• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • T20 World Cup Harshal Patel Selection; Haryana Ranji Team Coach Ashwani Kumar On BCCI Selectors

हर्षल पटेल के कोच का इंटरव्यू:इस IPL में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं हर्षल, कोच बोले- स्लो बाउंसर उसका सबसे खतरनाक हथियार

8 दिन पहले

हर्षल पटेल के IPLमें शानदार प्रदर्शन के बावजूद टी20 वर्ल्ड कप में जगह नहीं मिल पाने से हरियाणा रणजी टीम के कोच अश्विनी कुमार हैरान हैं। उन्होंने कहा कि मैं चयनकर्ताओं को नहीं घेर रहा, पर पटेल को मौका नहीं दिए जाने से हैरान हूं। पटेल लिमिटेड ओवर के काफी शानदार खिलाड़ी हैं। घरेलू सीजन में शानदार प्रदर्शन के बाद IPL में भी शानदार प्रदर्शन कर उन्होंने खुद को साबित किया है।

कोच अश्विनी ने दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए कहा, 'श्रीलंका दौरे पर ही उन्हें टीम इंडिया से मौका मिल जाना चाहिए था। भरोसा था कि टी20 वर्ल्ड कप में उन्हें जगह दी जाएगी, पर ऐसा नहीं हुआ। घरेलू टूर्नामेंट में उनका प्रदर्शन लगातार शानदार रहा है। हरियाणा के वह कैप्टन हैं। IPLमें भी शानदार प्रदर्शन कर पटेल ने अपने को साबित किया है। मैं हैरान हूं कि आखिर पटेल को अब तक क्यों नहीं मौका मिल पा रहा है। हालांकि, पटेल के पास अभी काफी मौके हैं। मुझे उम्मीद है कि उन्हें टीम इंडिया में जगह दी जाएगी। 2022 में और 2023 में भी वर्ल्ड कप है। पटेल के पास अभी मौके हैं।'

पटेल ने ड्वेन ब्रावो के रिकॉर्ड की बराबरी की
पटेल ने IPL-14वें सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू की ओर से खेलते हुए 32 विकेट लिए हैं। उन्होंने IPLमें एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने के गेंदबाज ड्वेन ब्रावो के रिकॉर्ड की बराबरी की है। ब्रावो ने 2013 में 32 विकेट लिए थे। पटेल ने इस सीजन में 32 विकेट लेने के साथ ही वह IPLमें भारत की ओर से भी सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज भी बन गए हैं।

2009-2010 से हरियाणा से खेल रहे हैं पटेल
अश्निनी कुमार ने बताया कि हर्षल पटेल मूल रूप से गुजरात के अहमदाबाद के रहने वाले हैं। वह 2009-10 से घरेलू टूर्नामेंट में हरियाणा से खेल रहे हैं। उनके माता-पिता विदेश में रहते हैं। पटेल को हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन के उस समय प्रेसिडेट रहे अनिरुद्ध चौधरी उन्हें हरियाणा में लेकर आए थे। उन्होंने अंडर-19 में हर्षल को बॉलिंग करते हुए देखा था। हमें मीडियम पेसर की तलाश थी, तब पटेल को ट्रायल के लिए बुलाया गया। सभी कोच इससे प्रभावित थे। तब से वह हरियाणा से खेलते हैं और हरियाणा में ही रह कर अभ्यास करते हैं।

स्लो बाउंसर है खासियत
अश्विनी कुमार ने बताया कि स्लो बाउंसर पटेल की खासियत है। ऐसे में बल्लेबाज उनकी गेंद को समझ नहीं पाते हैं। जब वह हरियाणा आए थे, तो बॉलिंग के साथ बैटिंग भी करते थे। उन्होंने धीरे-धीरे बैटिंग पर भी काफी फोकस किया। जरूरत पड़ने पर टीम के लिए रन भी बनाते हैं।

मम्मी और पापा USAमें रहते हैं
उन्होंने बताया कि हर्षल दो-भाई बहन हैं। उनके माता-पिता US में रहते हैं। उनके पिता US में प्राइवेट जॉब करते हैं। बीच- बीच में हर्षल उनसे मिलने US जाता है।