हितों के टकराव का मामला / सचिन का बीसीसीआई लोकपाल को जवाब, कहा- मौजूदा हालात के लिए बोर्ड ही जिम्मेदार

X

  • सचिन बीसीसीआई की सीएसी के सदस्य और मुंबई इंडियंस के ‘आइकन’
  • पूर्व क्रिकेटर ने डीके जैन से कहा- विनोद राय और राहुल जौहरी से उनकी भूमिका के बारे में पूछें

May 05, 2019, 06:30 PM IST

नई दिल्ली. सचिन तेंदुलकर ने बीसीसीआई के उस बयान को खारिज कर दिया है, जिसमें उनके हित ‘समाधान योग्य श्रेणी’ में आते हैं। सचिन ने कहा कि मौजूदा हालात के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ही जिम्मेदार है। सचिन बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहाकर समिति (सीएसी) में सदस्य के तौर पर शामिल हैं, जबकि आईपीएल की फ्रेंचाइजी टीम मुंबई इंडियंस के ‘आइकन’ हैं।

सचिन ने डीके जैन को 13 पॉइंट में अपना जवाब भेजा

सचिन ने बीसीसीआई के एथिक्स (नैतिक) अधिकारी और लोकपाल डीके जैन को दिए 13 पॉइंट के अपने जवाब में कहा है कि वे प्रशासकों की समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय और सीईओ राहुल जौहरी से पूछें कि सीएसी में उनकी भूमिका क्या है?

डीके जैन ने सचिन के साथ-साथ वीवीएस लक्ष्मण को भी आईपीएल फ्रेंचाइजी के मेंटॉर के साथ सीएसी के सदस्य होने के कारण हितों के टकराव के लिए नोटिस जारी किया था। लक्ष्मण सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटॉर हैं।

हितों के टकराव के आरोप का यह तीसरा मामला है। इससे पहले सौरव गांगुली के खिलाफ भी यह बात सामने आई थी। गांगुली और लक्ष्मण भी लोकपाल के आरोपों को खारिज कर चुके हैं।

बीसीसीआई के संविधान के अनुच्छेद 38 (3) (ए) के मुताबिक, ऐसे विवाद जिन्हें हितों का खुलासा करने पर सुलझाया जा सके वे ‘ट्रैक्टबल कन्फ्लिक्ट’ की श्रेणी में आते हैं। लक्ष्मण और गांगुली की तरह सचिन का भी कहना है कि सीईओ और सीओए ने अबतक उनकी भूमिका स्पष्ट ही नहीं की है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना