टी-20 में सूर्या के दम पर चल रही टीम इंडिया:पिछले 5 महीने में सबसे ज्यादा रन, स्ट्राइक रेट और चौके-छक्के

स्पोर्ट्स डेस्क19 दिन पहले

देश बदला, विरोधी टीम बदली, टूर्नामेंट बदला...बस एक बात नहीं बदली। वह है सूर्यकुमार यादव की बल्लेबाजी। माउंट मॉन्गनुई के बे ओवल मैदान पर न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी-20 इंटरनेशनल में सूर्या ने सिर्फ 51 गेंद पर 111 रन बना दिए। स्ट्राइक रेट रहा 217.64, इस पारी में 11 चौके और 7 छक्के लगाए।

सूर्या इस पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज रहे। दूसरे टॉप स्कोरर ईशान किशन रहे। उन्होंने 36 रन बनाए। सबसे बेहतरीन स्ट्राइक रेट भी सूर्या का रहा। 9 बॉल पर 13 रन बनाने वाले श्रेयस अय्यर दूसरे नंबर पर रहे। उनका स्ट्राइक रेट 144 का था। चौके और छक्के में भी कोई सूर्या के आस-पास नहीं था।

टी-20 इंटरनेशनल में भारत के लिए अब तक 11 शतक लगे हैं। 4 शतक इसी साल आए। इनमें से 2 तो अकेले सूर्यकुमार यादव ने ही बनाए हैं।

सूर्या और देश के बाकी बल्लेबाजों के बीच यह फर्क सिर्फ इस मैच में देखने को नहीं मिला। यह पांच महीने की कहानी है। मैच चाहे इंग्लैंड में हो, UAE में हो, भारत में हो, ऑस्ट्रेलिया में हो या न्यूजीलैंड में हो...सूर्या हर जगह चमकते रहे।

मूलतः उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के रहने वाले इस मुंबईकर ने इसी साल भारत के इंग्लैंड दौरे से ऐसी बल्लेबाजी की है मानो भारतीय टी-20 क्रिकेट के आकाश में वे इकलौते सूरज हों। उनके सौरमंडल में दूसरे बल्लेबाजों की हैसियत क्षुद्र ग्रहों से ज्यादा नहीं रही।

हर पैमाने और ज्यादातर आंकड़ों में वो सब पर हावी साबित हुए। चलिए देखते हैं कि इस साल जुलाई से अब तक कैसे सूर्या ने खुद को टी-20 क्रिकेट का किंग साबित किया।

25 मैच में 1029 रन, 51 का औसत और 187 स्ट्राइक रेट
सूर्या को हमेशा से टी-20 क्रिकेट का अच्छा बल्लेबाज माना जाता था, लेकिन उनका महामानव वाला रूप इस साल भारत के इंग्लैंड दौरे से दिखना शुरू हुआ। 3 मैच की सीरीज में उन्होंने 57 के औसत और 201.17 के स्ट्राइक रेट से 171 रन बना दिए।

इस सीरीज की शुरुआत से अब तक सूर्या ने 5 महीने में 25 मैचों में 51.45 की औसत और 187.09 के स्ट्राइक रेट से 1029 रन बनाए हैं। दूसरे नंबर पर मौजूद विराट कोहली ने 18 मैचों में 59 की औसत से 712 रन बनाए। लेकिन, विराट का स्ट्राइक रेट (139) सूर्या के आसपास भी नहीं रहा।

चौके-छक्के जमाने में भी सबको पीछे छोड़ा
सूर्या ने इस साल जुलाई से अब तक 25 मैच में 96 चौके और 58 छक्के जमाए हैं। कोई भी दूसरा भारतीय बल्लेबाज उनके आस-पास नहीं फटक पाया है। इस टाइम पीरियड में चौके के मामले में विराट (18 मैचों में 58 चौके) दूसरे और रोहित शर्मा (23 मैचों में 55 चौके) तीसरे नंबर पर हैं। कोई भी अन्य भारतीय बल्लेबाज इस दौरान 30 छक्के भी नहीं जमा पाया है। 27 छक्कों के साथ रोहित दूसरे और 26 छक्कों के साथ केएल राहुल तीसरे नंबर पर हैं।

टी-20 रैंकिंग में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज बने
लगातार अच्छी बल्लेबाजी की बदौलत सूर्या टी-20 क्रिकेट में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज भी बन गए। उन्होंने रैंकिंग में पाकिस्तान के मोहम्मद रिजवान और बाबर आजम की बादशाहत खत्म कर दी। वो इस समय टॉप-10 में इकलौते भारतीय बल्लेबाज हैं।

क्या है सूर्या की कामयाबी का राज
सूर्या ग्राउंड के चारों ओर शॉट खेल सकते हैं। इसलिए उनको मिस्टर 360 भी कहा जाता है। भारत के ज्यादातर बल्लेबाज स्पिनर्स के खिलाफ स्वीप और रिवर्स स्वीप नहीं खेलते। लेकिन, सूर्या ऐसे शॉट खेलने से हिचकते नहीं हैं। ऐसा नहीं है कि वे पावर हिटिंग करते हैं। वे फील्ड प्लेसमेंट के साथ खेलते हैं। जहां गैप होता है, वहां श़ॉट खेलते हैं।

उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि हर गेंद के लिए उनके पास दो से तीन शॉट होते हैं। इस काबिलियत के दम पर पर वो सामने वाली टीम के हर प्लान को फेल कर देते हैं।