्मा ने इंग्लैंड में 17, दक्षिण अफ्रीका में 15 की औसत से रन बनाए
  • श्रीलंका और न्यूजीलैंड में ही वे 30 से ज्यादा की औसत से रन बना पाए
  • इस समय रोहित अच्छी फॉर्म में, विदेश में टेस्ट में नाकाम रहने का दाग धोने का मौका

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2018, 02:49 PM IST

खेल डेस्क. भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज जीत ली। तीन मैच की टी-20 सीरीज में भी वह 2-0 से आगे है। यह सीरीज खत्म होने के बाद टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया रवाना होगी। जहां उसे तीन टी-20, चार टेस्ट और तीन वनडे की सीरीज खेलनी हैं। टेस्ट टीम में रोहित शर्मा भी चुने गए हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू मैदान पर उन्हें टेस्ट टीम में जगह नहीं मिली थी। रोहित इन दिनों बेहतर फॉर्म में हैं। उनका टीम में चुना जाना तार्किक है। हालांकि, आंकड़े बताते हैं कि विदेश में टेस्ट में उनका प्रदर्शन निराशाजनक ही रहा है।

रोहित का विदेश में 25.35 रन का औसत

  1. रोहित ने अब तक 25 टेस्ट खेले हैं। इसमें उन्होंने 39.97 की औसत और तीन शतक की मदद से 1479 रन बनाए हैं। उन्होंने घरेलू मैदान पर नौ टेस्ट खेले। इनमें उन्होंने 85.44 की औसत से 769 रन बनाए, जबकि विदेश में 16 टेस्ट में 25.35 की औसत से 710 रन ही बना पाए।

  2. रोहित ने नवंबर, 2013 में कोलकाता में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने अपनी पहली ही पारी में शतक लगाया था। यही नहीं, अपने दूसरे टेस्ट में भी उन्होंने शतकीय पारी खेली थी।

  3. इस शानदार प्रदर्शन के कारण दिसंबर 2013 में दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए वे टेस्ट टीम में चुने गए। दक्षिण अफ्रीका में रोहित का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। वे दो टेस्ट की तीन पारियों में कुल 45 रन ही बना पाए।

  4. टीम प्रबंधन ने उन्हें फरवरी 2014 में न्यूजीलैंड दौरे के लिए चुना। वहां भी रोहित का बल्ला नहीं चला। वे दो टेस्ट की चार पारियों में 122 रन ही बना पाए। जुलाई 2014 में उन्हें इंग्लैंड में एक टेस्ट खेलने को मिला, जिसकी दोनों पारियों में उनका कुल स्कोर 34 रन रहा।

  5. दिसंबर 2014 में वे ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा बने। वहां उन्होंने तीन टेस्ट खेले और छह पारियों में कुल 173 रन बनाए। उस दौरे पर उनका उच्चतम स्कोर 53 रन था, जो विदेश में उनकी दूसरी अर्धशतकीय पारी थी।

  6. जून 2015 में उन्होंने बांग्लादेश में एक टेस्ट खेला। इसकी पहली पारी में वे छह रन बनाकर पवेलियन लौट गए। दूसरी पारी में उन्हें बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला। अगस्त 2015 में श्रीलंका के खिलाफ तीन मैच की सीरीज के लिए वे टेस्ट टीम में चुने गए।

  7. श्रीलंका में उनके प्रदर्शन में थोड़ा सुधार हुआ। उन्होंने तीन टेस्ट की छह पारियों में 202 रन बनाए। अगस्त 2016 में उन्होंने वेस्टइंडीज में दो टेस्ट खेले। पहले मैच में उन्होंने कुल 50 रन बनाए। दूसरे में उन्हें बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला।

  8. इसके बाद रोहित विदेश में खेली गई दो टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं बन पाए। इस साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका में उन्हें फिर दो टेस्ट खेलने को मिले। वहां उन्होंने चार पारियों में कुल 78 रन बनाए। उनका हाइएस्ट स्कोर 47 रन रहा।

  9. 11 महीने बाद टेस्ट खेलेंगे

    इस साल इंग्लैंड में पांच टेस्ट की सीरीज के लिए भी वे भारतीय टीम में नहीं चुने गए। अब करीब 11 महीने बाद उन्हें विदेश में टेस्ट सीरीज के लिए चुना गया है। चूंकि रोहित इन दिनों बढ़िया फॉर्म में हैं, अब उनके पास विदेश में टेस्ट में फ्लॉप होने के दाग को धोने का मौका है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..