पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Shoaib Akhtar Criticised Hassan Ali And Sarfaraz After India Outclass Pakistan In World Cup 2019.

हसन अली वाघा बॉर्डर पर नहीं- मैदान में जोर दिखाएं, बाबर कोहली की नकल न करें: शोएब अख्तर

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को मैच के पहले मीटिंग करती पाकिस्तान टीम।
  • शोएब अख्तर ने पाकिस्तान की हार पर कहा- हसन अली वाघा बॉर्डर पर छलांगे मारते अच्छे नहीं लगते
  • रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब ने कहा- बाबर आजम कोहली नहीं बन सकते

खेल डेस्क. वर्ल्ड कप में भारत के हाथों पाकिस्तान की करारी शिकस्त न वहां के लोगों को हजम हो रही है और न पूर्व क्रिकेटरों को। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हर कोई सरफराज अहमद की कप्तानी वाली टीम को तोहमत भेज रहा है। रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर शोएब अख्तर ने तो कुछ खिलाड़ियों के नाम लेकर भड़ास निकाली। शोएब ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, “हसन अली कैसे तेज गेंदबाज हैं, उनके पास न रफ्तार है और न स्विंग। वो वाघा बॉर्डर पर छलांगे मारते नजर आते हैं। जरा मैदान में भी तो जोर दिखाएं।” शोएब ने बाबर आजम को सलाह दी कि वो विराट कोहली की नकल न करें बल्कि उनसे सीखें कि वो इनिंग को कैसे आकार देते हैं। 

 

सरफराज तो मैनेजमेंट का मामू बन गया
शोएब ने कहा, “सरफराज तो दिमाग से पैदल या बिना दिमाग वाला कप्तान है। उसे ये ही नहीं पता था कि पाकिस्तान की ताकत बॉलिंग है न कि बैटिंग। उसने फिर भी टॉस जीतकर पहले बॉलिंग की। जब इसी मैदान पर हम इंजमाम और सईद अनवर के होते हुए 227 रन का पीछा नहीं कर सके तो ये 337 कैसे बना लेते? सरफराज को तो मैनेजमेंट ने मामू बना दिया है। अगर हम पहले बैटिंग करके 260 रन भी बना लेते तो भारत को टक्कर दे सकते थे।”

 

‘हसन के  पास न तो रफ्तार है और न स्विंग’
अख्तर का गुस्सा हसन अली पर भी दिखा। उन्होंने कहा, “हसन वाघा बॉर्डर पर छलांगे न मारे। वो वहां अच्छा नहीं लगता। अगर जोर दिखाना ही है तो मैदान पर दिखाए। ऐसी चीजें तब अच्छी लगती हैं जब वो हर मैच में 6 या 7 विकेट ले रहा हो। उसके पास न तो रफ्तार है और न स्विंग। वो चाहता है कि उसे सिर्फ पीएसएल के कॉन्ट्रेक्ट मिलते रहें। टी 20 ही उसे अच्छा लगता है। पाकिस्तान के लिए वो कुछ नहीं कर पा रहा है। 300 रन बनने के बाद अगर आपने 3 विकेट ले भी लिए तो उससे क्या फायदा? ये तो कोई भी कर सकता है।” शोएब ने वाघा बॉर्डर का जिक्र इसलिए किया क्योंकि पिछले साल 22 अप्रैल को हसन अली यहां पहुंचे थे और भारत की तरफ मुंह करके पाकिस्तानी सेना के साथ परेड में उछलकूद की थी। इसकी काफी आलोचना भी हुई थी। 

 

बाबर और इमाम किस काम के?
शोएब ने विराट कोहली को आदर्श मानने वाले बाबर आजम की भी खिंचाई की। कहा, “बाबर कोहली की नकल करने के बजाए उनसे सीखें। कोहली 25 रन बनाते हैं तो सिर्फ दो चौके होते हैं। बाकी वो सिंगल्स से खेलते हैं। उनकी बैटिंग का पैटर्न सीखें बाबर, नकल से कुछ नहीं होने वाला। वो अपने दम पर एक भी मैच नहीं जिता सका अपने देश को।”

 

इमाम कैसा ओपनर, समझ ही नहीं आता
पाकिस्तान के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, “इमाम उल हक कैसा ओपनर है? उसके पास तकनीक ही नहीं है। उसे आपने कभी कवर ड्राइव लगाते देखा है? इमाम को तो सिर्फ ग्लांस खेलना आता है, इसके अलावा कुछ नहीं। ऐसा ओपनर किसको चाहिए? मुझे लगता है कि गलती तो हमारी यानी अवाम की है। हम औसत खिलाड़ियों से मैच जीतने की उम्मीद करते हैं और अपना ही खून जलाते हैं।” 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए उपलब्धियां ला रहा है। उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। आज कुछ समय स्वयं के लिए भी व्यतीत करें। आत्म अवलोकन करने से आपको बहुत अधिक...

और पढ़ें