पाकिस्तान / सेना के प्रवक्ता से गले मिले अफरीदी, यूजर्स ने पूछा- अगर वो देश के अगले पीएम बन गए तो?



शाहिद अफरीदी हाल ही में पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर (दाएं)। शाहिद अफरीदी हाल ही में पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर (दाएं)।
गले लगते हुए शाहिद अफरीदी और पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर। गले लगते हुए शाहिद अफरीदी और पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर।
X
शाहिद अफरीदी हाल ही में पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर (दाएं)।शाहिद अफरीदी हाल ही में पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर (दाएं)।
गले लगते हुए शाहिद अफरीदी और पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर।गले लगते हुए शाहिद अफरीदी और पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर।

  • कश्मीर को लेकर अक्सर बयानबाजी करते हैं अफरीदी
  • सेना के प्रवक्ता से गले मिलते देख लोगों ने लगाई अटकलें
     

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 12:58 PM IST

खेल डेस्क. पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी हाल ही में पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर से मिले थे। मुलाकात के दौरान दोनों ने गले मिलते हुए एक-दूसरे का अभिवादन किया था। जिसकी तस्वीर इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस तस्वीर को देखने के बाद पाकिस्तान में यूजर्स एक-दूसरे से अफरीदी के देश का नया प्रधानमंत्री बनने को लेकर सवाल पूछ रहे हैं। इस महिला यूजर ने इस फोटो को ट्वीट करते हुए लिखा, 'नेक्स्ट पीएम इन द मेकिंग?' (अगले प्रधानमंत्री की तैयारी है)।

 

इस फोटो को निदा खान नाम की यूजर ने शेयर किया था और इसके बाद अन्य यूजर्स उस पर प्रतिक्रिया देते हुए मजे लेने लगे। एक ने लिखा, अगर अफरीदी देश के प्रधानमंत्री बन गए, तो वे पीओके (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) को भी भारत को सौंप देंगे। वहीं एक यूजर ने लिखा, 'बहुत याराना है #शोले'। वहीं एक अन्य ने लिखा, 'अफरीदी का बस नहीं चल रहा कि जिस्म के आरपार हो जाए।'

 

 

बयानबाजी करते रहते हैं अफरीदी

 

कश्मीर के मुद्दे को लेकर शाहिद अफरीदी अक्सर राजनीतिक बयानबाजी करते रहे हैं। भारत सरकार ने जब वहां से अनुच्छेद 370 हटाया था, तो उन्होंने इस मसले पर संयुक्त राष्ट्र से हस्तक्षेप करने की मांग की थी। वहीं जब पाक पीएम इमरान खान ने कश्मीर के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए लोगों से सड़क पर उतरने के लिए कहा था तब भी अफरीदी ने उनका समर्थन किया था। इसके बाद हाल ही में जब इमरान ने पीओके की राजधानी मुजफ्फराबाद में जलसा किया तो इसके समर्थन में भी अफरीदी वहां पहुंचे थे और मुसलमानों से कौम के नाम पर एक होने के लिए कहा था। 'एक यूजर ने लिखा, 'प्रधानमंत्री के रूप में उनका होना बेहद डरावना होगा।'

 

'हो सकता है 22 साल बाद जब पूरी तरह नई पीढ़ी आ जाएगी तो उन्हें एक मसीहा या रक्षक के तौर पर बताया जाएगा।'

'उनका गले मिलना थोड़ा अजीब है, थोड़ा रामांटिक है।'

एक यूजर ने उनके 5 बार क्रिकेट से संन्यास लेने की बात याद दिलाते हुए उनके पीएम बनने का मजाक उड़ाया।

एक ने लिखा, 'हॉकी या अन्य खेल के खिलाड़ियों ने क्या बिगाड़ा है, मौका सिर्फ क्रिकेट खेलने वालों को ही क्यों दिया जाता है। ये नाइंसाफी है।'

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना