• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Kuldeep Yadav: Spinner Kuldeep Yadav On T20I Exclusion From Team India's T20I squads against South Africa

क्रिकेट / टी20 सीरीज के लिए टीम में नहीं चुने जाने से निराश नहीं हैं कुलदीप, बोले- इसे मौके के रूप में देख रहा हूं



कुलदीप यादव (फाइल फोटो) कुलदीप यादव (फाइल फोटो)
X
कुलदीप यादव (फाइल फोटो)कुलदीप यादव (फाइल फोटो)

  • पिछली दो टी20 सीरीज से कुलदीप का चयन टीम में नहीं हुआ
  • आईपीएल के बाद से कुलदीप के प्रदर्शन में आई गिरावट
  • दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ कुलदीप ने लिए 4/121 विकेट
     

Dainik Bhaskar

Sep 21, 2019, 07:01 PM IST

खेल डेस्क. भारतीय लेग स्पिनर कुलदीप यादव ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हो रही टी20 सीरीज के लिए टीम का हिस्सा नहीं बन पाने का उन्हें बिल्कुल भी दुख नहीं है। उनका कहना है कि वे इसे एक मौके के रूप में देखते हुए इसका इस्तेमाल आने वाली टेस्ट सीरीज के लिए अपनी तैयारी करने में कर रहे हैं। कुलदीप हाल ही में मैसूर में थे, जहां उन्होंने इंडिया-ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ हुए दूसरे टेस्ट (अनऑफिशियल) को खेला। ये लगातार दूसरी टी20 सीरीज रही, जिसके लिए कुलदीप को नहीं चुना गया। इससे पहले वेस्ट इंडीज के खिलाफ हुई सीरीज में भी वे टीम से बाहर थे।

 

पिछली दो सीरीज के लिए चयन नहीं होने के बारे में कुलदीप ने कहा, 'अबतक मैंने सीमित ओवरों वाले फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन किया है। मैं सफेद गेंद के साथ बहुत ज्यादा सहज महसूस करता हूं।' आगे उन्होंने कहा, 'पिछली दो टी20 सीरीज में चयन नहीं होने की वजह से मैं बिल्कुल भी चिंता नहीं कर रहा हूं। हो सकता है चयनकर्ताओं को लगा होगा कि मुझे एक ब्रेक की जरूरत है। हो सकता है टीम को कुछ बदलाव आवश्यक लगे हों। मैं इसका सम्मान करता हूं और मुझे कोई शिकायत नहीं है। मैं इसे टेस्ट मैचों में अच्छा करने के लिए मिले एक अवसर के रूप में देखता हूं।'

 

मैसूर में भारत-ए के साथ खेला मैच

 

कुलदीप फिलहाल मैसूर में थे, जहां उन्होंने 17 से 21 सितंबर के बीच भारत-ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ हुआ टेस्ट (अनऑफिशियल) मैच खेला। इस मैच में भारत-ए को सिर्फ एक ही इनिंग में गेंदबाजी का मौका मिला, जिसमें कुलदीप ने 121 रन देकर 4 विकेट झटके। इस मैच को लेकर यादव ने कहा, 'अगर आप लगातार रेड बॉल क्रिकेट नहीं खेल रहे हैं तो ऐसे में आपका चयन होना मुश्किल हो जाता है।'

 

टेस्ट के लिए तैयारी को बताया जरूरी

 

कुलदीप ने कहा, 'टेस्ट फॉर्मेट में अगर आप नियमित नहीं हैं तो आपको लय में आने में वक्त लगता है। जब आप लगातार सीमित ओवर क्रिकेट खेल रहे होते हैं और तभी अचानक पूरी तैयारी के बिना टेस्ट क्रिकेट खेलने लगें तो फिर काफी मुश्किल हो जाती है। इसके लिए आपको काफी देर तक गेंदबाजी करना होगी, फील्ड पोजिशन समझने और विकेट कैसे लें, इस बात को समझने के लिए लगातार अभ्यास मैच खेलने होंगे। मेरे लिए ये बेहद जरूरी था कि मैं यहां (मैसूर) आऊं और ज्यादा से ज्यादा देर तक गेंदबाजी करूं। अब भी काफी कुछ काम करना बाकी है।' आगे उन्होंने कहा, 'जब अश्विन, जडेजा और मेरे जैसे तीन स्पिनर टीम में होते हैं, तो सही कॉम्बिनेशन बनाना बेहद चुनौतीपूर्ण हो जाता है। आपको अपना मौका हथियाने के लिए हमेशा तैयार रहना होगा। बेशक वहां काफी दबाव रहता है, क्योंकि आपको सिर्फ कुछ ही मौके मिलते हैं और उन्हीं का पूरा उपयोग करते हुए आपको खुद को साबित करना होता है।'

 

आईपीएल के बाद प्रदर्शन में गिरावट

 

आईपीएल 2019 के बाद से ही कुलदीप यादव के प्रदर्शन में लगातार गिरावट देखी जा रही है। टूर्नामेंट के नौ मैचों में वे सिर्फ 4 विकेट ले सके थे, यहां उनकी इकोनॉमी 8.66 रन प्रति ओवर थी। इसके बाद हुए आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में भी उनका प्रदर्शन बेहद साधारण रहा था और सात मैचों में उन्हें सिर्फ 6 विकेट ही मिले थे। इस दौरान उनका औसत 56.16 था साथ ही इकोनॉमी 5.02 रन प्रति ओवर थी। भले ही पिछली दो टी20 सीरीज (विंडीज और द. अफ्रीका) से कुलदीप भारतीय टीम से बाहर हों, लेकिन इसके बाद भी वे इस फॉर्मेट के टॉप टेन गेंदबाजों की लिस्ट में बने हुए हैं। 

 

कुलदीप का करियर

 

कुलदीप ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में अबतक 6 टेस्ट, 53 वनडे और 18 टी20 मैच खेले हैं। जिसमें उन्होंने टेस्ट में 24, वनडे में 96 और टी20 में 35 विकेट लिए हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना