विमेंस टीम पर गांगुली के बयान से फैंस में गुस्सा:कॉमनवेल्थ सिल्वर जीतने पर जताई थी निराशा; फैंस ने पूछा, खुद कितने फाइनल जीते?

स्पोर्ट्स डेस्क2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में इंडियन विमेंस क्रिकेट टीम ने शानदार प्रदर्शन किया। उसने सिल्वर मेडल जीता। गेम्स में पहली बार महिला क्रिकेट को जगह मिली थी। ऐसे में ऐतिहासिक मेडल के बाद जश्न में डूबे देश को BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के एक बयान ने नाराज कर दिया है। इसे लेकर सोशल मीडिया पर लगातार गांगुली की आलोचना हो रही है।

अब इस पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दीजिए...

फैंस को पसंद नहीं आ रहा गांगुली का बधाई का तरीका
दरअसल, फाइनल मैच में भारतीय महिला टीम को ऑस्ट्रेलिया से नजदीकी मुकाबले में 9 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले 1998 में पुरुष क्रिकेट को भी गेम्स में शामिल किया गया था, तब भारतीय टीम कोई पदक नहीं जीत सकी थी। इस कारण महिला टीम के प्रदर्शन की सभी सराहना कर रहे हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने 61 मेडल जीते और वह ओवर ऑल चौथे नंबर पर रहा।

इस बीच BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली टीम को बधाई देने के तरीके को लेकर फैंस के निशाने पर आ गए हैं। कई फैंस कह रहे हैं कि सुविधा की कमी के बावजूद देश को मेडल दिलाने वाली खिलाड़ियों को निराश होने की बजाय अपने मेडल पर गर्व होना चाहिए। कई लोग नाराजगी में भाषाई शालीनता भी लांघ गए।

शक्तिशाली बोर्ड अध्यक्ष के नाते भाषा में नहीं थी शालीनता
गांगुली ने महिला क्रिकेट टीम को बधाई देते हुए लिखा, ‘भारतीय महिला क्रिकेट टीम को सिल्वर मेडल जीतने की ढेर सारी शुभकामनाएं, लेकिन वे निराश होकर घर जाएंगी, आज रात उनका खेल ही ऐसा था।’ इस पर यूजर्स और फैंस भड़क गए और गांगुली को जमकर ट्रोल करने लगे। एक यूजर ने लिखा कि महिला टीम को गर्व महसूस करना चाहिए, उन्हें निराश नहीं होना चहिए।

एक अन्य यूजर ने लिखा कि एक शक्तिशाली बोर्ड का अध्यक्ष होकर ऐसे मैसेज लिखना ठीक नहीं है। जबकि एक-दूसरे फैंस ने गांगुली से पूछा, आपने खुद कितने फाइनल जीते?

हरमनप्रीत कौर की धमाकेदार बल्लेबाजी के बावजूद हार गया भारत
फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 161 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 8 चौकों की मदद से सबसे ज्यादा 65 रन बेथ मूनी ने बनाए। जबकि ऑस्ट्रेलिया की ऑफ स्पिनर एश्ले गार्डनर ने 3 ओवरों में 16 रन देकर 3 विकेट लिए। भारत की तरफ से 7 चौकों और 2 छक्कों की मदद से सबसे ज्यादा 65 रन कप्तान हरमनप्रीत कौर ने बनाए।

वहीं मेघना सिंह और स्नेह राणा ने दो-दो विकेट अपने नाम किए। फाइनल में स्मृति मंधाना और शेफाली वर्मा उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सकीं। इससे पहले ग्रुप राउंड में भारत को ऑस्ट्रेलिया से हार मिली थी। टीम ने पाकिस्तान और बारबडोस को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। टीम ने सेमीफाइनल में मेजबान इंग्लैंड को शिकस्त दी थी।

खबरें और भी हैं...