पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विराट से बेहतर क्यों हैं रोहित:अपनी कप्तानी में आज तक एक भी टूर्नामेंट नहीं हारे हिटमैन, 9 साल में कोहली ने 3 फाइनल गंवाए

भोपाल3 दिन पहले

विराट कोहली की कप्तानी सवालों में है? सोमवार को खबरें आईं कि टी-20 वर्ल्ड कप के बाद वे कप्तानी छोड़ देंगे और रोहित कमान संभालेंगे। BCCI ने इससे इनकार किया है, पर सवाल उठा ही क्यों? दरअसल, पिछले कुछ सालों में कोहली कप्तानी के मामले में बैकफुट पर हैं और उनका बैटिंग ग्राफ भी नीचे आया है। ऐसे में रोहित को उनका विकल्प माना जा रहा है, जो दोनों ही पहलुओं से फिलहाल मजबूत नजर आ रहे हैं। जानिए, लिमिटेड ओवर्स में रोहित कोहली से बेस्ट क्यों...

रोहित को तरजीह की 2 मजबूत वजहें

पहली: पिछले दो सालों से क्रिकेट की दुनिया के कई जानकार ये बात कह चुके हैं कि लिमिटेड ओवर न सही, लेकिन कम से कम टी-20 फॉर्मेट की कमान हिटमैन के हाथों में सौंप देनी चाहिए। ।

दूसरी: 2013 में मुंबई इंडियंस ने टूर्नामेंट के बीच में रिकी पोंटिंग से कप्तानी लेकर रोहित शर्मा को कमान सौंप एक बड़ा दांव खेला था। मुंबई का यह दांव टीम के काम आया और फ्रेंचाइजी पहली बार ट्रॉफी जीतने में सफल रही। इसके बाद रोहित ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। रोहित 5 आईपीएल ट्रॉफी जीत चुके हैं। रोहित ने मुंबई को 2013, 2015, 2017, 2019 और 2020 के IPL खिताब जिताए।

विराट कोहली को 2017 में भारतीय टीम के सभी फॉर्मेट का कप्तान बनाया गया था।
विराट कोहली को 2017 में भारतीय टीम के सभी फॉर्मेट का कप्तान बनाया गया था।

रोहित ने श्रीलंका सीरीज, निदहास ट्रॉफी और एशिया कप जिताया

  • 2017 में रोहित शर्मा को पहली बार भारतीय टीम की कप्तानी करने का मौका मिला था। उस समय श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में विराट कोहली को रेस्ट दिया गया था और रोहित को टीम की कमान मिली थी। इंडिया ने ये वनडे सीरीज 2-1 से जीती थी। 2018 में रोहित ने अपनी कप्तानी में भारत को पहले निदहास ट्रॉफी जिताई और उसके बाद उसी साल एशिया कप जीताने में सफल रहे।
  • अभी तक 19 इंटरनेशनल टी-20 में भारतीय ओपनर ने कप्तानी करते हुए 15 में जीत दर्ज की, जबकि सिर्फ 4 में टीम को हार का सामना करना पड़ा। वनडे फॉर्मेट में भी रोहित में 10 मैचों में कप्तानी करते हुए 8 में सफलता हासिल की और मात्र 2 मैच हारे।

कोहली रहे लगातार फ्लॉप

  • 2012 में विराट को RCB का कप्तान बनाया गया था, लेकिन 9 सालों में वह एक बार भी टीम को ट्रॉफी नहीं जीता सके। 2016 एकमात्र ऐसा मौका रहा था, जब कोहली की टीम फाइनल में पहुंची थी। मगर तब भी टीम के खिताब जीतने का सपना साकार नहीं हो सका और सनराइजर्स हैदराबाद बाजी मारने में सफल रही।
  • विराट कोहली को भी 2017 में ही टीम के लिमिटेड ओवर का कप्तान बनाया गया था। अभी तक 45 टी-20 आई मैचों में उन्होंने 27 में जीत दर्ज की, जबकि 14 में टीम को हार का मुंह देखना पड़ा। 2 का परिणाम नहीं आ सका और दो मुकाबले टाई रहे।
  • एकदिवसीय में कोहली ने 95 मैचों में टीम की कमान संभाली और 65 मुकाबले जीतने में सफल रहे। 27 में टीम का हार मिली और एक टाई और 2 का नतीजा नहीं आया।
  • कोहली की कप्तानी में भारत को 2017 की ICC चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल, 2019 के वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल और वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021 के फाइनल में हार मिली।

शतकों में भी कोहली से आगे हैं रोहित
पिछले 5 सालों की बात करें तो टी-20 आई और वनडे क्रिकेट में विराट कोहली ने 17 शतक लगाए हैं, जबकि रोहित शर्मा के बल्ले से दोनों फॉर्मेट में कुल 22 शतक देखने को मिले हैं। 2020 की शुरूआत से तो विराट के बल्ले से एक भी शतकीय पारी देखने को नहीं मिली है।

खबरें और भी हैं...