• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Simon Doull Says Lack Of Swing Bowlers Resulted In India’s Poor Show On 3rd Day Of WTC Final | India Vs New Zealand | Jasprit Bumrah, Mohammad Shami

भारतीय तेज गेंदबाजों की आलोचना:न्यूजीलैंड के साइमन डूल ने कहा- स्विंग बॉलर की कमी के कारण मैच में पिछड़ी टीम इंडिया, बुमराह और शमी कंसिस्टेंट नहीं थे

साउथैम्पटन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुमराह, शमी और ईशांत ने WTC में भारत के फाइनल तक के सफर में अहम किरदार निभाया है। - Dainik Bhaskar
बुमराह, शमी और ईशांत ने WTC में भारत के फाइनल तक के सफर में अहम किरदार निभाया है।

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जा रहे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के तीसरे दिन कीवी टीम को सधी शुरुआत मिली। टीम ने 2 विकेट पर 101 रन बना लिए हैं। न्यूजीलैंड के ओपनर्स टॉम लाथम और डेवोन कॉनवे ने 70 रन की पार्टनरशिप की। वहीं, केन विलियम्सन और रॉस टेलर मैदान पर मौजूद हैं।

न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर साइमन डूल ने भारतीय गेंदबाजों की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि तीसरे दिन इंडियन पेसर्स में जान नहीं दिखी। डूल ने कहा कि टीम में स्विंग बॉलर्स की कमी है, इस वजह से न्यूजीलैंड का पलड़ा भारी दिख रहा है। उन्होंने कहा कि जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी मैच के दौरान कंसिस्टेंट नहीं रहे।

साइमन डूल ने न्यूजीलैंड के लिए 32 टेस्ट खेले। इसमें उन्होंने 98 विकेट लिए थे। इसके अलावा 42 वनडे में उन्होंने 36 विकेट लिए। 2000 में उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच खेला था।
साइमन डूल ने न्यूजीलैंड के लिए 32 टेस्ट खेले। इसमें उन्होंने 98 विकेट लिए थे। इसके अलावा 42 वनडे में उन्होंने 36 विकेट लिए। 2000 में उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच खेला था।

''जेमिसन ने स्विंग कराया, भारतीय गेंदबाजों ने नहीं''
मैच के तीसरे दिन काइल जेमिसन ने अपनी स्विंग से विराट कोहली, ऋषभ पंत जैसे बल्लेबाजों को परेशान किया था। तीसरे दिन भारतीय टीम ने 143 रन पर 3 विकेट से आगे खेलना शुरू किया और 217 रन पर ऑलआउट हो गई। डूल ने इसका उदाहरण देते हुए कहा कि जेमिसन के स्विंग के आगे इंडियन पेसर्स कुछ नहीं थे। उन्हें सिर्फ 2 विकेट मिला। डूल ने कहा कि भारत के तीनों तेज गेंदबाज जेन्विन स्विंग बॉलर्स नहीं हैं।

''मोहम्मद शमी स्विंग बॉलर नहीं, बल्कि सीम बॉलर हैं''
डूल ने कहा- जसप्रीत बुमराह थोड़ी बहुत स्विंग कर सकते हैं। ईशांत आजकल बॉल स्विंग करने लगे हैं। वे राउंड द विकेट आते हैं और रिस्ट एंगल की वजह से बाएं हाथ के बल्लेबाजों से बॉल दूर ले जाते हैं। यही दाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए इन स्विंग होता है। शमी स्विंग बॉलर नहीं हैं, बल्कि एक सीम बॉलर हैं। इसलिए उनकी बॉल स्विंग नहीं होती। मैच में आगे भी वे सीम ही करते दिखेंगे।

ईशांत ने डेवोन कॉनवे को आउट किया। वहीं, अश्विन ने टॉम लाथम का विकेट लिया।
ईशांत ने डेवोन कॉनवे को आउट किया। वहीं, अश्विन ने टॉम लाथम का विकेट लिया।

''मैच प्रैक्टिस बॉलर्स के खराब प्रदर्शन की वजह नहीं''
डूल ने कहा कि शमी और बुमराह न्यूजीलैंड के गेंदबाजों की तरह अब तक बॉलिंग नहीं कर सके हैं। अगर टीम इंडिया को मैच में वापसी करनी है, तो इन दोनों को अच्छी बॉलिंग करनी होगी। डूल ने हालांकि, मैच प्रैक्टिस में कमी को वजह नहीं माना। उन्होंने कहा कि भारत ने इंट्रा-स्क्वॉड मैच प्रैक्टिस की है। उनकी तैयारी कीवी खिलाड़ियों जितनी ही है। न्यूजीलैंड के खिलाड़ी जब इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में पहला टेस्ट खेला तब उन्हें भी मैच प्रैक्टिस नहीं थी।

''कॉनवे ने भी नेट सेशन के बाद ही शतक जड़ा था''
डूल ने कहा, इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज से पहले डेवोन कॉनवे ने 10 दिन के नेट सेशन में हिस्सा लिया था। मैच में जाते ही उन्होंने शतक लगाया। साउदी ने अच्छी गेंदबाजी की। भारत भी उसी परिस्थिति में है, पर किसी को अच्छा खेलना होगा। 10-12 दिन में भारतीय गेंदबाजों ने इतनी बॉलिंग प्रैक्टिस तो की होगी, कि वे मैच के लिए तैयार हों।

खबरें और भी हैं...