पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धोनी नहीं खेलेंगे IPL 2022:मौजूदा सीजन में CSK हारी तो माही ले सकते हैं रिटायरमेंट; रैना ने कहा- जीते तो उन्हें एक साल और खेलने के लिए मनाऊंगा

मुंबई2 महीने पहले

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के मौजूदा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी IPL का अगला सीजन नहीं खेल सकते हैं। टीम के मिडिल ऑर्डर के बैट्समैन सुरेश रैना ने उन्हें लेकर बड़ा बयान दिया है। रैना ने कहा है कि अगर CSK IPL 2021 जीतती है, तो वे धोनी को अगला सीजन खेलने के लिए भी मनाएंगे। इससे साफ है कि टीम के हारने पर धोनी लीग से भी रिटायरमेंट ले सकते हैं। इंटरनेशनल क्रिकेट से धोनी ने 2020 में ही संन्यास ले लिया था।

''धोनी नहीं खेले, तो मैं भी अगला सीजन नहीं खेलूंगा''
रैना ने न्यूज 24 से कहा कि अगर धोनी भाई अगला सीजन नहीं खेलते हैं, तो मैं भी नहीं खेलूंगा। मैं 2008 से उनके साथ ही खेलता आ रहा हूं और साथी ही लीग को छोड़ूंगा। अगर CSK मौजूदा सीजन जीत जाती है, तो मैं उनसे टीम के साथ बने रहने को कहूंगा। इससे पहले दोनों ने इंटरनेशनल क्रिकेट से भी साथ-साथ ही संन्यास लिया था।

''मेरे पास अब भी 4-5 साल का क्रिकेट बचा है''
रैना ने कहा कि मेरे पास अभी 4-5 साल का क्रिकेट बचा है। हमें इस साल IPL खेलना है। इसके बाद अगले सीजन से 2 नई टीमें आ जाएंगी। मुझे लगता है कि मैं जब तक IPL खेलूंगा, इसी टीम के लिए खेलूंगा। मुझे उम्मीद है कि हम इस सीजन अच्छा प्रदर्शन करेंगे। IPL 2021 को कोरोना की वजह से मई में 29 मैचों के बाद सस्पेंड कर दिया गया था। अब भी लीग में 31 मैच बचे हैं। CSK फिलहाल दिल्ली कैपिटल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बाद पॉइंट्स टेबल में तीसरे नंबर पर है।

2008 से साथ-साथ खेलते आ रहे हैं धोनी और रैना
40 साल के धोनी और 34 साल के रैना टूर्नामेंट की शुरुआत से ही चेन्नई फ्रेंचाइजी से जुड़े रहे हैं। 2016 में CSK पर 2 साल का बैन लगा था। तब धोनी और रैना 2 अलग-अलग टीम से खेले थे। धोनी राइजिंग पुणे सुपरजाएंट्स और रैना गुजरात लायंस से खेले थे। 2018 में CSK की वापसी के बाद दोनों एक बार फिर इस फ्रेंचाइजी से जुड़ गए थे। CSK ने 2018 IPL जीता भी था। टीम अब तक कुल 4 IPL ट्रॉफी जीत चुकी है।

रैना ने 2020 सीजन निजी कारणों से मिस किया था
वहीं, रैना ने 2020 सीजन निजी कारणों की वजह से मिस किया था। इस वजह से चेन्नई IPL इतिहास में पहली बार प्लेऑफ में नहीं पहुंच सकी थी। ऐसे में कयास लगाए जा रहे थे कि इस साल ऑक्शन में उन्हें टीम से निकाल दिया जाएगा, पर टीम ने उन्हें रिटेन किया। इस साल रैना ने निराश नहीं किया और टीम के शानदार परफॉर्मेंस में योगदान दिया। वे इस सीजन में अब तक 7 मैचों में 123 रन बना चुके हैं। टीम भी 7 में से 5 मैच जीत चुकी है।

धोनी-रैना ने 2020 में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया
धोनी-रैना ने 15 अगस्त, 2020 को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। धोनी ने अपने 15 साल के इंटरनेशनल करियर में कई उपलब्धियां हासिल कीं। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने ICC चैंपियंस ट्रॉफी, ICC वनडे वर्ल्ड कप 2011 और ICC टी-20 वर्ल्ड कप 2007 पर कब्जा किया। यही नहीं उनके नेतृत्व में CSK टीम 4 बार IPL चैंपियन भी बन चुकी है।

धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ किया था डेब्यू
धोनी ने साल 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी-20 मुकाबलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया। टेस्ट में उन्होंने 4876 रन, वनडे में 10,773 रन और टी-20 में 1617 रन बनाए। इसके अलावा उन्होंने 211 IPL मैच भी खेले हैं। इसमें 40.25 की औसत से 4669 रन बनाए।

टेस्ट मैचों में धोनी ने 6 शतक लगाए। वहीं वनडे में धोनी के नाम 10 शतक दर्ज हैं। वे भारतीय क्रिकेट इतिहास के सबसे सफल विकेटकीपर भी हैं। उन्होंने टेस्ट में 294, वनडे में 444 और टी-20 में 91 शिकार अपने नाम किए हैं।

रैना ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में सेंचुरी लगाई
रैना ने टीम इंडिया के लिए 18 टेस्ट, 226 वनडे और 78 टी-20 खेले थे। टेस्ट में उन्होंने 768 रन, वनडे में 5615 रन और टी-20 इंटरनेशनल में 1604 रन बनाए। वे तीनों फॉर्मेट में शतक लगाने वाले बल्लेबाज भी हैं। इसके अलावा IPL में वे 200 मैच में 33 की औसत से 5491 रन बना चुके हैं। इसमें 1 शतक और 39 फिफ्टी शामिल है। इसके अलावा लीग में उन्होंने 25 विकेट भी लिए हैं।

खबरें और भी हैं...